सड़क हादसों में दो महिलाओं समेत चार की मौत

Bareilly Updated Sat, 30 Jun 2012 12:00 PM IST
मालियों की पुलिया, पीलीभीत बाईपास रोड और बिथरी इलाके में हुए हादसे
बरेली। अंधाधुंध रफ्तार से वाहन चलाना जानलेवा साबित हो रहा है। शुक्रवार को अलग-अलग जगह हुए हादसों में चार लोगों की जान चली गईं। इनमें दो महिलाएं थीं।
पहली दुर्घटना शुक्रवार की सुबह साढ़े चार बजे शाहजहांपुर रोड पर मालियों की पुलिया के पास हुई। हाफिजगंज के नवदिया बमनपुरी गांव निवासी दुर्गेश कुमार, उनका भाई मनोहर लाल और सिथरा के मोहन स्वरूप उर्फ रिंकू शहामतगंज स्थित एक ट्रांसपोर्ट कंपनी में काम करते हैं। काम निपटाने के बाद सुबह को तीनों पैदल सैटेलाइट बस स्टेशन की तरफ जा रहे थे। शाहजहांपुर रोड पर मालियों की पुलिया के पास पीछे से आ रहा टेंपो उनसे टकरा गया। गंभीर चोटें आने से तीस वर्षीय दुर्गेश की मौके पर ही मौत हो गई। मनोहर लाल और मोहन स्वरूप के भी चोटें आईं। थाना बारादरी में अज्ञात टेंपो चालक के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई गई है।
दूसरी दुर्घटना पीलीभीत बाईपास रोड पर विश्वविद्यालय के पास हुई। क्योलड़िया के सुरेंद्र पाल, पत्नी गुड्डी देवी और साली ममता देवी के साथ बाइक से गांधी उद्यान के पास एक निजी अस्पताल जा रहे थे। जहां उनके साढ़ू नरेंद्र पाल का बेटा भर्ती है। बीसलपुर चौराहे पर उनकी बाइक में पीछे से आए ट्रक ने टक्कर मार दी। इससे तीनों लोग बाइक समेत रोड पर जा गिरे। उसी ट्रक का पहिया ऊपर उतर जाने से 38 वर्षीय गुड्डी देवी की मौके पर मौत हो गई। रोड पर गिरने से सुरेंद्र और ममता जख्मी हो गए। हादसे के बाद चालक ट्रक छोड़कर फरार हो गया।
इसके अलावा दो दुर्घटनाएं बिथरीचैनपुर इलाके में हुईं। पदारथपुर गांव के सखावत का 19 वर्षीय बेटा दिलशाद उर्फ भूरा अपने दोस्त इकबाल के साथ बाइक पर शहर से घर लौट रहे थे। लखनऊ हाईवे पर नरियावल के पास उनकी बाइक में पीछे से आई कार ने टक्कर मार दी, जिससे दोनों बाइक समेत सड़क पर जा गिरे। तभी शाहजहांपुर की तरफ से आए ट्रक का पहिया ऊपर उतर जाने से दिलशाद की मौके पर ही मौत हो गई। इसमें इकबाल गंभीर रूप से घायल हो गए। पता लगने पर नकटिया चौकी की पुलिस ने ट्रक को रोक लिया। वहीं, शुक्रवार की दोपहर करीब 11 बजे भगवानपुर गांव के सात-आठ लोग टेंपो में नरियावल में लगने वाले ज्वालादेवी मेला जा रहे थे। बरेली-बीसलपुर रोड पर कमुआकलां के पास उस टेंपो में सामने से आई मैजिक ने टक्कर मार दी। इससे भगवानपुर गांव के खेमानंद की पत्नी रामश्री की मौके पर मौत हो गई। वह करीब 40 बरस की थीं। उनका दस वर्षीय बेटा मुकेश, नीरज पटेल, महिपाल की बेटी मंशा देवी, पूजा और छोटे गंभीर रूप से घायल हो गए। घायलों को शहर के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

प्रेम में बदनामी के डर से नाबालिग ने खुद को फूंका

शाहजहांपुर में एक नाबालिग लड़की ने बदनामी के डर से आग लगाकर जान दे दी। लड़की के प्रेमी ने लड़की के घर फोन करके दोनों के प्रेम प्रसंग की बात कही। जिसके बाद लड़की ने बदनामी से बचने के लिए ये कदम उठाया।

22 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls