महिला अस्पताल में सुरक्षा के इंतजाम नाकाफी

Bareilly Updated Thu, 13 Sep 2012 12:00 PM IST
बरेली। जिला महिला अस्पताल में नवजात बच्चों की सुरक्षा के इंतजाम नाकाफी हैं। यहां छह महीने के अंदर तीसरी घटना होना इसी का संकेत है। हालांकि इस बार लोगों की सतर्कता के चलते बच्चा चोरी होने से बच गया। अस्पताल प्रशासन ने सीसीटीवी कैमरे को ही सुरक्षा कवच मान लिया है। मेन गेट पर सुरक्षा के नाम पर चौकीदार रहता है लेकिन बुधवार सुबह वह भी गायब था।

महिला अस्पताल में ओल्ड मैटरनिटी वार्ड का ताला दिन में तीन बार खुलता है। सुबह छह से आठ बजे, 11 से एक बजे और शाम को पांच से सात बजे। बुधवार सुबह छह से आठ बजे दरवाजा खुलते ही चोर अंदर घुस गया था। गेट के सामने ही सीसीटीवी कैमरा लगा हुआ है।

अस्पताल से पहले दो बच्चों के चोरी होने के बाद मेन गेट पर पुलिस बूथ बना दिया गया था। इसमें दो महिला कांस्टेबल की ड्यूटी भी लगाई थी। यह भी नियम बनाया गया कि हर आने-जाने वाले का नाम-पता गेट पर रजिस्टर में दर्ज होगा लेकिन बुधवार की सुबह बूथ पर कोई मौजूद नहीं था। महिला अस्पताल में कोई आए-जाए, सुरक्षा का कोई पुख्ता इंतजाम नहीं है। गेट पर चौकीदार भी गायब था।
कार्यवाहक सीएमएस डॉ. स्नेहलता सिंह ने बताया कि सुरक्षा को पहले से ज्यादा पुख्ता करने की कोशिश की गई है। सीसीटीवी कैमरे लगवा दिए गए हैं। तीमारदारों को समय-समय पर चोरों से बचने की सलाह भी दी जाती है। मेन गेट पर दो होमगार्ड की ड्यूटी है। वह उपस्थित भी रहती हैं।


फोटो-
बच्चा चोर पंकज की आईडी भी फर्जी
बरेली। बच्चा चोरी कर भागते वक्त पकड़े गए युवक की वोटर आईडी भी फर्जी निकली। पुलिस ने सख्ती की तो उसने अपना असली नाम पता बताया। तब कहीं उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया।
पुलिस के मुताबिक अस्पताल में पकड़ा गया युवक पंकज कुमार सक्सेना पुत्र कृष्ण मोहन सक्सेना निवासी बिहारीपुर है। उसके पास से मिली वोटर आईडी में उसका नाम-पता पंकज कुमार शर्मा पुत्र अरुण कुमार शर्मा निवासी कर्मचारी नगर दर्ज है। पंकज ने बताया कि वह बीमार है। दवा के लिए पैसे का इंतजाम न होने पर वह मोबाइल चुराने की नियत से अस्पताल गया था। कोतवाल वीरेंद्र सिंह यादव ने बताया कि पंकज इससे पहले साइकिल और मोबाइल चोरी की घटनाओं में जेल जा चुका है। बच्चा चुरानी की कोशिश के मामले में उसके खिलाफ मलूकपुर निवासी प्रेमशंकर की तहरीर पर मुकदमा दर्ज किया गया है।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

प्रेम में बदनामी के डर से नाबालिग ने खुद को फूंका

शाहजहांपुर में एक नाबालिग लड़की ने बदनामी के डर से आग लगाकर जान दे दी। लड़की के प्रेमी ने लड़की के घर फोन करके दोनों के प्रेम प्रसंग की बात कही। जिसके बाद लड़की ने बदनामी से बचने के लिए ये कदम उठाया।

22 जनवरी 2018