पीलीभीत से कासगंज  तक चलेगी सीधी ट्रेन

बरेली।   Updated Fri, 17 Feb 2017 01:23 AM IST
Pilibhit Kasganj Direct trains run to
demo pic - फोटो : अमर उजाला
बरेली सिटी और रामगंगा के बीच 8.9 किलोमीटर ब्राडगेज ट्रैक पर सवारी गाड़ी चलाने की सीआरएस से अनुमति मिल जाने के बाद पूर्वोत्तर रेलवे ने अब इस ट्रैक पर गाड़ियां चलाने की तैयारी शुरू कर दी है। पीलीभीत-बरेली के बीच चलने वाली पांच जोड़ी ट्रेनों में से ट्रेन कासगंज तक चलाने का प्रस्ताव रेलवे मुख्यालय को भेजा गया है, अनुमति आने के बाद ट्रेन चला दी जाएगी। 
पूर्वोत्तर रेलवे के बरेली सिटी-कासगंज ट्रैक के बाद भोजीपुरा-पीलीभीत मीटरगेज को भी ब्राडगेज में तब्दील कर दिया गया। भोजीपुरा-पीलीभीत ब्राडगेज ट्रैक पर पांच जोड़ी ट्रेन चल रही हैं, जो इज्जतनगर तक आती हैं। अब इन ट्रेनों को बरेली सिटी से होते हुए कासगंज तक चलाने की तैयारी की जा रही है। क्योंकि पूर्वोत्तर रेलवे का बरेली सिटी-रामगंगा के बीच 8.9 किलोमीटर का बचा हुआ ब्राडगेज लाइन का हिस्सा भी पूरी तरह से ओके हो गया है और सीआरएस ने भी इस पर ट्रेन चलाने की अनुमति दे दी है। 

बदायूं-कासगंज के बीच की ट्रेनें होंगी मथुरा से लिंक
बदायूं-कासगंज के बीच चल रही तीन जोड़ी ट्रेनें अब सीधे बरेली सिटी स्टेशन तक आएंगी। यह ट्रेनें बरेली सिटी से ऐसे टाइम से चलाई जाएंगी, जिनका टाइम कासगंज से मथुरा जाने वाली ट्रेनों से लिंक होगा। इसका प्रस्ताव भी रेलवे मुख्यालय को भेजा गया है। 

इस बार भी पूर्णागिरि की यात्रा बस के सहारे होगी
भोजीपुरा-पीलीभीत मीटरगेज ट्रैक तो ब्राडगेज में तब्दील हो गया है, लेकिन अभी पीलीभीत-टनकपुर के बीच काम चल रहा है। जिसमें करीब चार महीने और लग सकते हैं। ऐसे में होली के बाद मार्च में शुरू होने वाले टनकपुर स्थित पूर्णागिरि मेले में जाने वालों को इस बार भी ट्रेन की सुविधा नहीं मिल पाएगी। वह बस के सहारे ही टनकपुर तक जाएंगे। 

Spotlight

Most Read

Nainital

बाइक सवारों को लूटने वालों का सुराग नहीं

बाइक सवारों को लूटने वालों का सुराग नहीं

26 फरवरी 2018

Related Videos

अमर उजाला फाउंडेशन की ओर से लगाया गया स्वास्थ्य शिवर, लोगों ने की सराहना

पीलीभीत में बुधवार को अमर उजाला फाउंडेशन ने नि:शुल्क स्वास्थ्य शिविर लगवाया। यहां जांच करने पहुंची डॉक्टर्स की टीम ने पाया कि खराब पानी पीने के कारण लोगों में गठिया रोग बढ़ रहा है। 

22 फरवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen