गलत फैसले बने ट्रांसफर की वजह

Bareilly Updated Tue, 31 Jul 2012 12:00 PM IST
शहर का मिजाज नहीं समझ पाए अफसर

गलतियां होती रहीं, बवाल बढ़ता रहा

बरेली। शहर में दंगा भड़कने से पहले ही जिला प्रशासन और पुलिस के अफसरों की कार्यप्रणाली पर सवाल उठ रहे थे। दंगा होने के बाद भी यह सिलसिला जारी रहा। दंगा होने के दूसरे दिन बरेली पहुंचे एडीजी (कानून0व्यवस्था) ने भी अपनी पहली प्रेस कॉन्फ्रेंस में संकेत दिया था कि अफसरों पर कार्रवाई होगी। मगर कार्रवाई तब की गई, जब हालात काबू में आ गए।
शहर में दंगा भड़कने के बाद दोनों संप्रदायों के लोगों में अफसरों की कार्यप्रणाली को लेकर गुस्सा था। एडीजी यहां पहुंचे तो अफसरों के खिलाफ तमाम शिकायतें भी हुईं। दरअसल अफसरों ने शुरू से ही कांवरियों के लिए न कोई रूट निर्धारित किया, न सुरक्षा के लिए दूसरे जरूरी इंतजाम किए। सावन और रमजान के माहौल में शाहबाद और मठ की चौकी जैसे संवेदनशील इलाकों के बारे में प्रशासन सही आकलन करने में नाकाम रहा। दंगे में दो लोगों की जान जाने और आगजनी की कई घटनाएं होने के बावजूद प्रशासन ने बहुत ज्यादा सख्ती नहीं की। 25 जुलाई को अचानक कर्फ्यू में दो बजाए तीन घंटे की ढील दे देना इसी का उदाहरण था।
बता दें कि शाहबाद, मठ की चौकी क्षेत्र अति संवेदनशील माने जाते हैं। 22 जुलाई को शाहबाद और आलमगीरीगंज से कांवरियों को गुजरना था। उसी दिन पहला रोजा भी था। बावजूद इसके शाहबाद में सुरक्षा के इंतजाम नहीं किए गए। शहामतगंज चौराहा भी संवेदनशील इलाकोें में से है। 22 जुलाई को शाहबाद और मठ की चौकी क्षेत्र में हुए उपद्रव के बाद शहामतगंज चौराहा केवल चौकी इंचार्ज के भरोसे छोड़ दिया गया। दोनों पक्षों के आमने-सामने आने के बाद भी अफसर तब मौके पर पहुंचे जब हालात बेकाबू हो चुके थे।जोगी नवादा में मिलीजुली आबादी है। इसके बावजूद प्रशासन ने जोगी नवादा और उससे सटे चक महमूद मोहल्ले में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम नहीं किए। प्रेमनगर इलाके में पुलिस की चूक से बवाल हुआ था।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी एसटीएफ ने मार गिराया एक लाख का इनामी बदमाश, दस मामलों में था वांछित

यूपी एसटीएफ ने दस मामलों में वांछित बग्गा सिंह को नेपाल बॉर्डर के करीब मार गिराया। उस पर एक लाख का इनाम घोषित ‌किया गया था।

17 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: बरेली के अस्पताल के ICU में लगी आग, दो महिला मरीजों की मौत

बरेली के एक प्राइवेट अस्पताल में आग लगने से दो महिला मरीजों की मौत हो गई। जबकि एक मरीज गंभीर रूप से घायल हो गया। आग आईसीयू में लगी थी और बताया जा रहा है मरीजों की मौत दम घुटने से हुई है। हालांकि आग की वजह अभी साफ नहीं हुई है।

16 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper