अविश्वास के चक्रव्यूह में नीरू पटेल

Bareilly Updated Thu, 30 Aug 2012 12:00 PM IST
बरेली। पीलीभीत की तर्ज पर अब बरेली में भी बसपा की जिला पंचायत अध्यक्ष नीरू पटेल के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने की चक्रव्यूह रची जा रही है। मेयर चुनाव में डॉ. आईएस तोमर के साथ आया सपा का एक धड़ा रणनीति तैयार करने में जुट चुका है। इस धड़े के कई प्रमुख नेता इस बाबत कैबिनेट मंत्री शिवपाल सिंह यादव से भी मिल चुके हैं, जहां से बताते हैं कि अविश्वास प्रस्ताव लाने के लिए हरी झंडी दे दी गई है।
नीरू पटेल को पद से हटाने के लिए सपा के एक विधायक की अगुवाई में पूरी रणनीति तैयार की गई है। बसपा के भी एक कद्दावर नेता का सहयोग मिलने का दावा किया जा रहा है। इस बारे में जिला पंचायत सदस्यों को साधा जाने लगा है। सपा सूत्रों के मुताबिक, जो सदस्य अविश्वास प्रस्ताव लाने पर सहमत हैं, उन्हें बताया गया है कि इस बाबत तैयार किए प्रस्ताव पर एक ही दिन में सभी के दस्तखत करा लिए जाएंगे। उनसे गोपनीयता बरतने को भी कहा गया है। अविश्वास प्रस्ताव लाने की कमान संभालने वालों में शामिल एक नेता ने नाम न छापने के अनुरोध के साथ बताया कि 35 सदस्यों का उन्हें समर्थन मिल चुका है। यहां बता दें कि जिला पंचायत में कुल 49 सदस्य हैं। अविश्वास प्रस्ताव लाने के लिए कम से कम 25 सदस्यों का समर्थन चाहिए। उधर, राजनीतिक हलकों में कयास लगाए जा रहे हैं कि अविश्वास प्रस्ताव पास होने पर पूर्व विधायक महिपाल सिंह यादव की पत्नी सरोज यादव सपा से इस पद की प्रबल दावेदार होंगी। वह जिला पंचायत सदस्य हैं और इससे पहले भी अध्यक्ष रह चुकी हैं।

------------
इस मामले में पार्टी हाईकमान का जो भी आदेश होगा, उसका पालन किया जाएगा।- वीरपाल सिंह यादव, सपा जिलाध्यक्ष
-----------
ज्यादातर जिला पंचायत सदस्य मेरे साथ हैं। इससे ज्यादा मुझे कुछ नहीं कहना।- नीरू पटेल, जिला पंचायत अध्यक्ष
----------
इस तरह से लाया जाता है अविश्वास प्रस्ताव
अविश्वास प्रस्ताव तभी लाया जा सकता है, जब उस पर सदस्यों की कुल संख्या के आधे से एक अधिक सदस्य सहमत हों। यानी, 25 जिला पंचायत सदस्यों को इस प्रस्ताव पर दस्तखत करने होंगे। यह प्रस्ताव उनकी ओर से डीएम को भेजा जाएगा। डीएम ही जिला पंचायत अध्यक्ष को तारीख देंगे कि वह उस दिन सदन में बहुमत साबित करें। अगर अध्यक्ष बहुमत साबित नहीं कर पाती हैं, तो उन्हें पदच्युत घोषित कर दिया जाएगा।
----
पहले भी लाया जा चुका है अविश्वास प्रस्ताव
सन् 2007 में बसपा सरकार में भी तत्कालीन जिला पंचायत अध्यक्ष सरोज यादव के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाया गया था। उसके बाद उषा गंगवार जिला पंचायत अध्यक्ष बनी थीं।

Spotlight

Most Read

Varanasi

मतदाता पुनरीक्षण में लापरवाही, चार अफसरों को नोटिस

मतदाता पुनरीक्षण में लापरवाही, चार अफसरों को नोटिस

19 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: बरेली के अस्पताल के ICU में लगी आग, दो महिला मरीजों की मौत

बरेली के एक प्राइवेट अस्पताल में आग लगने से दो महिला मरीजों की मौत हो गई। जबकि एक मरीज गंभीर रूप से घायल हो गया। आग आईसीयू में लगी थी और बताया जा रहा है मरीजों की मौत दम घुटने से हुई है। हालांकि आग की वजह अभी साफ नहीं हुई है।

16 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper