मरीज की मौत पर अस्पताल में बवाल

Bareilly Updated Thu, 01 Nov 2012 12:00 PM IST
बरेली। इलाज के दौरान मरीज की मौत होने पर गुस्साए परिजनों ने अस्पताल में जमकर बवाल किया। अस्पताल स्टाफ के साथ हाथापाई की गई। परिजनों का आरोप है कि मरीज की मौत इंजेक्शन की ओवरडोज इंजेक्शन देने की वजह से हुई। जबकि डाक्टर हार्ट अटैक होना बता रहे हैं।
बुधवार सुबह सात बजे प्रेमनगर के भूड़ मोहल्ला निवासी अरविंद सक्सेना को पेट और रीड़ की हड्डी में दर्द होने के साथ ही उल्टी हुई थी। परिजन उन्हें सिकलापुर स्थित दिनेश नर्सिंगहोम ले गए। डाक्टर ने दवा लिखने के बाद घर लौटा दिया। पिता सीपी सक्सेना ने बताया कि दोपहर को अरविंद की तबियत दुबारा बिगड़ गई। उन्हें दिनेश नर्सिंगहोम ले जाकर भर्ती करा दिया गया। जहां डाक्टर के जांच कराने पर रिपोर्ट नार्मल आई। शाम करीब पांच बजे अरविंद के सीने में दर्द हुआ। उनके बताने पर अस्पताल के कंपाउंडर ने डाक्टर को फोन किया। आरोप है कि डाक्टर ने मरीज देखने के बजाय इंजेक्शन बता दिया, जिसे कंपाउंडर ने इंजेक्शन लगा दिया। उसके कुछ देर बाद अरविंद के मुंह से झाग निकलने लगे। उनके कहने पर कंपाउंडर ने दुबारा डाक्टर को फोन किया। डाक्टर देखने को नहीं पहुंचे। इससे अरविंद की हालत बिगड़ती गई और आखिर में मौत हो गई। आरोप है कि तभी डाक्टर के कहने पर अस्पताल कर्मियों ने इलाज वाले पर्चे गायब करा दिए।
अरविंद की मौत होने पर परिजन अपना आपा खो बैठे और हंगामा होने लगा। खबर मिलने पर परिवार के बाकी लोग और तमाम रिश्तेदार पहुंच गए। परिजनों ने अरविंद के इलाज वाले पर्चे मांगे, जो अस्पताल वालों ने नहीं दिए। आरोप था कि डाक्टर के बताने पर कंपाउंडर ने इंजेक्शन की ओवरडोज दे दी। बुलाने के काफी देर बाद भी डाक्टर नहीं पहुंचे, जिस पर गुस्साए परिजनों ने एक कंपाउंडर को पीट दिया। इससे घबराए कर्मचारी एक-एक करके खिसक लिए। इस बीच अस्पताल के सामने सैकड़ों की भीड़ जमा हो गई। सूचना मिलने पर कोतवाली और बारादरी पुलिस मौके पर पहुंच गई और लोगों को समझाने का प्रयास किया। शव को पोस्टमार्टम हाउस ले जाने को अस्पताल से बाहर निकल लिया। मगर लोग शांत नहीं हुए और शव को दुबारा अस्पताल में रख दिया। इस बीच भाजपा विधायक डा. अरुण कुमार और मेयर डा. आईएस तोमर पहुंच गए। उन्होंने किसी तरह परिवार वालों को समझाकर शांत किया। इसके बाद पुलिस ने एंबुलेंस में अरविंद के शव को घर भिजवा दिया। इसके बाद धीरे-धीरे लोग अपने घरों को चले गए। आधी रात तक कुछ लोग दोनों पक्षों के बीच समझौता कराने में लगे रहे।
डा. दिनेश अग्रवाल ने बताया कि दोपहर को अरविंद का ईसीजी कराया तो नार्मल आया था। तबियत घबराने की शिकायत पर फोर्टविन व फिनार्गन का आधा इंजेक्शन लगा दिया। मगर शाम सात बजे के करीब अचानक अरविंद को दिल का दौरा पड़ गया, जिससे मौत हो गई।

टूटा दुखों का पहाड़।
सीपी सक्सेना पर दुखों का पहाड़ दुबारा टूटा। उनके दो बेटों में बड़े की पांच साल पहले कैंसर से मौत हो गई थी। अब अरविंद छोड़कर चले गए। घर मेें अरविंद की पत्नी संध्या और सात साल का बेटा प्रियांशु हैं।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

प्रेम में बदनामी के डर से नाबालिग ने खुद को फूंका

शाहजहांपुर में एक नाबालिग लड़की ने बदनामी के डर से आग लगाकर जान दे दी। लड़की के प्रेमी ने लड़की के घर फोन करके दोनों के प्रेम प्रसंग की बात कही। जिसके बाद लड़की ने बदनामी से बचने के लिए ये कदम उठाया।

22 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls