बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

पुलिस ने किया छात्र नितेश हत्याकांड के खुलासे का दावा

Bareilly Updated Wed, 06 Jun 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें

विज्ञापन
बरेली। बीकॉम के छात्र नितेश जायसवाल की गोली मारकर हत्या करने का आरोपी पारस गुप्ता डॉन बबलू श्रीवास्तव गैंग का सदस्य है। यह दावा पुलिस ने मंगलवार को पारस की उसके दो साथियों सहित गिरफ्तारी के बाद किया। बताया, पांच हजार का इनामी पारस पांच मुकदमों में वांछित है।
मालूम हो कि 30 मई को सैनिक कॉलोनी के नितेश जायसवाल की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। घटना को संजय नगर रोड पर कार सवार युवकों ने दिनदहाड़े अंजाम दिया था। पुलिस ने एक अभियुक्त अमन को अगले दिन ही गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। सिकलापुर का पारस, पुराना शहर बालजती कटरा चांद खां का मगन सिन्हा और सेमलखेड़ा मोहल्ले का बाबू उर्फ मोहम्मद अली फरार थे। एसएसपी डॉ. संजीव गुप्ता ने पारस पर पांच हजार रुपये का इनाम घोषित किया था। एसपी सिटी शिवसागर सिंह ने प्रेस कांफ्रेंस में बताया कि मंगलवार शाम 4.30 बजे पारस को साथी मगन और बाबू के साथ बीसलपुर रोड स्थित हरूनगला पुलिया से गिरफ्तार कर लिया गया। पारस के पास से तमंचा बरामद हुआ है। वह मूलरूप से मीरगंज के बनईया गांव का रहने वाला है।

सीओ ओमप्रकाश यादव के मुताबिक पिछले साल लखनऊ के वजीरगंज इलाके से एक बुलेरो लूटी गई थी। इस घटना में पारस भी शामिल था। आलोक और एलबी जेल में हैं। पारस ने पुलिस को बताया कि माधोबाड़ी वाल्मीकि बस्ती के अरविंद चौधरी ने उसकी मुलाकात बबलू श्रीवास्तव गैंग के राजेश मिश्रा से कराई थी। राजेश की मार्फत पारस बबलू श्रीवास्तव से मिला था। बबलू ने उसे काठमांडू जेल में बंद नकली नोटों के तस्कर गुरु को मारने का जिम्मा सौंपा था लेकिन कई महीने काठमांडू में रहने के बाद भी वह जेल के अंदर गुरु को मारने की हिम्मत नहीं जुटा सका। करीब डेढ़ महीने पहले ही वह घर लौटा था।

इंसेट-
बहन की मौत का बदला लेने को किया खून
इंस्पेक्टर शशांक चौधरी ने बताया कि पारस की बहन पूजा से नितेश की दोस्ती थी। शादी के बाद पूजा के मना करने पर भी नितेश उसे अक्सर फोन करता था। पति को पता चला तो पूजा के घर में कलह रहने लगी। दुखी होकर एक दिन पूजा ने आत्महत्या कर ली थी। इसे लेकर पारस नितेश से दुश्मनी मानने लगा था।

संजीव कक्कड़ हत्याकांड में भी शामिल था पारस
बकौल पुलिस, 20 अगस्त, 2011 को गंगापुर मोहल्ले में हुई बिहारीपुर निवासी संजीव कक्कड़ की हत्या में भी पारस शामिल था। संजीव खाने के टिफिन सप्लाई करते थे। पूछताछ में पता चला कि पारस के दोस्त बिहारीपुर के सोनू पाठक की संजीव कक्कड़ से दुश्मनी थी। सोनू के कहने पर पारस संजीव को पैर में गोली मारकर घायल करने पर राजी हुआ था लेकिन संजीव के गिर जाने से गोली उसके सीने में लग गई थी।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us