गोली से घायल करने पर पांच साल सजा

Banda Updated Wed, 09 May 2012 12:00 PM IST
बांदा। तमंचा से गोली मारकर घायल कर देने के मामले में अदालत ने अभियुक्त को पांच साल की सजा सुनाई। साथ में एक हजार रुपए जुर्माना भी किया गया। जुर्माना अदा न करने पर तीन माह की अतिरिक्त सजा भुगतनी होगी।
बिसंडा थाना क्षेत्र के मझीवां सानी गांव निवासी दिनेश सिंह ने थाने में दर्ज कराई रिपोर्ट में कहा था कि 8 दिसंबर 2009 की शाम गांव के चुन्नू सिंह पुत्र शिवनंदन सिंह ने अवैध तमंचा से उसे गोली मार दी। गोली उसके कंधे में लगी थी। जिला अस्पताल में परीक्षण के बाद गोली लगने की पुष्टि की गई। पुलिस ने घायल की तहरीर पर चुन्नू सिंह के विरुद्ध आईपीसी की धारा 308 और 25 आर्म्स एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया। 15 दिसंबर 2009 को पुलिस ने उसे तमंचा समेत गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। विवेचना के बाद पुलिस ने न्यायालय में आरोप पत्र दाखिल किया। प्रथम अपर सत्र न्यायाधीश डा.गोकुलेश शर्मा की अदालत में मामले की सुनवाई हुई। दोनों पक्षों के अधिवक्ताओं की बहस सुनने और पत्रावली में उपलब्ध साक्ष्यों का अवलोकन करने के बाद न्यायाधीश ने अभियुक्त चुन्नू सिंह को दोषी मानते हुए धारा 308 (आईपीसी) में तीन साल की सजा और 3/25 आर्म्स एक्ट में दो साल की सजा सुनाई। एक हजार रुपए जुर्माना से भी दंडित किया। जुर्माना अदा न करने पर आरोपी को तीन माह की अतिरिक्त सजा भुगतने के आदेश दिए। गिरफ्तारी के बाद जेल में बिताई गई अवधि सजा में समायोजित की जाएगी।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाले के तीसरे केस में लालू यादव दोषी करार, दोपहर 2 बजे बाद होगा सजा का ऐलान

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी पुलिस की हैवानियत का चेहरा, पिटाई की वजह से पेट में ही बच्चे की मौत

बांदा जिले की एक महिला ने यूपी पुलिस पर गंभीर आरोप लगाये है। महिला का कहना है कि उसके पति को गिरफ्तार करने आई पुलिस ने उसकी पिटाई कर दी। पुलिस की पिटाई से महिला का तीन माह का गर्भ गिर गया।

19 जनवरी 2018