पेपर देख भ्रमित हुए आईटीआई के विद्यार्थी

Bareilly Updated Wed, 01 Aug 2012 12:00 PM IST
प्रश्नपत्र में नया और पुराना पैटर्न दे दिया एक साथ

एसवी इंटर कॉलेज में चल रही है परीक्षा


बरेली। आईटीआई परीक्षा के पेपर में मंगलवार को नया और पुराना पैटर्न एक साथ देखकर विद्यार्थी भ्रमित हो गए। वे पेपर देखते ही शोर मचाने लगे। प्रिंसिपल के समझाने पर विद्यार्थी शांत हुए। हंगामे की वजह से परीक्षा एक घंटा देरी से शुरू हो सकी। लिहाजा पेपर हल करने के लिए विद्यार्थियों को एक घंटे का अतिरिक्त समय देना पड़ा।
आईटीआई के वर्कशॉप केलकुलेशन के पेपर में नए और पुराने दोनों ही पैटर्न के पेपर एकसाथ देखकर विद्यार्थियों को लगा कि वह इतना बड़ा पेपर कैसे हल करें। नए पैटर्न के मुताबिक ऑब्जेक्टिव पैटर्न पर पेपर होना था और पुराना पेपर थ्योरी बेस था। इसलिए, नए पैटर्न का पेपर हल करने वाले विद्यार्थियों को पेपर पर ही टिक करना था और पुराने पैटर्न के विद्यार्थियों को कॉपी पर उत्तर लिखने थे। लेकिन, सभी विद्यार्थियों को कॉपियां पहले ही बांट दी गईं। इसी से भ्रम पैदा हुआ। पेपर देखते ही विद्यार्थी हंगामा करने लगे।
प्रिंसिपल अली हुजूर ने विद्यार्थियों को पूरा मामला समझाया कि उन्हें अपनी मर्जी के मुताबिक नए और पुराने पैटर्न में से किसी एक पैटर्न का प्रशनपत्र हल करना है, लेकिन अगले साल से परीक्षा नए पैटर्न पर ही होगी। विद्यार्थियों को समझाने में एक घंटा लग गया, हालांकि बाद में उन्हें एक घंटे का अतिरिक्त समय भी दिया गया। परीक्षार्थी मुकेश, महेश, अनुज, हिमांशी और मोहित ने बताया, उन्होंने पुराने पैटर्न से पढ़ाई की थी, इसलिए उन्हें लगा कि वह नए पैटर्न का पेपर हल ही नहीं कर पाएंगे। बाद में जब प्रिंसिपल ने बताया कि वे पुराने पैटर्न का पेपर हल कर सकते हैं तो राहत मिली।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी दिवस: प्रदेश को 25 हजार करोड़ की योजनाओं की सौगात, योगी बोले- आज का दिन गौरवशाली

यूपी दिवस के मौके पर प्रदेश को सरकार ने 25 हजार करोड़ करोड़ की योजनाओं की सौगात दी। मुख्यमंत्री योगी ने आज के दिन को गौरवशाली बताया।

24 जनवरी 2018

Related Videos

प्रेम में बदनामी के डर से नाबालिग ने खुद को फूंका

शाहजहांपुर में एक नाबालिग लड़की ने बदनामी के डर से आग लगाकर जान दे दी। लड़की के प्रेमी ने लड़की के घर फोन करके दोनों के प्रेम प्रसंग की बात कही। जिसके बाद लड़की ने बदनामी से बचने के लिए ये कदम उठाया।

22 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls