बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

छात्रों के लिए कब खुलेंगे  मॉडल स्कूलों के दरवाजे 

बरेली।   Updated Sun, 21 May 2017 01:47 AM IST
विज्ञापन
model school
model school - फोटो : model school

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें
माध्यमिक शिक्षा अभियान के तहत जिले में 2010-11 में सात मॉडल स्कूल बनने थे। यह स्कूल कचनेरा दमखोदा, चौबारी क्यारा, अलहइय्या भदपुरा, देवलपुर भुता, हरदासपुर रामनगर, अतरछेड़ी मझगवां और त्यारजागीर नवाबगंज में बनने थे। तीन साल तक विभाग इनके लिए जमीन नहीं खोज सका। जैसे तैसे जमीन मिली तो निर्माण एजेंसी ने 3.2 करोड़ की लागत से बनने वाले इन स्कूलों में 34 की जगह 32 कमरे ही बनाए। आंवला का मॉडल स्कूल हैंडओवर हो चुका है। इसको अभिनव स्कूल में बदलकर अब क्लासेज भी शुरू कर दी गईं। 241 बच्चे पंजीकृत हैं। बाकी स्कूल हैंडओवर नहीं हो सके हैं। इसकी जांच चल रही है। अब शासन ने यह भी कह दिया कि जिस हाल में स्कूल हैं उनका हैंडओवर ले लिया जाए। इसके अलावा जिले में 37 विद्यालयों को उच्चीकृत करते हुए राजकीय कॉलेज बनाया गया। पर 37 में से 15 ही हैंडओवर हो सके, शेष 22 का काम चल रहा है। 
विज्ञापन

एमएसडीपी के तहत बन रहे स्कूलों का कार्य भी अभी अधूरा है। राजकीय डिग्री कॉलेजों की बात करें तो सहसवान (बदायूं), ठाकुरद्वारा (मुरादाबाद), हसनपुर (अमरोहा), टांडा (रामपुर), बरेली में नवाबगंज व बहेड़ी में राजकीय कॉलेज बन रहे हैं। निर्माण की स्थिति इतनी सुस्त है कि दो साल से इनका निर्माण पूरा नहीं हो सका। 


छात्र बढ़ रहे हैं, पर घट रही शिक्षकों की संख्या
उच्च शिक्षा की स्थिति काफी बदतर है। बरेली कॉलेज में तीस हजार छात्र पढ़ाई करते हैं और स्थायी शिक्षकों की संख्या डेढ़ सौ के करीब है। 80 शिक्षकों के पद रिक्त हैं। यही हाल रुहेलखंड विश्वविद्यालय का है, यहां 90 शिक्षकों के पद रिक्त हैं। राजकीय और अनुदानित कॉलेजों में भी स्थिति ऐसी ही है। जब योग्य शिक्षक ही नहीं होंगे तो क्वालिटी एजूकेशन की बात करनी ही बेईमानी है। अधिकतर जगह अस्थायी शिक्षकों के सहारे क्लास चल रही हैं।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us