घाघरा उतर रही, दुश्वारियां बरकरार

Barabanki Updated Fri, 21 Sep 2012 12:00 PM IST
बाराबंकी। घाघरा के तेवरों में भले ही मामूली नरमी आई हो मगर तराई की दुश्वारियां जस की तस बनी हुई हैं। बृहस्पतिवार शाम नदी का जलस्तर खतरे के निशान से 109 सेंटीमीटर ऊपर था। जलस्तर घटने से कटान का खतरा तेजी से बढ़ने लगा है। कई क्षेत्रों में जहां राहत सामग्री का वितरण सही ढंग से नहीं होने की शिकायतें सामने आ रही हैं। वहीं बीमारियां फैलने का सिलसिला तेज हो गया है।
नदी के जलस्तर में बृहस्पतिवार को उतार शुरू हो गया। केंद्रीय जल आयोग के कंट्रोल रूम के मुताबिक बृहस्पतिवार शाम नदी का जलस्तर खतरे के निशान 106.070 मीटर से ऊपर 107.156 मीटर पर स्थिर हो गया है। अभी भी जलस्तर खतरे के निशान से 109 सेंटीमीटर ऊपर है। नदी घटने के बाद भी तराई में मची तबाही से कोई राहत नहीं है। नदी के इस रुख से कटान का खतरा तेजी से बढ़ने लगा है।
रामनगर प्रतिनिधि के मुताबिक, घाघरा के उग्र रूप धारण करने से तराई के लगभग पांच दर्जन गांव प्रभावित हैं। बाढ़ग्रस्त गांव के सैकड़ों परिवार चचेरी बांध, चौका घाट रेलवे स्टेशन व मरकामऊ के मार्ग पर डेरा डाले हैं। वहीं सैकड़ों ग्रामीण अभी भी गांव का मोह नहीं छोड़ पा रहे। पीड़ितों को प्रशासन द्वारा राहत सामग्री भी नहीं मिल पा रही है। तपेसिपाह, दुर्गापुर, नामीपुर सिरौली आदि गांवों में प्रशासन के निर्देश के बाद भी मिड-डे मील तक नहीं बन रहा है। इब्राहिमपुर में रामसांवले की भैंस पानी में फंस गई। जब तक ग्रामीण भैंस को निकालने का प्रयास करते वह एक पुलिया की ओर बह गई। इसे बचाया न जा सका। बांध व चौका घाट पर डेरा डाले बाढ़ पीड़ितों को अभी तक केरोसिन नहीं दिया जा सका है। जिसके चलते ये लोग अंधेरे में रात गुजारने के लिए विवश हैं।
बेलहरा प्रतिनिधि के मुताबिक, सूरतगंज ब्लॉक क्षेत्र के लगभग डेढ़ दर्जन गांव पानी से घिरे हैं। गांव व आसपास जलभराव होने से बीमारियों ने घेर लिया है। पर्वतपुर के राजकुमार, उनकी पुत्री अर्चना, पूनम, सुधाकर, दिवाकर, पार्वती, सत्यम, हिमांशु, कंचन व दिनेश समेत एक दर्जन लोग बुखार आदि बीमारी से पीड़ित है। रामसनेहीघाट प्रतिनिधि के मुताबिक डीएम मिनिस्ती एस. ने तहसील प्रशासन के साथ अलीनगर रानीमऊ के तटबंध के लोढ़ेमऊ का दौरा किया। लोढ़ेमऊ के निकट सूबेदार का पुरवा व अतरसुईयां गांव में लगभग तीन हजार की आबादी को पानी से घिरा देखकर डीएम ने उन्हें बांध पर बसाने के निर्देश दिए। डीएम ने बाढ़ प्रभावित ग्रामीणों को राहत सामग्री समय से और सभी को उपलब्ध कराने के आदेश दिए हैं। डीएम ने स्वास्थ्य विभाग को शिविर लगाकर स्वास्थ्य परीक्षण कराने व शिक्षा विभाग को स्कूल न जाने वाले बच्चों को चिह्नित कराकर विद्यालय में दाखिला कराने की हिदायत दी है।

Spotlight

Most Read

Mahoba

मंडल में जीएसटी की कम वसूली देख अधिकारियों के कसे पेंच

कर चोरी पर अब होगी सख्त कार्रवाई-

19 जनवरी 2018

Related Videos

बाराबंकी में 14 मौतों पर बीजेपी सांसद से जवाब देते नहीं बना

बाराबंकी में जहरीली शराब पीने से 14 लोगों की मौत पर शनिवार को बीजेपी सासंद प्रियंका रावत ने मीडिया से बात की। बीजेपी सांसद ने कहा कि गुमराह करनेवाले अफसरों को बक्शा नहीं जाएगा।

14 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper