रात भर इंतजार, सुबह पहुंची मौत की खबर

Bareilly Updated Mon, 25 Jun 2012 12:00 PM IST
किला ओवरब्रिज से गिरे ट्रक से दबकर मारे गए बाकी दोनों की भी शिनाख्त, सीबीगंज के निकले


थाना किला में ट्रक ड्राइवर पर एफआईआर

सिटी रिपोर्टर
बरेली। किला ओवरब्रिज से नीचे गिरे ट्रक से दबकर मारे गए टेंपो ड्राइवर समेत बाकी दोनों लोगों की भी रविवार को शिनाख्त हो गई। ये दोनों सीबीगंज के पस्तौर गांव के थे और रिश्ते में मामा-भांजे लगते थे। घर वाले रात भर दोनों के लौटने का इंतजार करते रहे। सुबह उनकी मौत की खबर घर पहुंची।
पस्तौर में रहने वाले मानसिंह गांव में ही दर्जी का काम करते थे। शनिवार दोपहर बिशारतगंज के गांव ढकौरा से उनके साले गुड्डू, चचिया ससुर राम सिंह और लालकरन उनके घर पहुंचे थे। राम सिंह को अपनी पत्नी कुसुमा की धनेटा गांव स्थित ससुराल से विदा कराकर ले जाना था। उन्होंने टेंपो का इंतजाम कराने को कहा तो मानसिंह ने गांव में ही अपने चचेरे मामा रामप्रताप को अपने टेंपो से कुसुमा की विदा करा लाने को कह दिया। देर रात रामप्रताप मानसिंह को साथ लेकर टेंपो में सीएनजी भरवाने के लिए शहर आए थे। लौटते वक्त चौपुला पर व्यासी मुरावपुरा में रहने वाले सुशील कुमार सैनी और कहकशां नगर (स्वाले नगर) में रहने वाले इकबाल भी घर आने के लिए टेंपो में सवार हो गए।
टेंपो किला पुल के नीचे से गुजर रहा था, तभी ऊपर से कोयले से भरा ट्रक आ गिरा और चारों लोगों की मौत हो गई। सुशील और इकबाल की रात में ही शिनाख्त हो गई थी। सुशील एसी और फ्रिज के मैकेनिक थे और बटलर प्लाजा स्थित एक दुकान में काम करते थे। वह देर रात बबराला (बदायूं) से काम करके लौटे थे। इकबाल फरूर्खाबाद में गाड़ी रिपेयरिंग का काम करते थे और वे भी रात ही में बरेली पहुंचे थे। हादसे के बाद ट्रक ड्राइवर और क्लीनर दोनों फरार हो गए। पुलिस ने इकबाल के बेटे अफजाल की तहरीर पर ट्रक ड्राइवर के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है और ट्रक नंबर के आधार पर उसके मालिक का पता लगाने की कोशिश कर रही है।

इस तरह बच गई तीन जानें
रामप्रताप टेंपो में गैस भरवाने निकले तो मान सिंह के घर पर मौजूद उनके तीनों रिश्तेदारों ने भी साथ चलने को कहा, लेकिन मान सिंह ने तीनों को खाना खाकर घर पर ही सोने को कह दिया। इस तरह इन तीनों की जानें बच गईं। सुबह तक रामप्रताप और मान सिंह घर नहीं लौटे तो ये रिश्तेदार उन्हें ढूंढने निकले। तब उन्हें रात हुए हादसे के बारे में पता चला।

घटनास्थल पर पहुंचे तमाम टेंपो ड्राइवर
मूल रूप से बदायूं के गांव रसूलपुर बिलहरी के रहने वाले रामप्रताप रात में जंक्शन से टेंपो चलाते थे। ज्यादातर दूसरे टेंपो ड्राइवर उन्हें चेहरे से पहचानते थे। रात में किला पुल से गिरे ट्रक के नीचे एक टेंपो दबा होने की जानकारी मिली तो तमाम टेंपो ड्राइवर मौके पर पहुंच गए। रामप्रताप को उन्होंने पहचान लिया। मगर नाम-पता मालूम न होने की वजह से परेशान हो गए।

Spotlight

Most Read

Delhi NCR

दिल्ली-एनसीआर में दोपहर में हुआ अंधेरा, हल्की बार‌िश से गिरा पारा

पहले धुंध, उसके बाद उमस भरे मौसम और फिर हुई हल्की बारिश ने दिल्ली में हो रहे गणतंत्र दिवस के फुल ड्रेस रिहर्सल में विलेन की भूमिका निभाई।

23 जनवरी 2018

Related Videos

प्रेम में बदनामी के डर से नाबालिग ने खुद को फूंका

शाहजहांपुर में एक नाबालिग लड़की ने बदनामी के डर से आग लगाकर जान दे दी। लड़की के प्रेमी ने लड़की के घर फोन करके दोनों के प्रेम प्रसंग की बात कही। जिसके बाद लड़की ने बदनामी से बचने के लिए ये कदम उठाया।

22 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper