पोस्टमार्टम हाउस के पास मृतका की सास को पीटा

Bareilly Updated Mon, 07 May 2012 12:00 PM IST
मायके वालों और भीड़ से बचकर भाग निकला ससुर
सिटी रिपोर्टर
बरेली। दहेज के लिए ससुराल वालों ने गर्भवती बहू को जिंदा जला दिया। यहां मिशन अस्पताल में इलाज के दौरान महिला की मौत हो गई। आक्रोशित मायके वालों ने पोस्टमार्टम हाउस पर मृतका को पीट दिया। जबकि ससुर भीड़ के बीच से निकल भागने में सफल रहे।
अलापुर (बदायूं) इलाके के नेथुआ गांव निवासी 20 वर्षीय आदेश उर्फ अंजू गुप्ता और अनुराग उर्फ मोनू की शादी को छह साल हुए थे। उनके चार साल की बेटी है। अंजू के पिता आनंद प्रकाश सक्सेना अलापुर (बदायूं) के ही पतसा गांव के रहने वाले हैं। आनंद प्रकाश के मुताबिक अनुराग और उनके परिजनों को दहेज में दो लाख रुपये और बाइक चाहिए थी। करीब साल भर पहले एक लाख देने पर रिश्तेदारों ने दोनों पक्षों में समझौता करा दिया था। मगर कुछ दिन बाद मंजू को दुबारा प्रताड़ित किया जाने लगा। इतना ही नहीं शनिवार को अंजू के ऊपर मिट्टी का तेल डालकर जला दिया गया। इसके बाद उसे झुलसी हालत में मिशन अस्पताल में भर्ती करा दिया गया, जहां बीती रात अंजू ने दम तोड़ दिया। मायके वालों को इसकी जानकारी पड़ोसियों से लगी।
रविवार की दोपहर अंजू का शव पोस्टमार्टम हाउस ले जाया गया, जहां अनुराग की मां शशि बाला, पिता आनंद प्रकाश एडवोकेट उनके कई रिश्तेदार और अंजू के मायके वाले मौजूद थे। वहां बातचीत के दौरान मृतका के भाई दीपक सक्सेना और उनके परिवार वाले आक्रोशित हो उठे। इससे अनुराग के पिता आनंद प्रकाश और मां शशि बाला उठकर जाने लगे। मृतका के भाई दीपक ने शशि बाला को पकड़ लिया और खींचतान की। उनके साथ गाली गलौज और मारपीट भी की गई। मौके पर मौजूद रिश्तेदारों ने किसी तरह मामला शांत कराया।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाले के तीसरे केस में लालू यादव दोषी करार, दोपहर 2 बजे बाद होगा सजा का ऐलान

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

प्रेम में बदनामी के डर से नाबालिग ने खुद को फूंका

शाहजहांपुर में एक नाबालिग लड़की ने बदनामी के डर से आग लगाकर जान दे दी। लड़की के प्रेमी ने लड़की के घर फोन करके दोनों के प्रेम प्रसंग की बात कही। जिसके बाद लड़की ने बदनामी से बचने के लिए ये कदम उठाया।

22 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls