मानवाधिकार उल्लंघन पर चिंतन के साथ मनाया दिवस

Banda Updated Tue, 11 Dec 2012 05:30 AM IST
बांदा। मानवाधिकारों के उल्लंघन पर चिंतन के साथ विश्व मानवाधिकार दिवस मनाया गया। गोष्ठियों में मानवाधिकारों की पुरजोर वकालत की गई। महाविद्यालयों में भी आयोजन हुए।
राष्ट्रीय मानव सेवा संस्थान ने नागरी प्रचारिणी पुस्तकालय में गोष्ठी की। सिटी मजिस्ट्रेट जयशंकर दुबे सहित संत शिरोमणि स्वामी शिवस्वरुप, अधिवक्ता सैय्यद अली मंजर, पूर्व प्रधानाचार्य बाबूलाल गुप्त ने भी संबोधित किया। संचालन जिलाध्यक्ष शैलेंद्र सिंह बुंदेला ने किया। एकलव्य महाविद्यालय दुरेड़ी में एनएसएस की गोष्ठी में कार्यक्रम अधिकारी डा. कृष्णपाल सिंह ने कहा कि समानता, स्वतंत्रता, धर्म, शिक्षा आदि में राष्ट्रीय मानवाधिकार का सृजन 1993 में हुआ। प्राचार्य डा. एसएस हसन ने कहा कि भारत के प्रत्येक नागरिक को अपने अधिकारों की जानकारी होनी चाहिए। डा. खुर्रम शिकोह, बृजेश गुप्ता, अनीता सिंह, प्रियंका श्रीवास्तव, दीपिक राजपूत, स्वाति निगम इत्यादि उपस्थित रहे।
राजीव गांधी डीएवी महाविद्यालय में एनएसएस की प्रथम और द्वितीय इकाई का शिविर हुआ। प्राचार्य डा. रामभरत सिंह तोमर ने कहा कि लोकतांत्रिक व्यवस्था ने हमें कई ऐसे अधिकार दिए हैं, जिनसे हम शोषण का प्रतिकार कर सकते हैं। डा. गरिमा द्विवेदी, बिंदा प्रसाद, बृजेश गुप्ता, आकांक्षा सिंह, शकुंतला गुप्ता ने भी संबोधित किया। संचालन कार्यक्रम अधिकारी द्वितीय इकाई डा. विवेक कुमार पांडेय ने किया। डीएवी इंटर कालेज में भी एनएसएस ने गोष्ठी की। डा. जनार्दन प्रसाद त्रिपाठी ने मानवाधिकारों के बारे में बताया। डा. आनंद गुप्ता ने भी संबोधित किया। कार्यक्रम अधिकारी डा. अब्दुर्रशीद सिद्दीकी ने भ्रूण अवस्था से लेकर मरने के बाद के अधिकारों की चर्चा की।
उधर, बबेरू के तहसील परिसर में राष्ट्रीय मानवाधिकार फोरम ने जागृति रैली के बाद गोष्ठी की। पूर्व न्यायाधीश और संगठन प्रदेश सचिव एसके त्रिपाठी ने कहा कि हमें अपने अधिकारों को समझने और उनका कड़ाई से पालन करना चाहिए। एसडीएम आरके श्रीवास्तव ने कानून की जानकारी सभी को होने पर जोर दिया। फोरम मंडल अध्यक्ष शिवमंगल सिंह चौहान ने बताया कि 10 सितंबर 1950 को मानवाधिकार नियम लागू हुआ है। नगर पंचायत अध्यक्ष सूर्यपाल सिंह यादव, फोरम प्रदेश अध्यक्ष एमके श्रीवास्तव ने भी संबोधित किया। संचालन चंद्रमोहन श्रीवास्तव ने किया। रैली में कस्तूरबा गांधी, महर्षि कन्या, आदर्श शिशु मंदिर, सरस्वती शिशु मंदिर, जेपी शर्मा इंटर कालेज के छात्र-छात्राएं शामिल रहे। भाजपा नेता व फोरम उपाध्यक्ष अजय सिंह पटेल ने सीएचसी में मरीजों को फल बांटे। रामनरेश मिश्र, विचित्रवीर सिंह और नरेंद्र सिंह शामिल रहे। गोष्ठी में प्रधानाचार्य डा. अनिल कुमार, प्रबंधक प्रताप सिंह सचान सहित भागवत प्रजापति, रामप्रताप वर्मा, राममिलन यादव, रामप्रसाद सोनी, महेश सोनी, सौरभ शिवहरे, नंदूराम चतुर्वेदी, आरके प्रजापति और भरतलाल आदि उपस्थित रहे।

Spotlight

Most Read

Kushinagar

गंदगी के बीच खड़ा होकर पकड़ना पड़ता बस

पडरौना। यात्री प्रतीक्षालय ऐसा कि वहां पर बैठकर इंतजार नहीं किया जा सकता। गंदगी चारों तरफ फैली रहती है, जिससे वहां पर खड़ा होना मुश्किल रहता है। गंदगी के बीच ही खड़ा होकर लोगों को बस पकड़ना पड़ता है।

20 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी पुलिस की हैवानियत का चेहरा, पिटाई की वजह से पेट में ही बच्चे की मौत

बांदा जिले की एक महिला ने यूपी पुलिस पर गंभीर आरोप लगाये है। महिला का कहना है कि उसके पति को गिरफ्तार करने आई पुलिस ने उसकी पिटाई कर दी। पुलिस की पिटाई से महिला का तीन माह का गर्भ गिर गया।

19 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper