मंदिरों पर साउंड सिस्टम बंद कराने पर बवाल

Bareilly Updated Sat, 11 Aug 2012 12:00 PM IST
बरेली। श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर कई जगह मंदिरों पर लगे साउंड सिस्टम को पुलिस ने सख्ती करके बंद करवा दिया तो लोग भड़क गए। उन्होंने खूब हंगामा किया। पुलिस कार्रवाई को तानाशाही भरा कदम बताते हुए झांकियां समेट ली और पूजन न करने का फैसला लिया। इसकी जानकारी मिलने पर अफसरों के हाथ पैर फूल गए। उन्होंने फौरन ही साउंड सिस्टम बंद न कराने के थानों की पुलिस को निर्देश दिए। इसके बाद ही स्थिति सामान्य हो सकी। हजियापुर में झांकी लगाने पर दो समुदाय आमने सामने आ गए। उनके बीच जमकर पथराव हुआ, जिसमें कई लोग घायल हो गए। स्थिति को काबू में करने के लिए पुलिस को लाठी चार्ज करना पड़ा।
किला के कुंवरपुर मोहल्ले में 13 मंदिर हैं, जिनमें महेश्वर नाथ मंदिर सबसे प्रमुख और विशाल है। उससे सटे मलूकपुर मोहल्ले में चमन मठिया चौराहा के आसपास कई मंदिर हैं। श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर सभी मंदिर सजाए गए। हर साल की तरह परंपरागत तरीके से कुंवरपुर के महेश्वर नाथ मंदिर में धार्मिक कार्यक्रम चल रहा था। शाम करीब सात बजे मलूकपुर चौकी प्रभारी अनिल कुमार चौबे ने कुंवरपुर जाकर मंदिरों में दो लाउडस्पीकर छोड़कर बाकी सारा साउंड सिस्टम बंद करा दिया। मंदिर कमेटी पदाधिकारियों ने प्रशासन की अनुमति भी दिखाई गई, जिसे चौकी प्रभारी ने नहीं माना। पुलिस की हठधर्मी पर गुस्साए लोगों ने पूरा साउंड सिस्टम और बिजली बंद कर दी। मंदिरों में सजाई गईं झांकियां हटा लीं। इसका पता लगने पर सैकड़ों लोग सड़क पर उतर आए। मंदिरों में ताले डालकर लोग सड़क पर धरना देकर बैठ गए। उन्होंने पुलिस के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।
कुंवरपुर से सटे मोहल्ला मलूकपुर में भी मंदिरों में लगा साउंड सिस्टम बंद करा दिया गया। गुस्साए लोग पूरा साउंड सिस्टम व बिजली बंद कर चमन मठिया चौराहे पर इकट्ठे हो गए। उन्होंने भी पुलिस प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। लोगों का कहना था कि प्रशासन ने कार्यक्रम की अनुमति दी है। आज दिन में करीब तीन बजे पुलिस ने दो लाउडस्पीकर बजाने को कहा था। शाम साढ़े सात बजे पुलिस ने दो लाउडस्पीकर छोड़कर बाकी साउंड सिस्टम बंद करा दिया।
विरोध प्रदर्शन की जानकारी आला अफसरों को मिली तो वे फौरन हरकत में आए। करीब डेढ़ घंटे बाद 8.30 बजे किला इंस्पेक्टर सत्य प्रकाश शर्मा कुंवरपुर गए और परंपरागत तरीके से साउंड सिस्टम बजाकर त्योहार मनाने को कह दिया। इस पर लोग मान गए और धरना खत्म कर दिया। इसके बाद लाइट और साउंड सिस्टम खोल दिया गया। रात करीब नौ बजे कटरा चांद खां के मौर्य मंदिर के पास लगे दो लाउडस्पीकरों में से एक पुलिस ने हटवा दिया। पता लगने पर लोग मोहल्ले के तमाम लोग सड़क पर जमा हो गए और हंगामा करने लगे। राधाकृष्ण युवा मंडल के विशाल गोयल व प्रेम शंकर राठौर का कहना था कि पुलिस मनमानी कर रही है। हालांकि, देर रात लोगों ने पूरा साउंड सिस्टम खोल दिया।
रात 8.30 बजे हजियापुर के अंबेडकर नगर में वाल्मीकि समुदाय के लोगों ने सड़क पर अपने घरों के सामने तख्त डालकर उन पर झांकियां सजाई थीं। साउंड सिस्टम भी बज रहा था। दूसरे समुदाय ने अपनी इबादत का वक्त होने की बात कहते हुए साउंड सिस्टम बंद करने को कहा। इसी बात पर दोनों पक्ष आमने सामने आ गए। एक पक्ष ने झांकिया पलट दीं। देखते ही देखते दोनों तरफ से पथराव शुरू हो गया। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची। उसने लाठियां फटकार भीड़ को वहां से खदेड़ा। एसएसपी सत्येंद्र वीर सिंह ने बताया कि हजियापुर विवाद में दोनों पक्षों के चार-चार लोगों को हिरासत में लिया गया है।

Spotlight

Most Read

Mahoba

मंडल में जीएसटी की कम वसूली देख अधिकारियों के कसे पेंच

कर चोरी पर अब होगी सख्त कार्रवाई-

19 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: बरेली के अस्पताल के ICU में लगी आग, दो महिला मरीजों की मौत

बरेली के एक प्राइवेट अस्पताल में आग लगने से दो महिला मरीजों की मौत हो गई। जबकि एक मरीज गंभीर रूप से घायल हो गया। आग आईसीयू में लगी थी और बताया जा रहा है मरीजों की मौत दम घुटने से हुई है। हालांकि आग की वजह अभी साफ नहीं हुई है।

16 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper