वैज्ञानिकों की उपलब्धियों को संजोया

Bareilly Updated Sun, 03 Jun 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
ख़बर सुनें
बरेली। आईवीआरआई के मुक्तेश्वर परिसर में शनिवार स्मृति स्तंभ का अनावरण किया गया। यह स्तंभ पशु चिकित्सा के क्षेत्र में संस्थान की महत्वपूर्ण उपलब्धियों की याद दिलाएगा। दरअसल मुक्तेश्वर परिसर ने पशुओं की जानलेवा बीमारी रिंडरपेस्ट के उन्मूलन में महत्वपूर्ण भूमिका अदा की है। लंबे शोध के बाद यहां वैज्ञानिकों ने इस रोग का टीका बनाया था।
विज्ञापन

मुख्य अतिथि डॉ. आरएम आचार्य ने इस मौके पर कहा कि आईवीआरआई ने रिंडरपेस्ट का विश्वभर से उन्मूलन करने में महती भूमिका निभाई है। हम उन वैज्ञानिकों और कर्मचारियों का योगदान नहीं भूल सकते, जिनके प्रयास से इस रोग का उन्मूलन किया जा सका। मनुष्यों के सबसे घातक रोग चेचक के के बाद पशुओं की इस बीमारी का उन्मूलन महत्वपूर्ण उपलब्धि है। उन्होंने कहा कि आईवीआरआई को पशुधन के पूर्ण विकास के लिए पशु चिकित्सा में और शोध करने की जरूरत है। नए टीके विकसित कर पशु स्वास्थ्य से संबंधित राज्य विश्वविद्यालयों एवं आईसीएआर के अन्य संस्थानों को देना चाहिए, जिससे पशुओं की उभरती हुई बीमारी के रोकथाम में सहायता मिल सके। विशिष्ट अतिथि डॉ. गया प्रसाद ने कहा कि इस उपलब्धि ने आईवीआरआई की पहचान दुनिया में स्थापित कर दी।
पशुओं के 50 टीके विकसित करने का श्रेय
आईवीआरआई के निदेशक डॉ. एमसी शर्मा ने कहा कि आईवीआरआई 50 से अधिक टीके, 100 नैदानिक किट और कई प्रौद्योगिकी का पेटेंट करा चुका है। संस्थान में वर्तमान में सूकर ज्वर, पशु चेचक, विषाणु जनित दस्त, पीपीआर, खुरपका, मुंहपका एथ्रेंक्स, लिस्टोरियोसिस और ब्रुसलोसिस आदि पर शोध चल रहा है। मुक्तेश्वर के प्रभारी डॉ. एबी पांडेय ने कहा कि यह स्मृति स्तंभ हमें अपने कार्यों की याद दिलाएगा। उन्होंने सभी अतिथियों का स्वागत किया। इस मौके पर राष्ट्रीय अश्व अनुसंधान केंद्र, हिसार पूर्व निदेशक प्रो. पीके उप्पल, आईवीआरआई के पूर्व निदेशक प्रो. एमपी यादव और अन्य तमाम वैज्ञानिक उपस्थित रहे।
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us