एनओसी लिए बगैर ही विकसित हो गई कालोनियां

Bareilly Updated Fri, 06 Jul 2012 12:00 PM IST
बरेली। जिस जमीन को उत्तर प्रदेश आवास एवं विकास परिषद के पक्ष में अधिग्रहीत करने की प्रक्रिया चल रही थी, उस पर नगर निगम के अफसरों ने न सिर्फ प्लॉटिंग कर डाली, बल्कि बीडीए ने इनके नक्शे भी मंजूर कर दिए। 43.34 एकड़ का यह भूखंड अब आबाद इलाके के तौर पर राजेंद्रनगर और डेलापीर का हिस्सा है। अफसरों की यह कारगुजारी तो 29 साल पुरानी है, लेकिन शासन ने हाल ही में कमिश्नर को इसकी जांच का आदेश दिया है। कमिश्नर ने इसके लिए सात अफसरों की एक सब कमेटी बनाई है, जिसने दस्तावेजों की जांच शुरू कर दी है।
यह जमीन राजस्व अभिलेखों में उदयपुर खास और बिहारमान नगला में दर्ज थी। उत्तर प्रदेश आवास एवं विकास परिषद की भूमि विकास एवं गृहस्थान योजना के लिए सन् 1983 में इसके अधिग्रहण का प्रस्ताव किया गया था। यह प्रक्रिया चल ही रही थी कि सन् 1992 में नगर निगम ने इसी जमीन पर प्लाटिंग करा दी। बीडीए ने टाउन प्लानिंग करने से पहले आवास एवं शहरी नियोजन अनुभाग से एनओसी लिए बगैर तलपट, सब डिविजन, ग्रुप हाउसिंग और एकल भवनों के निर्माण के मानचित्र पास कर दिए। अब आवास विकास के प्रमुख सचिव एसएन शुक्ला ने कमिश्नर को इस मामले की जांच करने के निर्देश दिए हैं।
कमिश्नर के राममोहन राव ने जांच के लिए जो सब कमेटी बनाई है उसमें बीडीए उपाध्यक्ष राजमणि यादव, अपर आयुक्त प्रशासन राजेश कुमार त्यागी, नगर आयुक्त उमेश प्रताप सिंह, एडीएम ई एके उपाध्याय, तहसीलदार सदर अजय कुमार उपाध्याय और अधिशासी अभियंता चंद्रमा राम को शामिल किया है। सब कमेटी की इसकी पहली बैठक तीन जुलाई को बुलाई गई। इसमें बीडीए उपाध्यक्ष ने निर्देश दिया कि सभी संबंधित विभाग अपने अभिलेख प्रस्तुत करें ताकि उनकी कायदे से जांच की जा सके। कमेटी को मौके पर स्थलीय निरीक्षण करने और सभी विभागों के रिकॉर्डों की जांच करने को कहा गया है।

‘मुझे अभी इस बारे में पूरी तरह जानकारी नहीं है। शासन से एक लेटर आया है और कमेटी बना दी गई। इस मामले की गहराई से जांच की जाएगी।’- के राममोहन राव, कमिश्नर

‘इस मामले में अभी कुछ नहीं कह सकता हूं। इसमें कई विभाग शामिल हैं, उन सभी को अपने यहां के रिकॉर्ड देखने होंगे।’ राजमणि यादव, बीडीए उपाध्यक्ष

इनसेट में
अब तो यहां बस गया है पूरा शहर
बिहारमान नगला में डेलापीर से कुर्मांचलनगर तक कई कॉलोनियां बन गई हैं। इसमें मिथिलापुरी, बड़ी विहार, छोटी विहार, वीर सावरकर नगर और तमाम इलाके शामिल हैं। उदयपुर खास में आईवीआरआई का कुछ हिस्सा, गुलमोहर पार्क, पटेलनगर, एकता नगर, राजेंद्र नगर और धर्मदत्त सिटी अस्पताल के आसपास विकसित कालोनियां शामिल हैं।

Spotlight

Most Read

Lucknow

अखिलेश यादव का तंज, ...ताकि पकौड़ा तलने को नौकरी के बराबर मानें लोग

यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने केंद्रीय मंत्री सत्यपाल सिंह पर निशाना साधा और कहा कि भाजपा देश की सोच को अवैज्ञानिक बताना चाहती है।

22 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: यूपी के दो दिन तक बंधक बनाकर किया गैंगरेप

यूपी में जहां एक तरफ अपराधियों पर नकेल कसने के लिए ताबड़तोड़ मुठभेड़ हो रही हैं। वहीं दूसरी तरफ महिलाओं से गैंगरेप की घटनाएं कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। ताजा मामला शाहजहांपुर का है।

22 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper