गाज गिरने से चरवाहे और मजदूर की मौत

Banda Updated Wed, 08 Aug 2012 12:00 PM IST
बदौसा (बांदा)। गाज गिरने ने दो लोगों की जान ले ली। मौसम के कहर से 10 बकरियां भी मौत के मुंह समा गईं। बिजली गिरने से तीन अन्य गंभीर रूप से घायल हो गए।
मंगलवार को फतेहगंज के कुलसारी गांव के मजरा बल्देव पुरवा में मोती यादव (42) खेत में जानवर चरा रहा था। दिन में करीब साढे़ तीन बजे घने बादल आ गए और तेज बारिश शुरू हो गई। पानी से बचने के लिए वह खेत पर लगे शीशम के पेड़ के नीचे खड़ा हो गया। भोली (15) पुत्री राजेंद्र और उसका भाई अमित (10) तथा छोटू (35) पुत्र बालगीर यादव भी पेड़ के नीचे आ खडे़ हुए। इसी बीच गाज आ गिरी। मोती यादव की वहीं मौत हो गई। अन्य घायल होकर बेहोश हो गए। आसपास खेतों में काम कर रहे ग्रामीणों ने घायलों को अस्पताल पहुंचाया। प्रधान गंगादीन यादव ने बताया कि गाज से 10 बकरियों की भी वहीं मौत हो गई। ग्राम प्रधान ने घटना की सूचना उप जिलाधिकारी और थाने को दी है। गाज गिरने से मौत की दूसरी घटना रसिन बांध में हुई। बांध में इन दिनों मरम्मत का काम चल रहा है। ब्यूर गांव का 17 वर्षीय सुनील कोरी पुत्र छोटेलाल भी इसमें मजदूरी कर रहा था। दिन में करीब तीन बजे बारिश शुरू हुई तो वह छिपने के लिए भागा। तभी बांध की भीट पर गिरी बिजली से उसकी वहीं मौके पर मौत हो गई।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी दिवस: प्रदेश को 25 हजार करोड़ की योजनाओं की सौगात, योगी बोले- आज का दिन गौरवशाली

यूपी दिवस के मौके पर प्रदेश को सरकार ने 25 हजार करोड़ करोड़ की योजनाओं की सौगात दी। मुख्यमंत्री योगी ने आज के दिन को गौरवशाली बताया।

24 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी पुलिस की हैवानियत का चेहरा, पिटाई की वजह से पेट में ही बच्चे की मौत

बांदा जिले की एक महिला ने यूपी पुलिस पर गंभीर आरोप लगाये है। महिला का कहना है कि उसके पति को गिरफ्तार करने आई पुलिस ने उसकी पिटाई कर दी। पुलिस की पिटाई से महिला का तीन माह का गर्भ गिर गया।

19 जनवरी 2018