'My Result Plus

14 बाइक समेत पांच चोर गिरफ्तार

Bareilly Updated Fri, 28 Dec 2012 05:30 AM IST
ख़बर सुनें
बरेली। पुलिस ने बृहस्पतिवार को बाइक चोरों के अंतर जनपदीय गैंग का खुलासा कर गैंग लीडर सहित पांच चोरों को नकटिया के पास गिरफ्तार किया। उनकी निशानदेेही पर चोरी की 14 बाइक बरामद की र्गइं।
बाइक चोरी की बढ़ती घटनाओं को देखते हुए एसएसपी सत्येंद्र वीर सिंह ने एसपी सिटी शिव सागर सिंह और सीओ थर्ड ओम प्रकाश यादव के नेतृत्व में टीओजी (टेक्नीकल ऑपरेशन ग्रुप) टीम को खुलासे के लिए लगाया था। पुलिस कार्यालय में पत्रकारों से बात करते हुए एसएसपी ने बताया कि टीओजी प्रभारी मनोज कुमार सिंह और कैंट थाने के प्रभारी कमरुल हसन की संयुक्त टीम ने मुखबिर की सूचना पर नकटिया के पास सरगना गुड्डू कश्यप निवासी फतेहगंज पूर्वी, उसके पड़ोसी रवि कश्यप, गौतम मिश्रा, शरीफ खान निवासी मेवा सत्तारपुर फरीदपुर और रामपुर के मोपतपुर मिलक के लाल सिंह को गिरफ्तार किया। मौके से पांच बाइक ही लग सकी, लेकिन पूछताछ के बाद उनकी निशानदेही पर नौ और बाइक भी बरामद कर ली गई। डीआईजी एलवी एंटनी देवकुमार ने पुलिस टीम को 10 हजार रुपये इनाम देने की घोषणा की है।
सरगना गुड्डू कश्यप गुरू मानता है अजय को
गैंग का सरगना गुड्डू कश्यप शातिर है। मीडिया के सामने उसने अपने गांव के ही अजय मिश्रा को अपना गुरू बताया। कहा, अजय के साथ ही बाइक चोरी करने जाता था। सारा काम गुड्डू ने उसी से सीखा है। पुलिस अजय की तलाश कर रही है।
घिसे लॉक वाली बाइक रहती है निशाने पर
गैंग के निशाने पर घिसे लॉक वाली बाइकें रहती थी। ऐसे लॉक में मास्टर ‘की’ आसानी से काम कर जाती है। कहीं भी बाइक के बारे में पहले पता लगाकर उस पर निगाह रखी जाती थी। बाजार में निकली बाइक किसी भी स्टैंड पर खड़ी होते ही पांच मिनट के अंदर चोरी करने में इस गैंग को महारत हासिल है।
पहले सौदा, फिर चोरी
पुलिस से बचने के लिए गैंग का सरगना पहले बाइक का सौदा तय कर लेता था, ताकि बाइक चुराने के बाद उसे अपने पास रखने की झंझट न हो। पांच से दस हजार रुपये बाइक का सौदा होने पर बिना कागज बनवाए ही बेच दिया जाता था। ऐसे में खरीददार को भी जानकारी होती थी बिकने वाली बाइक चोरी की है। ये बाइक सबसे ज्यादा ग्रामीण इलाकों में बेची जाती थी।
अमीर बनने के सपने ने उतारा जरायम की दुनिया में
पकड़े गए बदमाशों ने जल्द रुपये कमाने के चक्कर में यह काम शुरू किया था। सभी को उम्मीद थी कि कम समय में ज्यादा रुपये कमा लेंगे। सरगना पहले शहर में टेंपो चलाता था। उसके पिता मजदूरी करके तीन बच्चों का पेट पाल रहे थे। परिवार में सबसे बड़े गुड्डू ने बताया कि वह कोई नशा नहीं करता है, लेकिन रुपये कमाने के लालच ने ऐसा करने को मजबूर कर दिया।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

Kanpur

अगर अाप भी आईटीआई पास हैं ताे जल्द ही बड़ी कंपनियां देंगी नौकरी का मौका

उच्च प्रशिक्षण संस्थान (एटीआई) गोविंदनगर के मॉडल कॅरियर सेंटर (एमसीसी) में 25 अप्रैल को विशाल रोजगार मेला लगेगा। इसमें देश की तीन बड़ी कंपनियां आईटीआई पास छात्रों को अच्छे पैकेज पर नौकरी देंगी।

22 अप्रैल 2018

Related Videos

पत्नी को बेरहमी से पीटकर लटकाया और फिर बना डाला ऐसा वीडियो

यूपी के शाहजहांपुर में एक हैवान पति का अमानवीय चेहरा सामने आया है। उसने अपनी पत्नी को पहले बेरहमी से पीटा और जब वो बेहोश हो गई तो उसके हाथ बांधकर उसे लटका दिया।

16 अप्रैल 2018

आज का मुद्दा
View more polls

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen