कर्फ्यू हटते ही ताबड़तोड़ वारदातें

Bareilly Updated Thu, 09 Aug 2012 12:00 PM IST
बरेली। चोरी और छिनैती की वारदातें यूं शहर में कर्फ्यू के दौरान भी हुईं, लेकिन पुलिस अफसरों का तर्क था कि फिलहाल उनका महकमा कानून और व्यवस्था की स्थिति दुरुस्त रखने में व्यस्त है इसलिए चोरियां होना कोई खास मसला नहीं है। खैर, बुधवार को शहर कर्फ्यू से पूरी तरह मुक्त हो गया और पहले ही दिन अपराधियों ने शहर में तीन वारदातें कर जता दिया कि शहर में कर्फ्यू हो न हो, उन पर कोई फर्क नहीं पड़ता। पहली वारदात सर्किट हाउस चौराहे पर हुई जहां एक कार से एक लाख रुपये निकाल लिए गए। इसके बाद चौपुला से कचहरी जाने के लिए टेंपो में बैठे एक शख्स की जेब से 29 हजार रुपये पार कर दिए गए। दोपहर दो बजे सेटेलाइट स्टैंड से टेंपो में शहामतगंज जा रहे उत्तराखंड के एक व्यापारी की जेब से भी इसी तरह एक लाख रुपये उड़ा दिए गए।

कार में रखे एक लाख रुपये उड़ाए
बरेली। आईसीआईसीआई बैंक में रकम जमा करने आए एक मोबाइल कंपनी के सेल्स मैनेजर की कार से उचक्कों ने दिनदहाड़े एक लाख रुपये उड़ा दिए। हालांकि लोगों ने पीछा करके उचक्के को दबोच लिया। उसे जमकर पीटने के बाद पुलिस के सुपुर्द कर दिया गया।
यह घटना दोपहर करीब एक बजे सर्किट हाउस चौराहे के नजदीक हुई। करगैना इलाके में रहने वाले प्रशांत सक्सेना को आईसीआईसीआई बैंक में अपनी मोबाइल कंपनी के एकाउंट में एक लाख रुपये जमा करने थे। बकौल प्रशांत, अस्सी हजार रुपये वह घर से ले गए थे। सर्किट हाउस चौराहे पर पहुंचने के बाद 20 हजार रुपये उन्होंने आईडीबीआई बैंक निकाले। एक लाख रुपये की यह रकम उन्होंने कार के डैश बोर्ड में रख दी। गर्मी की वजह से कार के शीशे उतरे हुए थे। प्रशांत के मुताबिक कार स्टार्ट करते वक्त चाबी सीट के नीचे गिर गई। वह नीचे झुककर चाबी तलाश करने की कोशिश करने लगे, तभी पास में खड़े एक युवक ने हाथ बढ़ाकर डैश बोर्ड में रखी रकम निकाल ली और भाग निकला। प्रशांत तुरंत कार से उतरकर शोर मचाते हुए उसके पीछे भागे। चोर को जब यह लगा कि वह पकड़ा जाएगा तो उसने रकम सड़क पर फेंक दी। प्रशांत तो सड़क पर पड़ी रकम उठाने को रुक गए, लेकिन वहीं मौजूद दो अन्य युवक चोर का पीछे लग गए। चौकी चौराहे के पास उन्होंने उसे पकड़ लिया। इसके बाद लोगों ने चोर की जमकर पिटाई की और फिर कोतवाली ले जाकर पुलिस के सुपुर्द कर दिया। पकड़े गए युवक ने बताया कि उसका नाम यश कार्तिक है और वह तमिलनाडु के रंगम आउट जिले का रहने वाला है।

स्कूल मैनेजर की जेब से 29 हजार निकाले
बरेली। आंवला के एक गांव से एसबीआई की कलेक्ट्रेट शाखा में रकम जमा करने आए स्कूल मैनेजर की जेब से 29 हजार रुपये पार कर दिए गए। घटना तब हुई जब वह चौपुला से एक टेंपो में कचहरी की ओर जा रहे थे। घटना की पुलिस को तहरीर दे दी गई है।
आंवला इलाके के गांव कुड्ढा में रहने वाले सुरेश चंद्र गुप्ता गांव में ही एक जूनियर हाईस्कूल चलाते हैं। बुधवार को उन्हें बोर्ड परीक्षा के 27 हजार रुपये कचहरी के पास स्थित भारतीय स्टेट बैंक शाखा में जमा करने थे। दोपहर करीब 12 बजे वह प्राइवेट बस से चौपुला पर उतरे और वहां से कचहरी जाने के लिए टेंपो में बैठे। सुरेश चंद्र गुप्ता के मुताबिक चौपुला से ही दो और युवक भी उनके इधर-उधर बैठे गए। जंक्शन रोड पर एडीएम कंपाउंड के सामने पहुंचकर टेंपो का ड्राइवर उसे पीछे मोड़ने लगा। उन्होंने वजह पूछी तो उसने बहाना बनाया कि पुलिस आगे जाने से रोक रही है। इसी दौरान टेंपो में उनके साथ बैठे दोनों युवक उतर गए। इसके बाद ड्राइवर ने टेंपो को दोबारा कचहरी की तरफ मोड़ लिया और सुरेश को एसबीआई के पास उतार दिया। टेंपो से उतरते वक्त अचानक सुरेश की निगाह अपनी पैंट की जेब पर गई, जो कटी हुई थी। उसमें रखे 29 हजार रुपये भी गायब थे। वह पीछे लौटकर एडीएम कंपाउंड तक युवकों को देखने गए। मगर न टेंपो मिला और न उनके साथ बैठे दोनों युवक कहीं दिखाई दिए। सुरेश गुप्ता काफी देर हैरान-परेशान टेंपो और दोनों युवकों को ढूंढते रहे। कोई नहीं मिला तो उन्होंने चौकी चौराहा पुलिस चौकी जाकर घटना की तहरीर दी।

उत्तराखंड के व्यापारी को एक लाख की चोट
बरेली। जेबकतरों ने बुधवार को उत्तराखंड के एक किराना व्यापारी को भी एक लाख रुपये की चोट दे दी। इस व्यापारी की जेब से उस वक्त यह रकम निकाल ली गई जब वह सेटेलाइट स्टैंड से शहामतगंज जा रहे थे। घटना की तहरीर थाना बारादरी में दी गई है।
नानकमता (उत्तराखंड) से आए किराना व्यापारी शिवशंकर मित्तल को यहां शहामतगंज से किराने का सामान खरीदना था। रोडवेज की बस से वह दोपहर करीब दो बजे यहां सेटेलाइट स्टैंड पर उतरे और फिर शहामतगंज जाने के लिए एक टेंपो में सवार हुए। शिवशंकर के मुताबिक टेंपो चलने को हुआ तो दो युवक भी उनके इधर-उधर बैठ गए। शहामतगंज चौराहे से पहले ही टेंपो के ड्राइवर ने उसे पेट्रोल पंप के पास पहुंचकर वापस मोड़ लिया। टेंपो पूरी तरह रुक पाता, इससे पहले ही एक युवक उससे उतर गया। बाद में शिवशंकर भी टेंपो से उतरे। टेंपो वाले को पैसे देने के लिए पैंट की जेब में हाथ डाला तो पाया कि जेब कटी हुई है और उसमें रखे एक लाख रुपये गायब हैं। व्यापारी ने यह बात टेंपो ड्राइवर को बताई तो टेपों में बैठा दूसरे युवक ने ड्राइवर से टेंपो से उतरकर जा चुके युवक का पीछा करने को कहा। शिवशंकर उसके झांसे में आ गए। वह उतरकर जेबकतरे की तलाश में शहामतगंज चौराहे तक गए, लेकिन वह नहीं मिला। वह लौटकर पेट्रोल पंप के पास पहुंचे तो टेंपो ड्राइवर और उसमें बैठा दूसरा युवक भी गायब हो चुके थे। काफी देर परेशानहाल शिवशंकर उन लोगों को इधर-उधर ढूंढते रहे। कोई नतीजा नहीं निकला तो थाना बारादरी पहुंचे और पुलिस को तहरीर दी।

Spotlight

Most Read

Pilibhit

पारवलूम इकाइयों के खिलाफ कार्रवाई की मांग

पारवलूम इकाइयों के खिलाफ कार्रवाई की मांग

21 जनवरी 2018

Related Videos

शाहजहांपुर के अटसलिया गांव में नहीं हो रही लड़कों की शादी, ये है वजह

केंद्र सरकार खुले में शौच से मुक्ति दिलाने के लिए स्वच्छ भारत मिशन के तहत करोड़ों रुपये खर्च कर रही है, लेकिन यूपी के शाहजहांपुर जिले में एक गांव ऐसा है जहां महिलाओं को आज भी खुले में शौच जाना पड़ता है।

20 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper