पंप हाउस निर्माण में देरी से किसान नाराज

Banda Updated Thu, 04 Oct 2012 12:00 PM IST
बबेरू। चौधरी चरण सिंह योजना के तहत समगरा पंप कैनाल में स्थायी पंप हाउस निर्माण में देरी से इस साल भी किसानों को रवी में पलेवा क ो पानी मिलने की उम्मीद नहीं है। किसानों ने इस पर नाराजगी जताई है। एसडीएम को ज्ञापन देकर भाजपा किसान मोर्चा जिलाध्यक्ष ने 6 अक्तूबर को धरना-प्रदर्शन की चेतावनी दी है।
गौरतलब है कि यमुना नदी पर समगरा पंप कैनाल तैरते अस्थायी बैराज पर लगे पंपों के सहारे संचालित है। बरसात में नदी का जलस्तर बढ़ने के साथ पंप अलग कर दिए जाते हैं। उक्त नहर के अलावा क्षेत्र में सिंचाई का कोई साधन नहीं है। केन कैनाल का पानी कई साल से टेल तक नहीं पहुंच रहा। भाजपा किसान मोर्चा जिलाध्यक्ष अजय सिंह पटेल ने स्थायी पंप हाउस का निरीक्षण करने के बाद कहा है कि निर्माण में ढिलाई से नवंबर 2012 तक पंप हाउस चालू होने की उम्मीद नहीं है। पुराने अस्थायी बैराज के पंप खोल लिए जाने से इससे भी पानी मिलना मुमकिन नहीं है। उपजिलाधिकारी को दिए ज्ञापन में कहा है कि सिंचाई सुविधा के अभाव में किसान पलायन को मजबूर है। समगरा पंप कैनाल से 36 गांवों के किसानों को सिंचाई के लिए पानी मिलता था। धीरे-धीरे एक-एक कर पंप बंद होते गए और सिंचाई क्षेत्र कम होने लगा। किसान मइयादीन मिश्रा, समरजीत सिंह, राजेेश सिंह, करन सोनी, संतोष, गुलाब सोनी आदि का कहना है कि पानी न मिला तो रबी का पलेवा नहीं हो पाएगा। स्थायी पंप हाउस बनने में कई साल बीत गए। अभी इसके चालू होने की उम्मीद नहीं है। कार्यदायी संस्था की हीलाहवाली पर नाराजगी व्यक्त करते हुए 6 अक्तूबर को बबेरू मुख्य चौराहे पर धरना की चेतावनी दी गई है। धरने में क्षेत्र के सभी किसान शामिल होंगे।
तिंदवारी के मूंगुस गांव में राजकीय नलकूप संख्या 117 छह माह से खराब पड़ा है। ट्रांसफ ार्मर समेत ट्यूबवेल की मोटर और केबिल भी खराब है। किसान सुखदेव सिंह, रामसहाय सिंह, रामसुचित, महेश सिंह, रविकरन आदिन ने बताया कि पिछले वर्ष नलकूप खराब होने से रबी की फ सल चौपट हो गई थी। समय से दुरूस्त न हुआ तो इस साल भी रबी की बुआई हो पाना मुश्किल है। आपरेटर एक साल से ड्यूटी पर नहीं आया। नलकूप चलाना और ठीक कराना किसानों के जिम्मे है। ब्यूरो

Spotlight

Most Read

Kotdwar

भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण की टीम ने डाला कण्वाश्रम में डेरा

भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण की टीम ने डाला कण्वाश्रम में डेरा

19 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी पुलिस की हैवानियत का चेहरा, पिटाई की वजह से पेट में ही बच्चे की मौत

बांदा जिले की एक महिला ने यूपी पुलिस पर गंभीर आरोप लगाये है। महिला का कहना है कि उसके पति को गिरफ्तार करने आई पुलिस ने उसकी पिटाई कर दी। पुलिस की पिटाई से महिला का तीन माह का गर्भ गिर गया।

19 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper