अपहृत युवक का कत्ल रबर फैक्ट्री में मिली लाश

Bareilly Updated Sat, 08 Sep 2012 12:00 PM IST
सिटी रिपोर्टर
बरेली। डेलापीर से अपहृत युवक की लाश शुक्रवार को फतेहगंज पश्चिमी में रबर फैक्ट्री परिसर की झाड़ियों में पड़ी मिली। कातिल दो चचेरे भाई ही निकले जो बहाने से उसे घर से बुलाकर ले गए थे। रबर फैक्ट्री के पास सुनसान जगह उसे ले जाकर दोनों ने पहले तो उसकी आंखों में मिर्च पाउडर झोंक दिया और फिर चाकू से ताबड़तोड़ वार कर हत्या कर दी। पुलिस ने एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।
पीरबहोड़ा में रहने वाले मुन्ने को चचेरे भाई महबूब और गुड्डू चार सितंबर की दोपहर करीब साढ़े बारह बजे ग्रिल विंडो खरीदने के बहाने घर से बुला ले गए थे। तभी से मुन्ने लापता थे। बृहस्पतिवार को उनकी पत्नी आसमीन के थाना इज्जतनगर में गुमशुदगी की रिपोर्ट लिखाने के बाद पुलिस ने छानबीन शुरू की। इसी दौरान महबूब और गुड्डू घर से फरार हो गए तो पुलिस को उन पर संदेह हुआ। मुन्ने के घर वाले पहले ही उन पर शक जता चुके थे। शुक्रवार की दोपहर उन्हें महबूब के छोटी विहार में अपने एक रिश्तेदार के घर होने की खबर मिली तो उन्होंने पुलिस को जानकारी दी। पुलिस ने वहां से महबूब को दबोच लिया। थाने ले जाकर सख्ती से पूछताछ की गई तो महबूब ने मुन्ने का कत्ल करने की बात कबूल कर ली।
महबूब की निशानदेही पर पुलिस ने फतेहगंज पश्चिमी पहुंचकर रबर फैक्ट्री के पूर्वी गेट के पास परिसर के अंदर पड़ी मुन्ने की नग्न पड़ी लाश बरामद कर ली। इसके बाद घरवालों को बुलाकर शिनाख्त कराई गई। मौके पर तेजाब की चार खाली बोतलें और पिसी मिर्च का खाली पैकेट भी पड़ा मिला। महबूब ने बताया कि उन दोनों ने पहले मुन्ने की आंखों में मिर्च झोंक दी थी और फिर चाकू से वार किए। इसके बाद पहचान मिटाने के मकसद से कपड़े उतारकर तेजाब भी डाल दिया। शव पर चाकू के दर्जन भर से ज्यादा घाव मिले। मुन्ने के कपड़े वहीं एक टैंक में पड़े मिले।
घर वालों ने बताया कि मुन्ने की पत्नी आसमीन जरी का काम करती हैं। महबूब भी जरी कारोबारी करता ै। दोनों परिवारों का एक-दूसरे के घर आना-जाना था। महबूब मुन्ने के बच्चों को पढ़ाता भी था। मुन्ने के साले गुड्डू का कहना है कि पांच साल पहले मुन्ने और महबूब का झगड़ा हुआ था मगर बाद में सुलह हो गई। मगर महबूब के मन में रंजिश बनी रही।

महबूब के जख्मी हाथ ने खोला राज
चार सितंबर को दोपहर करीब तीन बजे महबूब अपने घर लौटा तो उसके हाथ में चाकू का जख्म था। गले पर नाखूनों के निशान भी थे। उसे जख्मी देखकर घरवालों को मुन्ने के साथ कोई अनहोनी होने का शक हो गया था। हालांकि महबूब मुन्ने के दिल्ली जाने और जल्द घर लौटने की बात कहता रहा। बुधवार को वह कई घंटे मुन्ने के घर बैठा रहा था। घर वालों के साथ तहरीर देने थाना इज्जतनगर भी गया। लेकिन पुलिस ने छानबीन शुरू की तो उसका हौसला जवाब दे गया।

सऊदी अरब जाने वाले थे मुन्ने
मुन्ने पांच भाइयों में तीसरे नंबर के थे। घर में पत्नी और मां के अलावा दो बेटियां और दो बेटे हैं। घर वालों के मुताबिक मुन्ने नौकरी के लिए सऊदी अरब जाने को थे। उन्होंने वीजा और पासपोर्ट भी बनवा लिया था। मेडिकल जांच में खून की कुछ कमी पाई गई थी, जिसका इलाज चल रहा था। मेडिकल में फिट होने पर दो सप्ताह बाद उनके रवाना हो जाने की तैयारी थी।

Spotlight

Most Read

Madhya Pradesh

मध्यप्रदेश: कांग्रेस ने लहराया परचम, 24 में से 20 वॉर्ड पर कब्जा

मध्यप्रदेश के राघोगढ़ में हुए नगर पालिका चुनाव में कांग्रेस को 20 वार्डों में जीत हासिल हुई है।

20 जनवरी 2018

Related Videos

शाहजहांपुर के अटसलिया गांव में नहीं हो रही लड़कों की शादी, ये है वजह

केंद्र सरकार खुले में शौच से मुक्ति दिलाने के लिए स्वच्छ भारत मिशन के तहत करोड़ों रुपये खर्च कर रही है, लेकिन यूपी के शाहजहांपुर जिले में एक गांव ऐसा है जहां महिलाओं को आज भी खुले में शौच जाना पड़ता है।

20 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper