जमातों के जत्थों की कदम-कदम पर आवभगत

Banda Updated Fri, 14 Dec 2012 05:30 AM IST
हथौरा (बांदा)। तैयारियां पूरी हो गईं हैं। इज्तिमा में जमातों के जत्थे आने लगे हैं। हर आगंतुक जमाती की कदम-कदम पर आवभगत हो रही है। बांदा शहर में रेलवे स्टेशन और बस अड्डे से लेकर 16 किलोमीटर दूर इज्तिमा स्थल तक जगह-जगह आने वालों का इस्तकबाल (स्वागत) हो रहा है। हर जगह स्वयंसेवक (रहबर/खादिम) रात-दिन जुटे हुए हैं।
शनिवार को सुबह फजिर की नमाज के बाद 6:30 बजे से इज्तिमा का आगाज हो जाएगा। मंच पर बैठे उलमा को पीछे बैठे लोग भले ही देख न पाएंगे पर उनकी आवाज हर कान तक पहुंचेगी। भारी भरकम 25 लाख वर्ग फिट के पंडाल में लाउडस्पीकर की बढ़िया व्यवस्था है। बृहस्पतिवार को सुबह से देर रात तक आने वालों का तांता लगा रहा। सभी पुआल बिछे पंडाल में डेरा डाल रहे हैं। पंडाल में सफ (पंक्ति) में लोग बैठे-लेटेंगे। नमाज का वक्त होने पर अपने ही स्थान पर खड़े होकर नमाज अदा करेंगे यानी पूरा पंडाल मस्जिद बन जाएगा। बयान (तकरीर) का सिलसिला सुबह 6:30 से रात 9 बजे तक रोजाना चलेगा। बीच में नाश्ता, लंच और आराम के लिए कुछ वक्त दिया जाएगा। इज्तिमा आयोजकों ने सारा कार्यक्रम तय कर लिया है।
उधर, बांदा रेलवे स्टेशन में 50 से ज्यादा युवक रहबर और खादिम के रूप में डटे हैं। रेलवे स्टेशन के बाहर टेंट लगा है। ट्रेन ठहरते ही हाथों में ‘इज्तिमा रहबर’ की तख्तियां लिए युवक उनकी तरफ दौड़ पड़ते हैं। जो इज्तिमा में आए हैं, उनका सामान लेकर रेलवे गोदाम के पास बने पंडाल तक लाते हैं। यहां आवभगत कर चाय-नाश्ता कराया जाता है। यहीं से बसों द्वारा हथौरा के लिए रवाना किया जा रहा है। यही इंतजाम रोडवेज बस अड्डे में है। यह काम इमत्याज अहमद, हाजी महफूज, हाजी सरफराज, मोहम्मद नईम, समीर सौदागार, हाजी शब्बीर अली, हिफजुर्रहमान, नईम सौदागर, रहमान मंसूरी, तौफीक अंसारी इत्यादि संभाले हैं। इसी तरह नवाबी जामा मस्जिद में भी जमातों और लोगों के ठहरने व खान-पान का इंतजाम मुतवल्ली शेख सादी जमां ने अन्य लोगों की मदद से कराया है। ट्रेनों से रात को आने वाली जमातें यहां रुककर सुबह हथौरा कूच कर रही हैं।
शहर की सीमा पर बाईपास चौराहा और पल्हरी तिराहे पर भी कैंप लगे हैं। यहां खादिम मौजूद हैं, जो जमातियों के वाहनों को रास्ता बताते हैं और ट्रैफिक कंट्रोल कर रहे हैं। जरूरतमंदों को चाय-नाश्ता भी कराते हैं। पल्हरी तिराहे पर जुगनू, अबरार फारुकी, प्रदीप प्रजापति और जावेद खां इत्यादि अगुवानी कर रहे हैं।
उधर, इज्तिमा स्थल की सरहद पर कैंप लगाए वीआईपी प्रभारी इंचार्ज इंजीनियर शमीम अहमद (मुंबई) लोगों को इज्तिमा का मकसद बताते हैं। कैंप में आने वाले मुअज्जि लोगों की आवभगत होती है।


Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी पुलिस की हैवानियत का चेहरा, पिटाई की वजह से पेट में ही बच्चे की मौत

बांदा जिले की एक महिला ने यूपी पुलिस पर गंभीर आरोप लगाये है। महिला का कहना है कि उसके पति को गिरफ्तार करने आई पुलिस ने उसकी पिटाई कर दी। पुलिस की पिटाई से महिला का तीन माह का गर्भ गिर गया।

19 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls