बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

जिले की 741 इंडिका कार पुलिस की रडार पर

बरेली।  Updated Tue, 06 Jun 2017 01:22 AM IST
विज्ञापन
741 Indica car of the district on the radar of police
741 Indica car of the district on the radar of police - फोटो : 741 Indica car of the district on the radar of police

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें
एनएच 24 पर डेढ़ करोड़ के सोने की लूट करने वाले पांच बदमाशों मेें से दो के स्केच पुलिस ने जारी किए। एसएसपी जोगेंद्र कुमार ने स्केच जारी करने के साथ ही तीन मोबाइल नंबर भी जारी किए है। यह अपील की गई है कि संदिग्ध लगने वाले युवकों के नजर आने पर पुलिस को जानकारी दे। जानकारी देने वाले लोगों के नाम गोपनीय रखे जाएंगे। एसएसपी की स्पेशल टीम छापामारी करेगी। 741 इंडिका कार पुलिस के रडार पर 
विज्ञापन

 पुलिस ने लूट के खुलासे के लिए आरटीओ की मदद से इंडिका कारों का ब्यौरा मंगवाया था। आरटीओ से करीब 741 इंडिका कारों की सूची पुलिस को मिली है। अब पुलिस की एक खास टीम इन कारों को ट्रेस कर रही है, एक-एक कार को ट्रेस करके उसकी वर्तमान लोकेशन तलाशी जा रही है। पुलिस की इस कवायद के पीछे कारण है कि बदमाशों ने वारदात में सफेद रंग की इंडिका कार का इस्तेमाल किया था। 

पुलिस की जांच वारदात के चौथे दिन भी घर और व्यवसाय से जुड़े नौकरों के इर्द गिर्द घूमती रही। करीब 35 लोगों से पूछताछ की जा चुकी है। एसपी देहात ख्याती गर्ग ने बताया कि सराफ से जुड़े सभी लोगों को फोन करके बुलाया जा रहा है, जो लोग सामने नहीं आ रहे हैं। उनके घरों पर दबिश दी जा रही है। अगर कोई भागा हुआ है तो उसके संदिग्ध मानते हुए जांच में शामिल किया जा रहा है। पुलिस के मुताबिक मुनीम रामचंद्र और चालक इमरान से सोमवार को भी सघन पूछताछ की गई। 
इमरान का मोबाइल नहीं मिला 
कार का चालक इमरान का मोबाइल पुलिस बरामद नहीं कर सकी है। पुलिस के अधिकारियों की माने तो बदमाशों ने लूट के बाद इमरान का मोबाइल हाईवे की किसी झाड़ी में फेंका होगा। ऐसा इसलिए माना जा रहा है क्योंकि शुरुआती समय में मोबाइल पर रिंग जाती रही, लेकिन बाद में वह बंद बताने लगा। 
मनोज का नहीं चला पता 
प्रदीप अग्रवाल के नौकर मनोज का अभी भी पता नहीं चल सका है। बारादरी थाने की पुलिस ने संजय नगर में मनोज के घर पर दबिश दी, लेकिन कुछ पता नहीं चल सका। उसके दो भाईयों को पुलिस ने बारादरी थाने में बैठा लिया है। वहीं प्रमोद से दोबारा पूछताछ की गई, लेकिन वह अपने बयानों पर कायम है। 
गजेंद्र त्यागी को खुलासे के लिए लगाया 
बड़ी लूट के खुलासे के लिए एसएसपी ने एसओ गजेंद्र त्यागी को लगाया है। सुरेश शर्मा नगर में लूट और हत्या की दो बड़ी वारदातों का खुलासा करने का श्रेय इंस्पेक्टर के खाते में है। गजेंद्र त्यागी ने बारादरी, कोतवाली और फतेहगंज पूर्वी थानों में पहुंचकर पकड़े गए बदमाशों से पूछताछ की है।
यह है लूट का पूरा मामला 
फहेतगंज थाना क्षेत्र में टिसुआ के पास आलमगीरी गंज के सोने के थोक कारोबारी प्रदीप अग्रवाल की कार सवार उनके ससुर अभिलाष अग्रवाल, मुनीम रामचंद्र और चालक इमरान को बंधक बनाकर आठ किलो सोना लूटा था। यह वारदात पांच बदमाशों ने अंजाम दी है। इन बदमाशों ने सफेद इंडिका कार के जरिये रेकी और वारदात की थी। पुलिस ने पूछताछ के लिए वारदात के बाद से रामचंद्र और इमरान को थाने में बैठाया है। 

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us