बुलंद होने लगीं या हुसैन की सदाएं

Bareilly Updated Sat, 17 Nov 2012 12:00 PM IST
बरेली। मोहर्रम का महीना शुरू होते ही शिया समुदाय के लोगों के घरों से अजादारी का सिलसिला शुरू हो गया। इमामबाड़ों और घरों से देर रात तक या हुसैन की सदाएं बुलंद होती रहीं। सुन्नी मसलक के लोगों ने ताजियादारी की तैयारी शुरू कर दी। खानकाह नियाजिया में लंगर शुरू हो गया। शाम को सबील बांटा गया और इमामबाड़े की सफाई शुरू हो गई।
मोहल्ला गढ़ैया के शिया चौक स्थित इमामबाड़ा मोहम्मद शाह में हुई पहली मजलिस को मौलाना समर हैदर आबदी ने खिताब किया। उन्होंने कर्बला की जंग को जुल्म पर सब्र की जीत बताया। कहा कि जिस तरह मैदान-ए- कर्बला में हजरत इमाम हुसैन और उनके कुनबे ने सब्र की मिसाल पेश की, ऐसी तारीखें इस्लाम में कहीं नहीं मिलती। मुतवल्ली नासिर नकवी ने तबर्रुक तकसीम किया। इमामबाड़ा वसी हैदर, इमामबाड़ा हकीम आगा साहब आदि में भी मजलिसों का सिलसिला शुरू हो गया। शनिवार को इमामबाड़ा नवाब तहव्वुर हुसैन किला सब्जी मंडी से दोपहर दो बजे जरीह मुबारक का जुलूस बरामद होगा। उधर सुन्नी मसलक में खानकाह नियाजिया में फातिहा के बाद सज्जादानशीन हजरत शाह मोहम्मद हसनैन की हवेली में शाम को सबील बांटा गया। खानकाह में सैकड़ों की तादाद में लोगों ने पहुंचकर लंगर चखा। खानकाह के मैनेजर शब्बू मियां ने बताया कि नया साल की एक दूसरे को मुबारकबाद देना अच्छी बात नहीं है। नबी को जिस वक्त हिजरत करनी पड़ी, उसी दिन से नया साल शुरू होता है।


जन्नत के नौजवानोें के सरदार हैं हसन और हुसैन
बरेली। हजियापुर में अंजुमन फैजान हसनैन की जानिब से जिक्रे शोहदाए कर्बला मुनअकिद किया गया। मौलाना मोहम्मद हसन रजा ने कहा कि इमाम हुसैन की पैदाइश मुबारक पांच शाबान सन 4 हिजरी को हुई। आपकी शहादत 10 मोहर्रम सन61 हिजरी के मैदान-ए- कर्बला में हुई।
पैगम्बरे इस्लाम हजरत मुहम्मद सल्लल्लाहु तआला अलैहिवसल्लम ने फरमाया कि जिसने हुसैन से मुहब्बत की उसने अल्लाह तआला से मुहब्बत की। उन्होंने फरमाया कि हसन और हुसैन जन्नत के नौजवानों के सरदार हैं। कारी आशिकुर्रहमान ने बताया कि इतिहारकारों का फैसला है कि हजरत इमाम हुसैन रदि अल्लाहु तआला अन्हु इल्म फजल में बड़ा मर्तबा रखते हैं। आप तीन हजार निफ्ल हर दिन रात में अदा फरमाते थे। आप ने बड़े भाई इमाम हुसैन के साथ 25 हज पैदल की फरमाए। उन्होंने इस्लाम को जिंदा दिली बख्शी। इस मौके पर फातिहा के बाद सूफी रिजवान रजा ने मुल्क में कौम और तरक्की के लिए दुआ की। इस मौके पर तबर्रुक भी तकसीम की गई। अंजुमन के सदर डा. इफ्तिखार उल्ला खां ने सभी का आभार जताया। जलसे में रईस मियां अब्बासी, इरफान, इमरान खां, आसिफ फईम फारुक, नदीम, अलीम आदि मौजूद रहे।


मुसलमानों क ो हुसैनी किरदार अपनाने की जरूरत
बरेली। मुहर्रम के उपलक्ष्य में तहसीनी फाउंडेशन के कार्यालय पर शुक्रवार को बैठक हुई। फाउंडेशन के सचिव मौलाना हाफिज तौहीद अहमद खां रजवी ने कहा कि मुहर्रम बड़ी ही फजीलत वाला महीना है। इसी महीने क ी दस तारीख को नवासाए रसूल हजरत इमाम हुसैन की शहादत हुई। उन्होंने कहा कि हक पर चलने का जो पैगाम करबला के मैदान हुसैन ने हमें दिया है, आज हर मुसलमान को उस पर चलने की जरूरत है। मुसलमानों को चाहिए कि वह इमाम हुसैन के किरदार को अपनाएं और बुराईयों से दूर रहें। उन्होंने सभी से इम महीनें में ज्यादा से ज्यादा इसाले सवाब करने और इबादत करने की अपील की है। फाउंडेशन के मीडिया प्रभारी ने मोहम्मद उमर रजा ने कहा कि हम सबको मुहर्रम शरीअत के अहकाम पर चलते हुए मनाना चाहिए। रजा ने कहा कि मोहर्रम की नौ और दस तारीख को रोजा रखें और कोई भी गैर शरई काम जैसे ढोल बाजे, फकीर बनना, घुंघरू बांधकर टहलना आदि न करें। बैठक में मुहम्मद जावेद, मुहम्मद शादाब, मुहम्मद शोएब, मुहम्मद अलीम, मुहम्मद उवैस आदि मौजूद रहे।

Spotlight

Most Read

Kanpur

बाइकवालाें काे भी देना हाेगा टोल टैक्स, सरकार वसूलेगी 285 रुपये

अगर अाप बाइक पर बैठकर आगरा - लखनऊ एक्सप्रेस वे पर फर्राटा भरने की साेच रहे हैं ताे सरकार ने अापकी जेब काे भारी चपत लगाने की तैयारी कर ली है। आगरा - लखनऊ एक्सप्रेस वे पर चलने के लिए सभी वाहनों को टोल टैक्स अदा करना होगा।

17 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: बरेली के अस्पताल के ICU में लगी आग, दो महिला मरीजों की मौत

बरेली के एक प्राइवेट अस्पताल में आग लगने से दो महिला मरीजों की मौत हो गई। जबकि एक मरीज गंभीर रूप से घायल हो गया। आग आईसीयू में लगी थी और बताया जा रहा है मरीजों की मौत दम घुटने से हुई है। हालांकि आग की वजह अभी साफ नहीं हुई है।

16 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper