तीन दिन बाद टूर्नामेंट, मैदान का अता-पता नहीं

Bareilly Updated Tue, 18 Dec 2012 05:31 AM IST
बरेली। रूहेलखंड विश्वविद्यालय की मेजबानी में 20 दिसंबर से शुरू होने जा रहा नॉर्थ जोन इंटर यूनिवर्सिटी हॉकी गर्ल्स टूर्नामेंट जिस मैदान पर होगा, उसका अभी तक कोई अता-पता नहीं है। रूहेलखंड यूनिवर्सिटी की उम्मीदें साई सेंटर के एस्ट्रो टर्फ पर टिकी थीं, लेकिन विश्वविद्यालय ने यह जानने की कोशिश ही नहीं कि इसे बनाने वाली एजेंसी सीपीडब्लूडी ने इसे अभी साई सेंटर को हैंडओवर भी किया है या नहीं। सोमवार को साई सेंटर के मैदान से उम्मीदें टूटने के बाद विकल्प के तौर पर यूनिवर्सिटी के स्पोर्ट्स स्टेडियम और डोरीलाल अग्रवाल स्टेडियम में टूर्नामेंट कराने का फैसला किया गया। हालांकि यूनिवर्सिटी स्टेडियम का ग्राउंड मानकों के अनुरूप नहीं है।
मानकों के अनुसार इंटर यूनिवर्सिटी हॉकी मैच एस्ट्रो टर्फ पर ही खेले जाने चाहिए। अगर टर्फ उपलब्ध न हो तो घसियाला मैदान होना चाहिए, जो मानकों के अनुरूप हो। मगर यहां स्थितियां बिलकुल विपरीत हैं। अभी तक केवल स्पोर्ट्स स्टेडियम के हॉकी ग्राउंड स्तरीय है, लेकिन विश्वविद्यालय के ग्राउंड में कई कमियां हैं। अब जबकि टूर्नामेंट शुरू होने में सिर्फ तीन दिन बचे हैं, रूहेलखंड विश्वविद्यालय के आगे इसी मैदान को इस्तेमाल करने के अलावा कोई रास्ता नहीं बचा है। बता दें कि इस टूर्नामेंट में भाग लेने के लिए अब तक 20 टीमों ने स्वीकृति दे दी है। इसके अलावा कम से कम 10 और टीमों के आने की संभावना जताई जा रही है। टूर्नामेंट के फिक्चर में मैचों के लिए रूहेलखंड यूनिवर्सिटी, बरेली कॉलेज ग्राउंड और एस्ट्रो टर्फ का जिक्र किया गया था। अब इस राष्ट्रीय स्तर के टूर्नामेंट के आयोजन पर संकट के बादल मंडरा रहे हैं।

एस्ट्रो टर्फ तैयार, मगर हैंडओवर नहीं हुआ
साई सेंटर में एस्ट्रो टर्फ बनकर तैयार हो चुका है, मगर अब तक इसे साई सेंटर के सुपुर्द नहीं किया गया है। तय हुआ था कि इस मैदान पर लीग मैचों का आयोजन कराया जाएगा, मगर अंतिम समय में साई सेंटर ने हाथ खड़े कर दिए। मैदान में न तो गोल पोस्ट लगाए गए हैं और न ही अन्य कोई तैयारी हुई है। साई सेंटर के प्रभारी और हॉकी कोच आसिफ खान ने बताया कि हम चाहते थे कि इस बड़े टूर्नामेंट से टर्फ का उद्घाटन हो, मगर ऐसा हो नहीं पाएगा। मगर यूनिवर्सिटी का ग्राउंड तैयार हो रहा है और वहां मैच हो जाएंगे।

बरेली कॉलेज ने मांग लिया पैसा
यूनिवर्सिटी ने 12 दिसंबर को बरेली कॉलेज के हॉकी ग्राउंड को तैयार कराने की सूचना प्रिंसिपल को भेजी थी। खेल अधिकारी डॉ. सीरिया एसएम ने ग्राउंड को दुरुस्त कराने के लिए बजट देने की मांग रखी तो यूनिवर्सिटी की तरफ से कोई उन्हें उत्तर नहीं मिला। हालांकि बरेली कॉलेज में हॉकी का शानदार ग्राउंड है, लेकिन वह पूरी तरह तैयार नहीं है। कई सालों से यहां पर हॉकी के मैच नहीं खेले गए।

एथलेटिक्स ग्राउंड पर होंगे मैच
यूनिवर्सिटी स्पोर्ट्स स्टेडियम का जो मुख्य रूप से एथलेटिक्स ग्राउंड है, उस पर हॉकी टूर्नामेंट कराने की तैयारी की जा रही है। हालांकि अभी भी ग्राउंड के चारो ओर सीमेंटेड र्थ्रोइंग स्टेप बने हुए हैं। ऐसे में हॉकी मैच के दौरान खिलाड़ी सुरक्षित रहेंगे या उन्हें चोटिल होना पड़ेगा, अभी कुछ पता नहीं। आयोजकों के लिए एक बड़ा सवाल होगा। अगर एक्सपर्ट की माने तो ऐसे ग्राउंड पर राष्ट्रीय स्तर के टूर्नामेंट कराने से बचना चाहिए।

किसी एक्सपर्ट से नहीं ली गई सलाह
बरेली की एकमात्र इंटरनेशनल हॉकी प्लेयर गीता शर्मा कहती हैं कि राष्ट्रीय स्तर के हॉकी टूर्नामेंट का आयोजन एस्ट्रो टर्फ पर कराया जाना चाहिए। अगर न हो तो राष्ट्रीय स्तर के एक्सपर्ट की सलाह लेकर घसियाला मैदान तैयार करना चाहिए। लेकिन यूनिवर्सिटी ने ऐसी कोई सलाह नहीं ली और न उनकी ऐसी कोई तैयारी है। ऑल इंडिया कोचिंग पैनल की एक्सपर्ट कोच गीता शर्मा ने बताया कि जिस तरह ग्राउंड तैयार किए गए हैं, उनमें हर मैच के बाद रोलर चलाना पड़ेगा। तभी अगला मैच खेला जा सकेगा। उन्होंने यूनिवर्सिटी टीम की तैयारियों पर भी उंगली उठाई। बोलीं, ऐसे ही टीम चुनी गई है जो कोई मैच जीत जाए तो चमत्कार ही होगा।

‘एस्ट्रो टर्फ में खिलाने की अनुमति मिल जाएगी तो वहां पर लीग मैच कराएंगे, बरेली कॉलेज ग्राउंड भी तैयार है और यूनिवर्सिटी में भी लाइनिंग होनी हैं। पूरे शहर में हॉकी कराएंगे, तैयारियों में कोई कसर नहीं है।’ - प्रो. एके जेटली, आयोजन सचिव, रूहेलखंड यूनिवर्सिटी

Spotlight

Most Read

Jharkhand

चारा घोटाला: चाईबासा कोषागार मामले में कोर्ट ने सुनाया फैसला, तीसरे केस में लालू दोषी करार

रांची स्थित विशेष सीबीआई अदालत ने चारा घोटाले के तीसरे मामले में बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और आरजेडी के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव को दोषी करार दिया है। साथ ही पूर्व सीएम जगन्नाथ मिश्रा को भी दोषी ठहराया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

प्रेम में बदनामी के डर से नाबालिग ने खुद को फूंका

शाहजहांपुर में एक नाबालिग लड़की ने बदनामी के डर से आग लगाकर जान दे दी। लड़की के प्रेमी ने लड़की के घर फोन करके दोनों के प्रेम प्रसंग की बात कही। जिसके बाद लड़की ने बदनामी से बचने के लिए ये कदम उठाया।

22 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper