भगवान को पाना है तो प्रेम करना सीखें

Banda Updated Thu, 29 Nov 2012 12:00 PM IST
बांदा। कथावाचक नीलम गायत्री ने कहा कि जिस तरह केसर (औषधि) की खेती कश्मीर में ही हो सकती है। सिंहनी का दूध सोने के पात्र में रखा जाता है। ठीक वैसे ही भगवान का जन्म भी भारत वर्ष में ही होता है। उन्होंने कहा कि प्रेम से ही भगवान प्रकट होते हैं। वह बुधवार को जहीर क्लब ग्राउंड में श्रीराम कथा के पांचवें दिन प्रभु की कथा सुना रही थीं। रात में धनुष यज्ञ रामलीला का मंचन हुआ।
मृत्युंजय मानस मंडल परिवार की ओर से आयोजित कथा में कथा वाचक ने कहा कि भगवान को पाना है तो प्रेम करना सीखें। प्रेम पथ्य को भी भगवान बना देता है। भगवान का प्राकट्य भक्तों की साधना का फल है। श्रीराम ने अयोध्या नगरी में अवतार लिया तो मां कौशिल्या ने प्रभु से कहा कि आप चतुर्भुज नारायण के रूप में नहीं, बल्कि छोटे से बालक के रूप में मेरी गोद में आएं। सारा जगत आप की गोद में रहता है, लेकिन आप मेरी गोद में आकर खेलें। अयोध्या में खुशी आ गई। राजा दशरथ के महल में बधाइयां शुरू हो गईं। खुशी में शामिल होने खुद कैलाश से भगवान शिव भी आए। शिव जी ने ज्योतिषी का रूप धारण कर श्रीराम के दर्शन किए। यह देश धन्य है, जिसे हम भारत मां कहते हैं। विश्व में किसी और देश के नाम के आगे मां शब्द नहीं है।
रात में श्रद्धालुओं ने धनुष यज्ञ रामलीला के मंचन का आनंद उठाया। कार्यक्रम में विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्ट योगदान करने वाले समाजसेवी पूर्व सांसद रामरतन शर्मा, मूलचंद्र गुप्ता, गंगा प्रसाद गुप्ता को अपर जिलाधिकारी केएन सिंह व अपर पुलिस अधीक्षक स्वामी प्रसाद ने स्मृति व शाल देकर सम्मानित किया। मंडल सदस्य हरीराम सिंह, रामदत्त पांडेय, अंबिका प्रसाद व्यास ने सम्मान पत्र पढ़ा। संचालन जवाहरलाल जलज ने किया।
हमीरपुर। गायत्री शक्तिपीठ में 24 कुंडीय गायत्री महायज्ञ में वैदिक देवपूजन एवं बच्चों के विविध संस्कार कराए गए। इस मौके पर यूरोप सहित 14 देशों में भारतीय सांस्कृतिक चेतना का विस्तार कर चुके शांतिकुंज के मनीषी श्याम बिहारी दुबे ने वेदमंत्रों को सुगम संगीतमय शैली में हिंदी भावार्थ पेश किया। गायत्री शक्ति पीठ में हुए कार्यक्रम में टोली का स्वागत तेजबहादुर मिश्रा ने मंगल तिलक कर किया। संचालन उमेश शुक्ला ने किया। शांति कुंज के संगीत प्रशिक्षक श्याम यादव ने प्रेरणाप्रद गीत प्रस्तुत किए। तबले पर निर्मल मिश्रा ने संगत की। अग्नि स्थापन के मंत्रों के साथ समूची यज्ञशाला हवन की दिव्य सुंगध से ओतप्रोत हो गई। यज्ञाचार्यों ने वेद, पीपल, गिलोय औषधि के महत्व पर प्रकाश डाला और कहा कि इनसे शिशु सबल, निरोग और पुष्ट बनता है।

Spotlight

Most Read

Lucknow

शिवपाल के जन्मदिन पर अखिलेश ने उन्हें इस अंदाज में दी बधाई, जानें- क्या बोले

शिवपाल यादव ने अपने समर्थकों संग लखनऊ स्थित आवास पर जन्मदिन मनाया। अखिलेश यादव ने उन्हें मीडिया के माध्यम से बधाई दी।

22 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी पुलिस की हैवानियत का चेहरा, पिटाई की वजह से पेट में ही बच्चे की मौत

बांदा जिले की एक महिला ने यूपी पुलिस पर गंभीर आरोप लगाये है। महिला का कहना है कि उसके पति को गिरफ्तार करने आई पुलिस ने उसकी पिटाई कर दी। पुलिस की पिटाई से महिला का तीन माह का गर्भ गिर गया।

19 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper