दो महीने नहीं बिकेंगी खोये की मिठाइयां

Bareilly Updated Thu, 21 Jun 2012 12:00 PM IST
बरेली। जिले में दो महीने तक खोये की मिठाइयों को बेचने पर प्रतिबंध लगा दिया है। यह कार्रवाई शासन के निर्देश पर की गई। इसके अलावा बरसात में फैलने वाले संक्रामक रोगों की रोकथाम के लिए मंडल और जिला स्तर पर नियंत्रण टीम का भी गठन किया गया है। दरअसल, संक्रामक रोगों के फैलने में सबसे ज्यादा जिम्मेदार विषाक्त खानपान को माना जाता है। इसलिए शासन ने खोये से बनी मिठाइयों को बेचने पर दो महीने के लिए रोक लगाने के निर्देश दिए हैं।
संक्रामक रोगों की वजह संक्रमित पेयजल, दूषित खानपान और मोहल्लों में जलभराव की स्थिति है। इससे डायरिया, हैजा, पीलिया, टायफाइड और फूड प्वाइजनिंग की संभावना बनी रहती है। इसकी रोकथाम के लिए नियंत्रण कमेटी काम शुरू करेगी। अपर निदेशक डॉ. आरआर त्यागी ने कार्ययोजना बना ली है। बुधवार को कमिश्नर की अध्यक्षता में होने वाली बैठक में कार्ययोजना पेश की जानी थी, लेकिन कमिश्नर के बाहर होने की वजह से बैठक नहीं हो सकी। अपर निदेशक डॉ. त्यागी ने बताया कि बैठक होने के बाद कार्ययोजना को मंडल और जिले में सख्ती से लागू कर दिया जाएगा। चूंकि शहरी और ग्र्रामीण क्षेत्रों में कई बार अन्य विभागों का सहयोग नहीं मिलने से रोगों पर प्रभावी नियंत्रण नहीं लग पाता। इसलिए शासन ने इस बार नियंत्रण कमेटी ने नगर विकास, स्वास्थ्य विभाग, ग्राम विकास, पंचायती और खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन विभाग को भी जोड़ा गया है।
संक्रामक रोगों में सबसे ज्यादा मलेरिया, डेंगू, चिकनगुनिया, जापानीज इन्सेफ्लाइटिस जैसी गंभीर बीमारियों की संभावना को रोकने के लिए जरूरी कदम उठाए जाएंगे। कार्ययोजना में जिला अस्पतालों, सीएचसी और पीएचसी में मरीजों को स्वास्थ्य सेवाएं तुरंत उपलब्ध कराने के लिए दवाओं की सप्लाई को पूरा रखने और जिला अस्पतालों में आइसोलेशन वार्ड को साफ सुथरा रखा जाएगा। इमर्जेंसी में अतिरिक्त बेड की व्यवस्था की जाएगी।

पानी की सफाई पर होगा ध्यान
शासन के निर्देश पर कार्ययोजना में खास ध्यान पानी की साफ-सफाई का रखा गया है। पानी के ओटी टेस्ट कराए जाएंगे। शुद्ध पेयजल आपूर्ति के टेल एंड पर गुणवत्ता की जांच की जाएगी। वर्षा ऋतु ओवरहेड टैंक, अंडर ग्राउंड वाटर, रिजरवायर पर ब्लीचिंग पाउडर डाला जाएगा।
----------------------
‘मेरी समझ में प्रशासन का यह फैसला सही नहीं है। चूंकि हम साफ-सफाई का पूरा ध्यान रखते हैं और मिठाई इतनी मात्रा में बनाते हैं कि वह खराब न हो। शहर से ही दूध खरीदते हैं और उसका खोया बनाकर मिठाई बनाते हैं। गांव के दूध से हम कोई मिठाई नहीं बनाते हैं। गर्मियों में हम खोया की मिठाइयों पर खास ध्यान रखते हैं, जिससे वह खराब न हो।’
दिलीप गुप्ता, ओनर दीपक स्वीट्स।

‘हम दूध खरीदकर उससे खोवा और मिठाइयां बनाते हैं। हमारी मिठाइयां शुद्ध होती हैं, अगर प्रतिबंध लगता है तो काफी दिक्कत होगी। फिलहाल प्रतिबंध लगेगा तो हमें मानना ही पड़ेगा।’ रामऔतार आहूजा, ओनर अजंता स्वीट्स।

Spotlight

Most Read

National

राजनाथ: अब ताकतवर देश के रूप में देखा जा रहा है भारत

राज्य नगरीय विकास अभिकरण (सूडा) की ओर से आयोजित कार्यक्रम में राजनाथ सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना से नया आयाम मिला है।

22 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: यूपी के दो दिन तक बंधक बनाकर किया गैंगरेप

यूपी में जहां एक तरफ अपराधियों पर नकेल कसने के लिए ताबड़तोड़ मुठभेड़ हो रही हैं। वहीं दूसरी तरफ महिलाओं से गैंगरेप की घटनाएं कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। ताजा मामला शाहजहांपुर का है।

22 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper