पानी-बत्ती के लिए फोड़े मटके

Banda Updated Wed, 30 May 2012 12:00 PM IST
बांदा। जानलेवा गर्मी और लू-धूप के बीच बिजली कटौती और पीने के पानी की पर्याप्त आपूर्ति न किए जाने से आंदोलन शुरू हो गए हैं। मंडल मुख्यालय में की जा रही दिन-रात बिजली कटौती ने उपभोक्ताआें का जीना दूभर कर दिया है। मंगलवार को बुंदेलखंड नवनिर्माण सेना ने इस मुद्दे पर कमिश्नर कार्यालय में खाली मटकों के साथ प्रदर्शन किया और बाद में वहीं मटके फोड़ भी दिए।
बुंदेलखंड नवनिर्माण सेना के दर्जनों कार्यकर्ताओं का जत्था हाथों में खाली मटके लेकर नारेबाजी करता हुआ आयुक्त कार्यालय पहुंचा। उनका कहना था कि इतना भी पानी आपूर्ति नहीं किया जा रहा कि घरों में पीने के लिए पर्याप्त भंडार किया जा सके। प्रदर्शनकारियों ने यह मटके आयुक्त कार्यालय में फोड़कर रोष जताया। बाद में अपर आयुक्त को छह सूत्री मांपत्र सौंपा। इसमें मांग की गई कि कम से कम 20 घंटे बिजली आपूर्ति की जाए। पेयजल आपूर्ति दोनों समय और पर्याप्त हो। सूखे तालाब भरे जाएं। गेहूं खरीद केंद्राें में हो रही धांधली की उच्च स्तरीय जांच कराई जाए। ज्ञापन देने वालों में जिलाध्यक्ष संजीव सिंह समेत मोहित सिंह, संतोष, दिलीप, सुनील राजपूत, रत्नेश गुप्ता, रवींद्र नाथ, जितेंद्र शर्मा, योगेंद्र सिंह, सचिन सिंह, संजीव अग्रवाल, जीशान, फैजान अली वारसी, मोहम्मद साजिद, दीपक गुप्ता आदि शामिल रहे।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाले के तीसरे केस में लालू यादव दोषी करार, पांच साल की सजा का ऐलान

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी पुलिस की हैवानियत का चेहरा, पिटाई की वजह से पेट में ही बच्चे की मौत

बांदा जिले की एक महिला ने यूपी पुलिस पर गंभीर आरोप लगाये है। महिला का कहना है कि उसके पति को गिरफ्तार करने आई पुलिस ने उसकी पिटाई कर दी। पुलिस की पिटाई से महिला का तीन माह का गर्भ गिर गया।

19 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls