गर्भवती की मौत पर ग्रामीणों का फूटा गुस्सा, बवाल

अमर उजाला ब्यूरो Updated Mon, 30 Oct 2017 11:29 PM IST
 पुलिस की दबिश के दौरान गर्भवती की मौत पर ग्रामीणों का गुस्सा गांव में सोमवार शाम शव पहुंचते ही फूट पड़ा। गांव में ही शव रखकर लोगों ने घंटों प्रदर्शन किया। शव तब तक दफनाने से मना कर दिया जब तक आरोपी पुलिस कर्मियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज नहीं हो जाती। हालात तनाव पूर्ण देखते हुए सीओ, एसडीएम व कई थानों की पुलिस देर रात तक लोगों को अंतिम संस्कार के लिए मनाती रही।
इससे पूर्व दिन में मृतका के पति ने पुलिस अधीक्षक अनिल कुमार सिंह से मिलकर मामले की जांच सीओ सदर से कराने की मांग की थी। उधर शव का पोस्टमार्टम तीन डॉक्टरों के पैनल ने किया। उसकी पूरी वीडियोग्राफी भी कराई गई। एसपी ने बताया पीएम रिपोर्ट में मृतका के शरीर पर कोई चोट का निशान नहीं आया है। बिसरा प्रिजर्व कर जांच के लिए भेजा गया है।
      
मृतका रुचि का पोस्टमार्टम तीन डॉक्टरों के पैनल व वीडियोग्राफी के बीच किया गया। पीएम रिपोर्ट में मृतका के शरीर पर चोट का कोई निशान नहीं मिला है। बिसरा प्रिजर्व कर जांच के लिए भेज दिया गया है। मामले की जांच रिपोर्ट आने पर यदि कोई पुलिस कर्मी दोषी मिलेगा तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

Spotlight

Most Read

Mohali

प्रापर्टी डीलर ने एक प्लाट को 2 अलग-अलग टुकड़ों में बांटा, और फिर एमसी ने कर दिए नक्शे पास..

प्रापर्टी डीलर ने एक प्लाट को 2 अलग-अलग टुकड़ों में बांटा, और फिर एमसी ने कर दिए नक्शे पास..

20 फरवरी 2018

Related Videos

'मुझे हिन्दुओं ने हमेशा प्यार दिया, मुसलमानों से परेशानी हुई'

शनिवार को बाराबंकी के जहांगीराबाद इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी के तीसरे दीक्षांत समारोह में मौलाना डॉ कल्बे सादिक पहुंचे।

12 फरवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Switch to Amarujala.com App

Get Lightning Fast Experience

Click On Add to Home Screen