लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Uttar Pradesh ›   Banda ›   Banda: Water is being bought daily for Rs 2000 in district hospital

बांदा : जिला अस्पताल में रोज 2000 रुपये का खरीदा जा रहा पानी

Kanpur	 Bureau कानपुर ब्यूरो
Updated Sun, 07 Aug 2022 12:09 AM IST
जिला अस्पताल के आरओ प्लांट के सूखे पड़े नल।
जिला अस्पताल के आरओ प्लांट के सूखे पड़े नल। - फोटो : BANDA
विज्ञापन
ख़बर सुनें
बांदा। जिला अस्पताल की बदहाली मरीजों पर भारी पड़ रही है। करीब तीन दिन से यहां पानी का भीषण संकट है। आरओ प्लांट के नल सूखे हैं। शौचालयों तक में पानी नहीं है। मरीज और उनके तीमारदारों को पीने समेत अन्य जरूरी कार्यों के लिए पानी बाहर से ढोकर लाना पड़ रहा है। सबसे बुरा हाल डायलिसिस यूनिट में है। यहां मरीजों को डायलिसिस में फिल्टर पानी लगता है, लेकिन संकट के चलते यहां 2000 रुपये से प्रतिदिन चार टैंकर पानी मंगाए जा रहे हैं। यूनिट प्रभारी और मरीजों ने इसकी शिकायत डीएम और सीएमएस से की है।

जिला अस्पताल परिसर में पीपीपी मॉडल पर 10 बेड का डायलिसिस यूनिट संचालित है। प्रतिदिन तीन शिफ्टों में 30 मरीजों की डायलिसिस की जाती है। प्रत्येक मरीज पर चार घंटे की डायलिसिस में 170 लीटर पानी खर्च होता है। यानी प्रतिदिन 30 मरीजों पर 5100 लीटर पानी खर्च हो रहा है। पानी का संकट यहां के मरीजों के लिए परेशानी का सबब बन रहा है। यूनिट प्रभारी शनि सिंह ने बताया कि रोजाना चार टैंकर पानी मंगाया जा रहा है। प्रत्येक टैंकर की कीमत 500 रुपये के हिसाब से प्रतिदिन 2000 रुपये खर्च आ रहा है। बताया कि आरओ में फिल्टर होने के बाद पानी का डायलिसिस में इस्तेमाल किया जाता है। फिल्टर में 1000 लीटर में लगभग 650 लीटर पानी बर्बाद हो जाता है। कंपनी अधिकारियों समेत डीएम और सीएमएस को समस्या से अवगत कराया दिया है।

सीएमएस डॉ. एसएन मिश्र से सीधी बात
1. पानी के संकट से मरीज और तीमारदार परेशान हैं? आपने क्या किया?
जवाब- सुबह-शाम जलापूर्ति होती है। पर्याप्त पानी न मिलने से संकट हो गया। जल संस्थान अभियंता को जानकारी दी गई है।
2. डायलिसिस यूनिट में टैंकर से पानी आ रहा है? मरीजों में गुस्सा है?
जवाब- मजबूरी है। भरपूर पानी नहीं आ रहा। अस्पताल परिसर में बना टैंक खाली पड़ा है। ऐसे में यूनिट को जलापूर्ति कैसे होगी।
3. आपने डीएम या जल संस्थान अभियंता से बात की या नहीं?
जवाब- डीएम साहब को तो अवगत नहीं कराया, पर जल संस्थान एक्सईएन को जानकारी दी है। बताया कि लीकेज से समस्या है। कर्मी लीकेज दुरुस्त कर रहे हैं।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00