खप्टिहा में तालाब सूखे, जल संकट

Banda Updated Sat, 12 May 2012 12:00 PM IST
खप्टिहा कलां। सबसे ज्यादा आबादी वाले इस कसबे में पानी का जबरदस्त संकट है। कागजों में तालाब लबालब हैं, लेकिन हकीकत में सूखे पड़े हैं। बड़ी संख्या में हैंडपंप भी खराब पड़े हैं। यही हालात रहे तो प्यास से मवेशियों की मौतों का सिलसिला शुरू हो जाएगा।
जल समिति अध्यक्ष मुन्नू साहू सहित भोला द्विवेदी, भैरमा यादव, विश्वेशर पाल, भोला यादव, कल्लू सिंह, बद्री प्रसाद निषाद आदि ग्रामीणों ने बताया कि कसबे के प्रेम तालाब, मनुई तालाब, सोनखरी तालाब, नया डेरा तालाब, भुंइयारानी आदि तालाब सूखे पड़े हैं। तालाबों को नलकूपों से नहीं भरा गया तो मवेशियों की प्यास से मौतें शुरू हो जाएंगी। ग्रामीणों को भी इस्तेमाल के लिए पानी की समस्या होगी। हैंडपंप भी खराब पड़े हैं। कुएं का पानी गंदगी से पीने योग्य नहीं है। एक मात्र जल संस्थान की टंकी से ही लोगों को पानी मयस्सर हो रहा है। कसबावासियों ने बताया जिलाधिकारी ने भ्रमण कर खंड विकास अधिकारी को पेयजल संकट दूर करने और खराब हैंडपंप को दुरुस्त कराने के निर्देश दिए थे। लेकिन मातहतों ने उनके निर्देशों को हवा में उड़ा दिया। कसबावासियों ने उच्चाधिकारियों से पानी संकट दूर करने की मांग की है। उधर, तिंदवारी क्षेत्र से कांग्रेस विधायक दलजीत सिंह ने कहा कि सपा सरकार भी कागजों में चल रही है। भरोसा दिलाया कि जिलाधिकारी से मुलाकात कर पानी संकट दूर करने की मांग करेंगे।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी दिवस: प्रदेश को 25 हजार करोड़ की योजनाओं की सौगात, योगी बोले- आज का दिन गौरवशाली

यूपी दिवस के मौके पर प्रदेश को सरकार ने 25 हजार करोड़ करोड़ की योजनाओं की सौगात दी। मुख्यमंत्री योगी ने आज के दिन को गौरवशाली बताया।

24 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी पुलिस की हैवानियत का चेहरा, पिटाई की वजह से पेट में ही बच्चे की मौत

बांदा जिले की एक महिला ने यूपी पुलिस पर गंभीर आरोप लगाये है। महिला का कहना है कि उसके पति को गिरफ्तार करने आई पुलिस ने उसकी पिटाई कर दी। पुलिस की पिटाई से महिला का तीन माह का गर्भ गिर गया।

19 जनवरी 2018