15 उपकेंद्र हुए ठप, बिजली मिली न पानी

Bareilly Updated Wed, 03 Oct 2012 12:00 PM IST

बरेली। बिजली-पानी की आपूर्ति के लिहाज से मंगलवार का दिन आम शहरियों के लिए मुसीबतों से भरा रहा। सीबीगंज के 132 केवी बिजली घर को बदायूं से आने वाली हाईटेंशन लाइन तो पिछले तीन दिन से खराब थी, मंगलवार की सुबह इस बिजलीघर के एक ट्रांसफार्मर का ब्रेकर खराब हो जाने से बैंकठापुर से आने वाली आपूर्ति भी बंद हो गई। नतीजा यह रहा कि शहर में स्थित 16 उपकेंद्रों में से 15 उपकेंद्र ठप हो गए। इससे शहर के ज्यादातर हिस्सों की बिजली गुल हो गई।
132 केवी सीबीगंज बिजलीघर से ही 132 केवी सिविल लाइंस और 132 केवी दोहना बिजलीघर जुड़े हैं। सीबीगंज को 220 केवी मझोला, (मुरादाबाद) बिजलीघर के अलावा बदायूं और पॉवर ग्रिड कार्पोरेशन के 400 केवी बैकुंठापुर बिजलीघर से अलग-अलग तीन लाइनें आती हैं। बदायूं से आने वाली हाईटेंशन लाइन पिछले तीन दिन से तार टूटने की वजह से ठप पड़ी है। सोमवार की रात को ही ओवरलोड हो जाने पर मझोला स्थित बिजलीघर से बरेली को सप्लाई नहीं मिली। बैकुंठापुर बिजलीघर से आने वाली लाइन फॉल्ट होने की वजह से मंगलवार की सुबह 6 बजे ट्रिप हो गई। इससे पूरे शहर की आपूर्ति ठप हो गई। शहर में सिर्फ हरूनगला उपकेंद्र से जुड़े कुछ इलाकों को ही बिजली मिल सकी, क्योंकि यह बालीपुर बिजलीघर से जुड़ा है। शहर के अलग-अलग हिस्सों में स्थित 33 केवी के बाकी पंद्रह उपकेंद्र ठप हो गए। इससे राजेंद्र नगर से लेकर सुभाषनगर तक और सिविल लाइंस व कैंट से लेकर किला तक के सभी इलाके बिजली से महरूम हो गए।
शुरुआत में सीबीगंज बिजलीघर के इंजीनियरों ने अपने यहां किसी फॉल्ट के होने से इनकार कर दिया तो सीबीगंज से बैकंठापुर बिजलीघर के बीच की लाइन को चेक किया गया, लेकिन यहां कोई फॉल्ट नहीं मिला। बाद में सीबीगंज के बिजलीघर को बारीकी से चेक किया गया, तो वहां के ट्रांसफार्मर के ब्रेकर में खराबी पाई गई। ब्रेकर सही होने के बाद सुबह दस बजे जैसे ही आपूर्ति चालू की गई कि पांच मिनट बाद ही कंट्रोल से कटौती हो गई। स्थानीय इंजीनियरों ने अपनी गलती छिपाने के लिए चार घंटे की इस कटौती के बारे में उच्चाधिकारियों को कोई जानकारी नहीं दी, नतीजतन शहर को इस कटौती से मुक्त नहीं रखा जा सका। दोपहर 12 बजे बिजली मिली तो सारा लोड एक साथ आ गया। इससे ज्यादातर इलाकों में लो वोल्टेज की समस्या हो गई। अधिशासी अभियंता (पारेषण) तुलसीराम ने बताया कि सीबीगंज बिजलीघर के ब्रेकर में खराबी आने से बिजली आपूर्ति गड़बड़ा गई थी। फाल्ट सही कराकर आपूर्ति को सुचारू करा दिया गया है। अधीक्षण अभियंता (पारेषण) अली अब्बास ने बताया कि बदायूं से आने वाली हाईटेंशन लाइन का अर्थ वायर टूट गया था, जिसे मंगलवार की शाम को ठीक करा दिया गया। इस मामूली खामी को ठीक करने में तीन दिन का समय क्यों लगा? इसका वे कोई संतोषजनक जवाब नहीं दे सके।

--------
पानी की किल्लत से जूझे
बिजली न मिलने से निगम के नलकूप भी नहीं चल पाए, जिससे ओवरहेड टैंक नहीं भरे जा सके। नतीजतन सभी इलाकों में पानी की जबरदस्त किल्लत रही। कहने को नगर निगम के पास कई जेनरेटर हैं, मगर खराबी या तेल न होने की वजह से ये नहीं चलाए जा सके। निगम के अफसरों को उन्होंने फोन किया तो वहां से एक ही जवाब मिला कि जल्दी ही जेनरेटर चलाकर टैंक भर दिए जाएंगे। दरअसल, ये अफसर बिजली आने का इंतजार करते रहे और लोग भड़ककर सड़कों पर न आ जाएं, इसलिए उन्हें झूठी दिलासा देते रहे।


----------------
सभी के फोटो है
- बिजली न होेने से बहुत परेशानी होती है। सुबह बिजली गई तो घर की साफ-सफाई का सिस्टम ही गड़बड़ा गया। नहाने तक के लिए पानी मिलना मुश्किल हो गया।-सिम्मी रस्तोगी

-शहर की बिजली आपूर्ति आए दिन ठप हो जाती है। लेकिन बिल बराबर आ रहे हैं। मंगलवार को सुबह बिजली गई तो पानी की कमी की वजह से जरूरी काम भी नहीं निपट पाए।-शैलिका

- बिजली में सुधार के लिए जनप्रतिनिधियों को प्रयास करने चाहिए। बिजली आम आदमी के लिए सबसे अहम जरूरत है। मंगलवार को बिजली न मिलने से बहुत परेशानी हुई है।-मीनू अग्रवाल

-बिजली के बिना कुछ भी अच्छा नहीं लगता है। मंगलवार को सुबह छह बजे बिजली गई तो बच्चों को स्कूल भेजने में भी दिक्कत हुई। सही समय पर खाना भी नहीं बन पाया।-मनीषा

- शहर में बिजली का कोई शेड्यूल नहीं रहा है। जब चाहते हैं इमरजेंसी कटौती के नाम पर बिजली गुल कर देते हैं। लोकल फाल्टों ने तो परेशान कर दिया है।-मनोज सिंह

-शहर की बिजली आए दिन गड़बड़ हो रही है। मंगलवार को बिजली गुल होने पर दोपहर बाद आई तो लो वोल्टेज की दिक्कत हो गई। इसका कोई मुकम्मल सॉल्यूशन ढूंढना चाहिए।- तहसीन बेग


----------
-प्रदेश में 12 हजार मेगावाट बिजली की डिमांड है, जबकि उपलब्धता मात्र 7800 मेगावाट की है। सरकार ने बिजली की कमी की वजह से 1200 मेगावाट बिजली खरीदनी शुरू की है। इसमें से अपने जिले के हिस्से में कुछ तो आएगी ही। इसलिए अगले एक-दो दिन में बिजली आपूर्ति में सुधार के आसार हैं। लोकल फॉल्ट की जानकारी मिलते ही इसे ठीक करने के लिए टीम लगा दी गई। -वीके शर्मा, चीफ इंजीनियर, पावर कॉर्पोरेशन
----------
-शहर में रोज ही बिजली की समस्या रहती है। निगम के मोतीपार्क और किशोर पार्क के नलकूपों पर जनरेटर लगे हैं। जनरेटर से इन्हीं दो नलकूपों के मोटरों को थोड़ी-थोड़ी देर के लिए चलाया गया।-आरवी राजपूत, प्रभारी महाप्रबंधक, जल निगम

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

Delhi NCR

निठारी के नरपिशाच पंधेर व काली कमाई के कुबेर यादव सिंह को अब इलाज की जरूरत

डासना जेल में बंद निठारी कांड के अभियुक्त मोनिंदर सिंह पंधेर और नोएडा टेंडर घोटाले के मुख्य आरोपी यादव सिंह को इलाज के लिए दिल्ली और मेरठ भेजा जाएगा।

19 फरवरी 2018

Related Videos

शाहजहांपुर में युवती की रेप के बाद हत्या, खेत में मिली लाश

शाहजहांपुर से एक शर्मनाक खबर सामने आई है। यहां एक दलित युवती की रेप के बाद हत्या कर दी गई। बता दें कि वारदात के पहले से युवती गायब थी। फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है।

19 फरवरी 2018

Switch to Amarujala.com App

Get Lightning Fast Experience

Click On Add to Home Screen