नाराज किसानों ने गन्ना का रकबा कर दिया कम

Bareilly Updated Thu, 13 Nov 2014 05:31 AM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें
बरेली। निचली अदालत से लेकर देश की सर्वोच्च अदालत तक अपनी उपज कीमत और बकाया भुगतान पाने का जूझ रहे किसानों ने इस बार गन्ना कम बोया है। यह किसानों की बेरुखी मिलों पर भारी पड़ सकती है। इसका असर चीनी उत्पादन पर पड़ना तय है। पर्याप्त गन्ना न मिलने पर कुछ मिलें ‘नो केन’ हो सकती हैं।
विज्ञापन

बरेली मंडल बेहतर गन्ना उत्पादक श्रेणी में आता है। पिछले कुछ सीजन से गन्ना कीमत सही तय नहीं होने और समय से पेमेंट न मिलने से गन्ना किसान पहले से ही खफा थे। इस बार मौसम ने बाकी कमर पूरी कर दी है। इससे इस वर्ष 45 हजार हैक्टेअर गन्ना कम हुआ है। विभागीय सूत्रों के मुताबिक बरेली जिले में गन्ना रकबा 15 प्रतिशत कम हुआ है। बदायूं 25, शाहजहांपुर -13 और पीलीभीत जिला में 14 फीसदी रकबा कम घट गया है। बरेली गन्ना उपायुक्त के अधीन आने वाले अलीगढ़ में 27 फीसदी और कासगंज में 35 फीसदी रकबा कम हुआ है। गन्ना मल्य अभी तक तय न होने से फसल कट नहीं पा रही है।
इन्फो
----
(रकबा/ हेक्टेयर)

जिला रकबा (2014-15) रकबा गत वर्ष (2013-14)
बरेली 79252.45 95134.06
बदायूं 21000 27990
पीलीभीत 77300 89800
शाहजहांपुर 61000 70000
कासगंज 5700 8900
अलीगढ़ 12900 17000

वर्जन
गन्ना रकबा इस बार घट गया है। इसकी बड़ी वजह मिलों की हठधर्मिता है। विभाग ने किसानों का भुगतान कराने की पूरी कोशिश की है। भविष्य में रकबा बढ़ने की पूरी उम्मीद है।
- डॉ.दिनेश्वर मिश्र, उप गन्ना आयुक्त, बरेली परिक्षेत्र
-------

डिफाल्टर मिलों का कोटा
कम हुआ, केंद्र घटे
---------------------
नया गन्ना एरिया और क्रय केंद्र
नाम मिल एरिया/ हैक्टअर केंद्र
सेमीखेड़ा 11279 24
बहेड़ी 20275 55
फरीदपुर 20589 55
(मीरगंज, नवाबगंज मिलों एरिया तय होना बाकी है)
---------

गन्ना किसानों की बात
हमने इस बार सिर्फ दस बीघा गन्ना किया है। फसल तैयार है पर मिलों में पेराई शुरू होने और खरीद कीमत तय होने का इंतजार है। कई पानी लगाए पर बारिश न होने से गन्ना सही से फलफूल नहीं सका। एक बीघा में दस कुंतल से ज्यादा नहीं निकलेगा। - जागनलाल गंगवार, चौखंडी नवाबगंज

पांच सौ बीघा में गन्ना किया है। पिछली बार का पेमेंट अभी भी पूरा नहीं मिला है। बरसात न होने से इस बार गन्ने में डेढ़ गुनी लागत लगी है। देखते हैं किस्मत में क्या लिखा है।- जागन सिंह, परा तासपुर


सड़क पर लगेगा जाम
सेमीखेड़ा मिल प्रबंधन ने शिकायत की है कि बरेली नैनीताल मार्ग चौड़ीकरण काम सुस्ती से चल रहा है। मिल के सामने एक तरफा निर्माण हो पाया है। इससे गन्ना लाने वाले वाहनों से जाम लगेगा। इस पर डीएम संजय कुमार ने फोरलेन निर्माण संस्था पीएनसी कंपनी से कहा है कि 15 नवंबर तक दोनों ओर तीन तीन किलोमीटर तक सड़क चौड़ी कर दी जाए। साथ ही गन्ना वाहनों के लिए अलग सर्विस लेन और पक्का नाला बनाया जाए।
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X
  • Downloads

Follow Us