पुलिस के सामने दी गई थीं बंदियों को नशीली गोलियां

Bareilly Updated Tue, 29 May 2012 12:00 PM IST
बरेली। कचहरी लॉकअप में बंदियों को नशीली गोलियां पुलिस के सामने दी गई थीं। सीओ सिटी की जांच में पुलिस की लापरवाही सामने आई है। इससे संबंधित पुलिस कर्मियों पर कार्रवाई होना तय है।
यह घटना अदालत परिसर में 19 मार्च 2012 को हुई थी। जिला जेल से पेशी पर कोर्ट में ले जाए गए पांच बंदियों ने नशीली गोलियां खाकर आत्महत्या करने की कोशिश की थी। इनमें मुरादाबाद के मझोला क्षेत्र के चौहान वाली मिलक निवासी शीशपाल, मैनाठेर के खुर्रम बिचौला का सत्यवीर, जेपी नगर के चुचैला कला का अब्दुल हकीम व असरफ अली और बिजनौर के नूरपुर इलाके के कुंडा बलदाना का मो. अहसान हैं। जिला अस्पताल में इलाज कराने के बाद पांचों को जेल में दाखिल कर दिया गया था। दिसंबर 2010 में एसओजी और थाना अलीगंज पुलिस ने शीशपाल, सत्यवीर, अब्दुल हकीम, असरफ अली और मो. अहसान लोगों को नकली नोटों की तस्करी करने के आरोप में गिरफ्तार करके जेल भेजा था।
कोतवाली में बंदी शीशपाल, सत्यवीर, अब्दुल हकीम, असरफ अली और मो. अहसान के खिलाफ आत्महत्या की कोशिश करने पर मुकदमा कायम हुआ था। पुलिस की तफ्तीश में बंदियों को दोषी पाया गया, जिससे चार्जशीट लगाने के बाद कोर्ट में दाखिल कर दी गई। इस पूरे मामले की जांच सीओ सिटी प्रथम राज कुमार को दी गई थी। पता चला कि बंदियों को लॉकअप में बंद करने के बाद ड्यूटी में लगे पुलिस कर्मी बातों में मशगूल हो गए। मौका पाकर एक व्यक्ति ने नशीली गोलियां ले जाकर बंदियों को थमा दीं। गोलियां पहुंचने वाले व्यक्ति से बंदी शीशपाल की मुलाकात जेल के अंदर हुई थी। ड्यूटी में एसआई लाल सिंह, सिपाही महेंद्र प्रताप, सुधीर कुमार, सुरेश कुमार और पहलवान सिंह लगाए गए थे। सीओ सिटी ने बताया कि इस मामले में सिपाहियों के बयान दर्ज किये जा चुके हैं। दुर्घटना में जख्मी होने की वजह से एसआई लाल सिंह के बयान नहीं लिए जा सके। सीओ के मुताबिक अब तक की जांच में पुलिस कर्मियों के घोर लापरवाही रही। उनके खिलाफ विभागीय कार्रवाई होना ज्यादा संभव है।

कारपेंटर को पीटने वाला दीवान दंडित
बरेली। कारपेंटर ध्रुव कुमार को पीटने वाले दीवान राजेंद्र सिंह को सीओ की जांच में दोषी पाया गया। इससे दीवान राजेंद्र को अर्दली कक्ष में दंडित किया गया। सीओ के मुताबिक कारपेंटर ध्रुव कुमार का झगड़ा एक रिक्शा चालक से हुआ था। बाद में दोनों ने समझौता कर लिया था। मगर समझौते के बावजूद दीवान ने ध्रुव को कोतवाली ले जाकर हवालात में डाल दिया। एक रुपये के लिए ध्रुव कुमार को पीटने का आरोप निराधार निकला।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी में नौकरियों का रास्ता खुला, अधीनस्‍थ सेवा चयन आयोग का हुआ गठन

सीएम योगी की मंजूरी के बाद सोमवार को मुख्यसचिव राजीव कुमार ने अधीनस्‍थ सेवा चयन बोर्ड का गठन कर दिया।

22 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: यूपी के दो दिन तक बंधक बनाकर किया गैंगरेप

यूपी में जहां एक तरफ अपराधियों पर नकेल कसने के लिए ताबड़तोड़ मुठभेड़ हो रही हैं। वहीं दूसरी तरफ महिलाओं से गैंगरेप की घटनाएं कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। ताजा मामला शाहजहांपुर का है।

22 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper