लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Uttar Pradesh ›   Barabanki News ›   Kumar Vishwas recited the poem, there was a lot of applause

Barabanki News: कुमार विश्वास ने सुनाई कविता तो खूब बजीं तालियां

Lucknow Bureau लखनऊ ब्यूरो
Updated Sun, 27 Nov 2022 07:30 AM IST
बाराबंकी के जीआईसी ऑडिटोरियम में आयोजित मुशायरा एवं कवि सम्मेलन के दौरान मंच पर मौजूद कवि कुमार ?
बाराबंकी के जीआईसी ऑडिटोरियम में आयोजित मुशायरा एवं कवि सम्मेलन के दौरान मंच पर मौजूद कवि कुमार ? - फोटो : BARABANKI
विज्ञापन
बाराबंकी। साझी विरासत द्वारा शनिवार को जीआईसी ऑडिटोरियम में कवि सम्मेलन और मुुशायरे का आयोजन किया गया। पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष अशोक सिंह की याद में आयोजित कार्यक्रम का उद्घाटन देररात पूर्व कैबिनेट मंत्री अरविंद सिंह गोप और प्रमुख सचिव समाज कल्याण डॉ. हरिओम ने किया। मंच का संचालन शायर अबरार कासिफ ने किया।

शायर फजल इमाम मदनी ने कार्यक्रम की शुरूआत की। मौजूद भीड़ डॉ. कुमार विश्वास को सुनने के लिए बेताब दिखी और बार-बार मंच पर बुलाने की मांग करने लगी। इस बीच कई कवियों ने काव्य पाठ किया तो शायरों ने एक से बढ़कर एक कलाम पेश किए। जैसे ही डॉ. विश्वास ने माइक संभाला पूरा ऑडिटोरियम तालियों की गड़गड़ाहट से गूंज उठा।

उन्होंने पढ़ा- कोई दीवाना कहता है कोई, पागल समझता है, मगर इस धरती की बेचैनी को इक पागल समझता है। श्रोता अपने चहेते कवि की एक झलक पाने के लिए बार-बार उठ जा रहे थे जिन्हें संभालने के पुलिस को कड़ी मशक्कत करनी पड़ी।
इस दौरान पत्रकार नदीम और कोरोना कॉल में लोगों की मदद करने वाले केके गुप्ता को सम्मानित किया गया। कवि प्रियांशु गजेंद्र, मुमताज नसीम, उस्मान मिनाई आदि ने भी अपनी रचनाएं सुनाईं।
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00