सैप्सिस मरीजों के लिए आई नई दवा

Bareilly Updated Sun, 16 Sep 2012 12:00 PM IST
बरेली। इंडियन सोसायटी आफ क्रिटिकल केयर मेडिसिन बरेली चैप्टर की ओर से शनिवार को आईएमए भवन में सेमिनार हुआ। इसमें बीएचयू के चिकित्सा विज्ञान संस्थान के एनेस्थीसिया एंड क्रिटिकल केयर मेडिसिन के विभागाध्यक्ष प्रो. डीके सिंह बतौर मुख्य अतिथि रहे। उन्होंने बताया कि सैप्सिस से ग्रसित मरीजों के उपचार प्रबंधन में नई दवा यूलिनास्टेटिन लाभकारी है। सही समय पर इसका प्रयोग किया जाए तो मरीजों की मृत्यु दर 15 से 20 फीसदी तक कम की जा सकती है। ग्लाइको प्रोटीन युक्त होने के चलते यह दवा पूरी तरह सुरक्षित है। इससे पहले सेमिनार में पहुंचे प्रतिभागी चिकित्सकों का अभिनंदन सोसायटी के बरेली चैप्टर के महासचिव डॉ. विमल भारद्वाज ने किया। इस दौरान डॉ. सुदीप सरन, डॉ. नवनीत अग्रवाल, डॉ. एमके मेहरोत्रा, डॉ. अनिल शर्मा, डॉ. सोमेश मेहरोत्रा, डॉ. विवेक मिश्रा, डॉ. ललित सिंह, डॉ. विजय गुप्ता आदि मौजूद रहे।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

प्रेम में बदनामी के डर से नाबालिग ने खुद को फूंका

शाहजहांपुर में एक नाबालिग लड़की ने बदनामी के डर से आग लगाकर जान दे दी। लड़की के प्रेमी ने लड़की के घर फोन करके दोनों के प्रेम प्रसंग की बात कही। जिसके बाद लड़की ने बदनामी से बचने के लिए ये कदम उठाया।

22 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls