निजी स्कूलों पर मेहरबान रहे सांसद

Banda Updated Mon, 05 May 2014 05:30 AM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें
प्राइवेट स्कूलों को बांट दिए सांसद निधि के 4 करोड़
विज्ञापन

बांदा के स्कूलों को दिए एक करोड़ बाइस लाख रुपये
चित्रकूट के स्कूलों को दिए 2 करोड़ 69 लाख रुपये
बांदा। पांच वर्ष के कार्यकाल में सांसद आरके सिंह पटेल प्राइवेट स्कूलों पर खूब मेहरबान हुए। सांसद निधि से स्कूलों को करीब 4 करोड़ रुपये जारी किए। चित्रकूट का पलड़ा भारी रहा। वहां स्कूलों के लिए 2 करोड़ 69 लाख मंजूर किए। बांदा जनपद के स्कूलाें को एक करोड़ 22 लाख दिए।
समाजसेवी और आरटीआई एक्टिविस्ट कुलदीप शुक्ला द्वारा जन सूचना अधिकार अधिनियम के तहत जुटाए गए सरकारी आंकड़ों के मुताबिक सांसद आरके सिंह पटेल ने वर्ष 2009-10 में संत तुलसी पब्लिक स्कूल को 5 लाख, बुंदेलखंड इंटर कालेज, डिंगवाही को 5 लाख, शंकर पार्वती स्कूल, करतल को 3 लाख, किसान इंटर कालेज, नौहाई को 3 लाख, दया प्रसाद महाविद्यालय, भभुवा को 13 लाख, डॉ. भीमराव समाजसेवी शिशु मंदिर, मझिला को 6 लाख और आदर्श शिक्षा निकेतन, बांदा को 3 लाख 59 हजार रुपये स्वीकृत किए। वर्ष 2010-11 में दीनदयाल आवासीय विद्यालय, नरैनी को 7 लाख, बीएल विद्या मंदिर, झील का पुरवा को साढ़े सात लाख, रघुनाथ विद्या मंदिर, बेनी पुरवा को आठ लाख, संत तुलसी पब्लिक स्कूल, बांदा को पांच लाख, जय दुर्गे हायर सेकेंड्री स्कूल, बीरा को पांस लाख, हरी प्रसाद सिंगरौर विद्यालय, बबेरू को बीस लाख, तिलहर जूनियर हाईस्कूल, ओरन को पांच लाख, हल्कीबाई शिक्षा सदन, पुरनिया को सात लाख, अंबेडकर शिक्षा निकेतन, अतर्रा को पांच लाख 97 हजार और आदर्श बालिका इंटर कालेज, भभुवा को चार लाख रुपये स्वीकृत किए। वर्ष 2012-13 में डॉ. लोहिया बाल विद्या मंदिर, बांदा को तीन लाख रुपये सांसद निधि से प्रदान किए।
चित्रकूट जनपद में सांसद ने वर्ष 2009-10 में सीपी सिंह विद्यालय, चकला को 10 लाख, बुइयाबाई स्कूल, अमानपुर को 10 लाख, शंकर इंटर कालेज, देवकली को 17 लाख 95 हजार, बल्लभ भाई पटेल स्कूल, चकमाली को 10 लाख, साहू जी महाराज महाविद्यालय, नरैनाखेड़ा को 10 लाख, कामदगिरि विद्या पीठ, चकलारानी को 8 लाख, चित्रकूट प्राथमिक विद्यालय, विकास नगर को 3 लाख 60 हजार, कमयनी स्कूल, परसौंजा को 7 लाख, बजरंग इंटर कालेज, सपहा को 8 लाख, सतगुरु जूनियर स्कूल, बरद्वारा को 7 लाख, महादेव सिंह पूर्व माध्यमिक स्कूल, नांदिन कुरमियान को 5 लाख, साहब सिंह स्कूल, पूरब पतई को 5 लाख, बरमदीन बाल विद्या मंदिर, गढ़वारा को 3 लाख रुपये स्वीकृत किए।
वर्ष 2010-11 में संकर्षण शिक्षा सदन, कसहाई को 2 लाख, सरदार पटेल स्कूल, रैपुरा को 10 लाख, राजाराम सिंह स्कूल, बरहट को 10 लाख, साहू जी महाराज महाविद्यालय, नरैनाखेड़ा को 15 लाख, आदर्श हलधर कालेज, कहना को 5 लाख 49 हजार, राजेंद्र सिंह स्कूल, लोहदा को 5 लाख, एचएम स्कूल, बछरम को 5 लाख, महादेव जूनियर स्कूल, नांदिन कुरमियान को 7 लाख, केदारनाथ जगन्नाथ महाविद्यालय, खटवारा को 15 लाख, परम विद्या मंदिर, शिवरामपुर को साढ़े सात लाख और वीआईपी कानवेंट स्कूल, सरधुया को 5 लाख रुपये स्वीकृत किए।
वर्ष 2011-12 में श्री पटेल ने गौरीशंकर शिक्षा सदन, चकौंध को 5 लाख, कल्याण भारती कालेज, कर्वी को 5 लाख और भीमराव जूनियर स्कूल, बरावारा को 8 लाख 70 हजार रुपये स्वीकृत किए। वर्ष 2012-13 में पीएम स्कूल, खोही को 10 लाख, दूधाधारी प्राथमिक स्कूल, खंडेहा को 8 लाख 50 हजार, कामदगिरि विद्यापीठ, चकलाराजरानी को 5 लाख, कामायनी पब्लिक स्कूल, परसौंजा को 10 लाख और सरस्वती शिशु ज्ञान मंदिर, कर्वी को 5 लाख रुपये निधि से सौगात दी। अधिकांश स्कूलों को यह पैसा स्कूल प्रबंधक व प्रधानाचार्य के संयुक्त खाते में दिया गया।
5 सांसदों ने 34 करोड़ निधि खर्च की
बांदा। बांदा-चित्रकूट संसदीय क्षेत्र के पांच सांसद अब तक निधि का 34 करोड़ 61 लाख 25 हजार रुपया अपने पसंदीदा कामाें और कार्यदाई संस्थाआें के हवाले कर चुके हैं। सांसद निधि की शुरूआत वर्ष 1993-94 में हुई थी। तब प्रकाश नारायण त्रिपाठी सांसद थे।
सांसद निधि की पहली किश्त तत्कालीन सांसद श्री त्रिपाठी को 93-94 में 5 लाख रुपये की मिली थी। उन्हें 94-95 और 95-96 में एक-एक करोड़ निधि मिली। 96-97 और 97-98 में सांसद रामसजीवन ने क्रमश: एक करोड़ व 50 लाख रुपये निधि के खर्च किए। 97-98 में ही रमेशचंद्र द्विवेदी सांसद हो गए आधी किश्त 50 लाख रुपये उन्हें मिले। 98-99 में श्री द्विवेदी को पूरी किश्त एक करोड़ हासिल हुई। इसके बाद रामसजीवन फिर सांसद हो गए। साथ ही निधि बढ़कर 2 करोड़ सालाना हो गई। सांसद रामसजीवन ने अपने दूसरे कार्यकाल में 5 वर्षों में 11 करोड़ रुपये खर्च किए। वर्ष 2004-05 में श्यामाचरण गुप्त सांसद हो गए। उन्होंने अपने कार्यकाल में वर्ष 2007-08 तक 9 करोड़ रुपये की निधि खर्च की। 2009-10 से मौजूदा सांसद आरके सिंह पटेल निधि हासिल कर रहे हैं। उन्हें अब तक 9 करोड़ 19 लाख 13 हजार रुपये निधि के हासिल हो चुके हैं। 34 करोड़ 61 लाख की भारी भरकम रकम को इन सांसदों ने कुल 1022 परियोजनाओं पर ठिकाने लगाया है।
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us