विज्ञापन
विज्ञापन
UP Board Result 2019 UP Board Result 2019

प्राचार्य दफ्तर में की तोड़फोड़, हंगामा

Bareilly Updated Sun, 02 Sep 2012 12:00 PM IST
ख़बर सुनें
बरेली। वीरांगना रानी अवंतीबाई महिला डिग्री कॉलेज में बीए फर्स्ट ईयर में बढ़ी सीटों पर बिना मेरिट के दाखिला लेने पर जमकर हंगामा हुआ। गुस्साई छात्राओं ने प्राचार्य कक्ष की जाली और शीशे तोड़ डाले। पांच घंटे चले हंगामे के बाद एसीएम फर्स्ट मौके पर पहुंचीं। उन्होंने दोनों पक्षों को सुनने के बाद कॉलेज प्रशासन की गलती मानी और इसे फौरन सुधारने के आदेश दिए। विरोध कर रही सभी छात्राओं के दाखिले लेने पर ही मामला शांत हुआ।
विज्ञापन
विज्ञापन
वीरांगना रानी अवंतीबाई महिला डिग्री कॉलेज के प्राचार्य ने कुलपति को सीटें बढ़ाने के लिए पत्र लिखा था। इसके बाद शासनादेश के मुताबिक, शुक्रवार की दोपहर को हर सेक्शन में 20 सीटें बढ़ाने का अनुमति पत्र विश्वविद्यालय से भेज दिया गया। कॉलेज प्रशासन ने बढ़ी हुई सीटों के बारे में बिना कोई नोटिस लगाए और बिना मेरिट के उसी दिन मौके पर मौजूद छात्राओं को दाखिला दे दिया। काफी समय से दाखिले के लिए चक्कर काट रहीं छात्राएं शनिवार को सुबह दस बजे कॉलेज में फिर पहुंची। तब उन्हें पता चला कि उनसे नीचे की मेरिट वालों का प्रवेश हो गया है। हालांकि, शुक्रवार को दाखिले के बाद भी कुछ सीटें खाली रह गईं, लेकिन शनिवार को छात्राओं से कह दिया गया कि सारी सीटें भर चुकी हैं, अब किसी को भी प्रवेश नहीं मिलेगा।
इतना सुनते ही छात्राओं ने हंगामा शुरू कर दिया। उनका कहना था, ‘हमसे नीचे मेरिट वाले का प्रवेश कैसे हो गया, अब हमारा भी दाखिला लो। हमें तीन दिन से दौड़ा रहे हो कि कल आओ, कल आओ कहकर।’ इसके बाद प्रशासन ने सभी छात्रों को मेन गेट से बाहर करके चैनल में ताला डाल दिया। दोपहर दो बजे तक भी कॉलेज प्रशासन ने उनकी नहीं सुनी तो उन्होंने एक साथ चैनल पकड़कर उसे जोर-जोर से हिलाना शुरू कर दिया। चिल्ला-चिल्ला कर रही थीं, ‘कॉलेज में धांधली हुई है। अब हमें मूर्ख बनाकर चुप करना चाहते हैं, हम चुप नहीं होंगे।’ इसके बाद वहां आए छात्र नेताओं ने भी नारेबाजी की और प्राचार्य से बात की, मगर कोई हल नहीं निकला। इतने में बारिश होने लगी, छात्राएं बाहर ही झमाझम बारिश में खड़ी रहीं। फिर, उनका धैर्य जवाब दे गया। उन्होंने गेट के बराबर में बाहर की तरफ से ही प्राचार्य कक्ष की जाली और शीशों को तोड़ दिया। वे शाम पांच बजे तक हंगामा करती रहीं। इसके बाद एसीएम फर्स्ट वंदिता श्रीवास्तव और सीओ ओमप्रकाश यादव पहुंचे। उन्होंने छात्राओं को नियमानुसार कार्रवाई का आश्वासन दिया तो वे थोड़ा शांत हुईं।
उन्होंने छात्राओं का पक्ष सुनने के बाद प्राचार्य से पूरी स्थिति पर जवाब मांगा। कहा, मेरिट लिस्ट दिखाओ, प्रवेश वाला रजिस्टर दिखाओ। रिकॉर्ड देखने के बाद उन्होंने प्राचार्य से दो टूक कहा कि दाखिला देने में गड़बड़ की गई है। बढ़ी हुई सीटों पर बिना मेरिट के प्रवेश किए गए हैं। यह कौन सा नियम है कि बढ़ी सीटों पर आदेश आने वाले दिन ही बिना मेरिट बनाए प्रवेश कर लिए जाएं। इसके बाद प्राचार्य ने भी अपनी गलती मानी और हंगामा कर रहीं सभी 40 छात्राओं के प्रवेश लिए। इसके बाद ही छात्राएं वहां से हटीं।

लड़कियों को सीधा-सादा समझते हो
एसीएम वंदिता श्रीवास्तव ने प्राचार्य एसपी खरे से कहा, लड़कियों को सीधा-सादा समझते हो कि जैसे चाहोगे हांक लोगे। अगर जांच करा ली तो सारी असलियत सामने आ जाएगी। इसलिए लीपापोती मत कीजिए। सबके दाखिले लीजिए, ताकि विरोध कर रही छात्राओं को इंसाफ मिल सके।


प्रवेश के मामले में कॉलेज प्रशासन की नीयत साफ नहीं रही। अगर बड़े पैमाने पर गड़बड़ नहीं हुई होती तो छात्राएं इतनी उग्र नहीं होतीं।- ओपी यादव, सीओ थर्ड



सीटें बढ़ने के बाद शुक्रवार को जितनी छात्राएं बची थीं, उन्हें पहले आओ, पहले पाओ के आधार पर प्रवेश दिया गया। 31 अगस्त तक हर हाल में प्रवेश प्रक्रिया पूरी कर लेने के आदेश के चलते ऐसा किया गया। जिन छात्राओं को बरेली कॉलेज में दाखिला नहीं मिला था, उन्होंने ही शनिवार को हंगामा किया। हालांकि, हमने पहले से फॉर्म न भरने वाली छात्राओं को दाखिला देने से साफ इनकार कर दिया। -डॉ. एसपी खरे, प्राचार्य



छात्राओं के सामने आने की हिम्मत नहीं हुई
हंगामा करने वाली छात्राएं इतनी गुस्से में थीं कि प्राचार्य या किसी शिक्षक की बंद चैनल तक भी आने की हिम्मत नहीं हुई। जब छात्र नेताओं ने प्राचार्य से कहा, जाकर छात्राओं को शांत कीजिए, नहीं तो वे चिल्लाते-चिल्लाते बेहोश हो जाएंगी। इसके बाद प्राचार्य काफी हिम्मत करके दो बार गए, लेकिन छात्राओं ने उनकी एक न सुनी। छात्राओं ने कहा, इससे पहले डांट रहे थे। अब बेटा कहकर बहला रहे हैं। अपने हक के लिए लड़ रहीं छात्राओं का रौद्र रूप देखकर कर्मचारी और शिक्षक एक तरह से भयभीत हो गए।


सबको मिला दाखिला
अवंतीबाई महिला डिग्री कॉलेज में छात्राओं के हंगामा करने के बाद सबका भला हो गया। बस, जिनके फार्म नहीं जमा थे, उनका ही प्रवेश नहीं और पाया और बाकी की सभी छात्राओं को मौका मिला। प्राचार्य ने सबसे पहले साठ प्रतिशत अंक से ऊपर वालों को बुलाया, उसके बाद 55 प्रतिशत से ऊपर वालों को फिर पचास प्रतिशत वाले को और सबसे अंत में 45 प्रतिशत तक ही छात्राओं को बुलाकर दाखिला किया।


कुल 180 सीटें बढ़ीं
अवंतीबाई महिला डिग्री कॉलेज में अब तक बीए में 540 सीटें थीं। शुक्रवार को बीए फर्स्ट ईयर में हर सेक्शन में 20 सीटें बढ़ाने का आदेश आया। कॉलेज में नौ सेक्शन है। अब तक हर सेक्शन में साठ सीटें थीं। हर सेक्शन में 20 सीटों के इजाफे से कुल 180 सीटें बढ़ गईं। नियमानुसार इन बढ़ी सीटों के बाबत विज्ञप्ति जारी करने के बाद ही प्रवेश होने चाहिए थे।

Recommended

UP Board Results देखने के लिए आज ही 8929470909 नंबर पर मिस्ड कॉल करें और फोन पर पाएं परिणाम
UP Board 2019

UP Board Results देखने के लिए आज ही 8929470909 नंबर पर मिस्ड कॉल करें और फोन पर पाएं परिणाम

कब और कैसे मिलेगी सरकारी नौकरी ?
ज्योतिष समाधान

कब और कैसे मिलेगी सरकारी नौकरी ?

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

लोकसभा चुनाव में किस सीट पर बदल रहे समीकरण, कहां है दल बदल की सुगबुगाहट, राहुल गाँधी से लेकर नरेंद्र मोदी तक रैलियों का रेला, बयानों की बाढ़, मुद्दों की पड़ताल, लोकसभा चुनाव 2019 से जुड़े हर लाइव अपडेट के लिए पढ़ते रहे अमर उजाला चुनाव समाचार।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Bareilly

मुस्लिम परिवार ने शादी के कार्ड पर छपवाई राम-सीता की तस्वीर, कहा- हमें ईश्वर-अल्लाह दोनों से प्यार

शाहजहांपुर के चिलौवा गांव में एक मुस्लिम परिवार ने अपनी बेटी रुखसार बानो के शादी के निमंत्रण कार्ड पर भगवान राम और सीता की तस्वीर छपवाई है।

25 अप्रैल 2019

विज्ञापन

सीएम योगी के मंत्री का ‘महागठबंधन’ पर तंज, दे दिया ये नाम

यूपी सरकार में मंत्री सुरेश खन्ना ने महागठबंधन पर हमला करते हुए कहा कि ये सब फ्यूज्ड ट्रांसफॉर्मर हैं. इनकी क्या चर्चा करना. सुनिए क्या बोले बीजेपी नेता सुरेश खन्ना।

25 अप्रैल 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election