मुकाम तक पहुंचाया, पर फीता नहीं काट पाएंगी सुप्रिया

Bareilly Updated Sun, 01 Jul 2012 12:00 PM IST
सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट प्लांट




- 13.9 करोड़ रुपये की लागत से तैयार हुआ रजऊ परस्पुर में प्लांट
- शुरुआत के लिए प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की एनओसी का इंतजार
- अगले मेयर के सामने होगी बोर्ड से एनओसी दिलाने की चुनौती
बरेली। तमाम बाधाओं पर पार पाते हुए मेयर सुप्रिया ऐरन के कार्यकाल में सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट प्लांट तैयार तो हो गया, मगर वह इस प्लांट का उद्घाटन नहीं कर पाएंगी। अब इस प्लांट को प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड से एनओसी दिलाने की जिम्मेदारी अगले मेयर को निभानी होगी।
मेयर सुप्रिया ऐरन के कार्यभार संभालते वक्त यह प्रोजेक्ट काफी शुरुआती स्थिति में था। केंद्र सरकार ने त्रिशूल हवाई अड्डे से उड़ने वाले विमानों की सुरक्षा के मुद्देनजर शहर में सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट प्लांट के निर्माण के लिए मंजूरी तो दे दी, मगर लंबे समय तक यही तय नहीं हो पाया कि काम का जिम्मा किस एनजीओ को दिया जाए। एनजीओ के चयन के लिए एक कमेटी बनाई गई, मगर काफी अरसे तक बात तब भी नहीं बनी। मेयर सुप्रिया ऐरन ने हर फोरम पर कहा कि सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट प्लांट शहर के भी हित में है, इसलिए इसके निर्माण का काम जल्द से जल्द शुरू होना चाहिए। खैर, बसपा सरकार में अहम् ओहदों पर बैठे लोगों को भी उनकी बात समझ में आई और विरोध को दरकिनार करते हुए प्लांट के निर्माण की जिम्मेदारी ‘एकेसी’ को दे दी गई।
मेयर सुप्रिया ऐरन के समय-समय पर मुआयना करने का ही नतीजा था कि प्लांट के निर्माण की रफ्तार एक बार शुरू होने के बाद धीमी नहीं पड़ी। अब जबकि निर्माण पूरा हो चुका है, इसके चालू होने में सिर्फ एक बाधा रह गई है और वो है, प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की एनओसी नहीं मिल पाना। एनओसी के लिए सुप्रिया ऐरन ने नगर विकास मंत्री आजम खां को भी पत्र लिखा था। पिछले दिनों बरेली आए नगर विकास मंत्री ने जल्द एनओसी दिलवाने का आश्वासन भी दिया। प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अध्यक्ष की नियुक्ति न हो पाने से एनओसी नहीं मिल पा रही थी, लेकिन अब उनकी भी नियुक्ति हो गई है। निगम सूत्रों का कहना है कि जुलाई में ही एनओसी मिलने की पूरी उम्मीद है, बशर्ते सात जुलाई को चुने जाने वाले मेयर इसके लिए जरूरी पैरवी करें।

Spotlight

Most Read

Lucknow

भयंकर हादसे के शिकार युवक ने योगी से लगाई मदद की गुहार, सीएम ने ट्विटर पर ये दिया जवाब

दुर्घटना में रीढ़ की हड्डी टूटने से लकवा के शिकार युवक आशीष तिवारी की गुहार मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सुनी ली। योगी ने खुद ट्वीट कर उसे मदद का भरोसा दिलाया और जिला प्रशासन को निर्देश दिया।

20 जनवरी 2018

Related Videos

शाहजहांपुर के अटसलिया गांव में नहीं हो रही लड़कों की शादी, ये है वजह

केंद्र सरकार खुले में शौच से मुक्ति दिलाने के लिए स्वच्छ भारत मिशन के तहत करोड़ों रुपये खर्च कर रही है, लेकिन यूपी के शाहजहांपुर जिले में एक गांव ऐसा है जहां महिलाओं को आज भी खुले में शौच जाना पड़ता है।

20 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper