एडवोकेट ग्रेवाल और दोनों बेटों पर गैंगेस्टर

Bareilly Updated Wed, 26 Dec 2012 05:30 AM IST
बरेली। प्रापर्टी विवाद में जानलेवा हमला करने के आरोपी क्राइम के सीनियर एडवोकेट निर्मल सिंह ग्रेवाल और उनके दो बेटों पर पुलिस ने गैंगेस्टर एक्ट लगाया है। ग्रेवाल और उनके दोनों बेटे पहले से जेल में बंद हैं।
सिविल लाइंस इलाके में 31 अक्टूबर को एक मकान पर कब्जे को लेकर दो पक्षों में जमकर मारपीट और गोलियां चलने के बाद निर्मल सिंह ग्रेवाल और उनके बेटे तरनप्रीत उर्फ डिंपल और जसप्रीत उर्फ छोटू के खिलाफ कोतवाली में हत्या की कोशिश के आरोप में मुकदमा दर्ज किया गया था। ग्रेवाल और उनके दोनों बेटों को इसके बाद जेल भेज दिया गया था।
इसके अलावा 25 जुलाई 2008 को सिविल लाइंस में ही रहने वाले एसके चड्ढा की तहरीर पर भी ग्रेवाल और उनके बेटों के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया गया था। यह मामला भी प्रापर्टी बेचने और रकम हड़पने से संबंधित था। उत्तराखंड के रुद्रपुर में किच्छा इलाके में दस जून 1997 को एक फैक्ट्री में कुछ कर्मचारियों को बंधक बनाकर पीटा गया था। इस मामले में किच्छा के संजीव गुप्ता की तहरीर पर भी निर्मल सिंह ग्रेवाल और दोनों बेटों पर रिपोर्ट दर्ज की गई थी।

वकील कर चुके है हंगामा
निर्मल सिंह ग्रेवाल के मामले में नवंबर के महीने में वकीलों ने काफी हंगामा किया था। वकीलों के प्रदर्शन के कारण कचहरी में कई दिनाें तक सारा कामकाज ठप रहा था। मंगलवार को ग्रेवाल पर गैंगस्टर की कार्रवाई के बाद निवर्तमान बार अध्यक्ष राधाकमल सारस्वत ने कहा कि ग्रेवाल वरिष्ठ अधिवक्ता हैं और उन पर की जा रही कार्रवाई गलत है। इस मामले में क्या करना है, यह फैसला बार एसोसिएशन की नई टीम करेगी। नवनिर्वाचित बार अध्यक्ष अनिल द्विवेदी ने कहा कि वरिष्ठ अधिवक्ता के साथ किया जा रहा सलूक सरासर गलत है। उनके साथ अपराधी जैसी कार्रवाई नहीं होना चाहिए।

यह था मामला
अधिवक्ता निर्मल सिंह ग्रेवाल ने अपने 603 गज के मकान का तीन हिस्सों में बैनामा 87 लाख में बीसलपुर नगर पालिका के चेयरमैन छेदालाल जायसवाल के बेटे नितिन जायसवाल के नाम किया था। इसमें शर्त थी कि भुगतान में मिला कोई भी चेक बाउंस हुआ तो रजिस्ट्री शून्य मानी जाएगी। 7.97 लाख का एक चेक बाउंस हुआ तो उनके बीच विवाद हो गया। 31 अक्टूबर को मकान पर कब्जे को लेकर दोनों पक्षों के बीच गोली चली थी। इसमें नितिन के भाई सचिन, दोस्त गौरव और दो नौकर घायल हुए थे।

Spotlight

Most Read

Lucknow

अखिलेश यादव का तंज, ...ताकि पकौड़ा तलने को नौकरी के बराबर मानें लोग

यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने केंद्रीय मंत्री सत्यपाल सिंह पर निशाना साधा और कहा कि भाजपा देश की सोच को अवैज्ञानिक बताना चाहती है।

22 जनवरी 2018

Related Videos

शाहजहांपुर के अटसलिया गांव में नहीं हो रही लड़कों की शादी, ये है वजह

केंद्र सरकार खुले में शौच से मुक्ति दिलाने के लिए स्वच्छ भारत मिशन के तहत करोड़ों रुपये खर्च कर रही है, लेकिन यूपी के शाहजहांपुर जिले में एक गांव ऐसा है जहां महिलाओं को आज भी खुले में शौच जाना पड़ता है।

20 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper