32,139 नाम बढ़े और 8,401 साफ

Banda Updated Wed, 28 Nov 2012 12:00 PM IST
बांदा। 50 दिन चले मतदाता सूची पुनरीक्षण अभियान में पूरे जनपद में जहां 32,139 नाम बढ़े वही 8,401 लोगों के नाम सूचियों से खारिज किए गए। बढ़े हुए नाम बमुश्किल दो फीसदी हैं। चारों विधानसभा में कुल वोटरों की संख्या अब 11,58,935 हो गई है। इनमें शामिल पुरुषों और महिलाओं की संख्या में 1,38,065 का अंतर है। अगले वर्ष 15 जनवरी को मतदाता सूची का अंतिम प्रकाशन किया जाएगा।
निर्वाचन आयोग ने पहली अक्तूबर से 20 नवंबर तक विधान सभा मतदाता सूचियों का विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण अभियान चलाया। इसमें 7, 14, 21 और 28 अक्तूबर विशेष तिथियां मनाईं गईं। मतदान केंद्रों में मतदाता सूचियां लेकर बीएलओ उपस्थित रहे। नए नाम बढ़ाने के अलावा संशोधन और खारिज करने का काम भी किया गया। 50 दिन के लंबे अभियान में मात्र 32,139 मतदाताओं ने प्रारूप-6 पर आवेदन करके नाम बढ़वाने की कवायद की। इनमें 17,618 पुरुष और 14,521 महिलाएं हैं। सबसे ज्यादा 10,095 नाम नरैनी विधान सभा क्षेत्र में बढ़े। इनमें 5541 पुरुष और 4545 महिलाएं हैं। दूसरे नंबर पर बांदा विधान सभा क्षेत्र है जहां 9,064 नाम बढ़ाने के आवेदन आए है। इनमें 4949 पुरुष और 4115 महिलाएं हैं। तिंदवारी विधान सभा क्षेत्र में 7483 नए नाम बढ़ाने के आवेदन प्राप्त हुए। इनमें 4264 पुरुष और 3219 महिलाएं हैं। बबेरू में 5497 नाम बढ़ाने के फार्म भरे गए। इनमें 2864 पुरुष और 2633 महिलाएं हैं। गौरतलब है कि जनपद की चारों विधान सभा क्षेत्र में कुल 11,58,935 मतदाता हैं। बढ़ाए गए नामों की संख्या 32,139 है। जो मात्र दो फीसद है। चारों क्षेत्रों में कुल 6,48,500 पुरुष और 5,10,435 महिला मतदाता हैं।
मतदाता सूची पुनरीक्षण अभियान के दौरान सूची में शामिल 8,401 नामों को खारिज भी किया गया। इनमें सबसे ज्यादा 2844 नाम बांदा सदर विधान सभा क्षेत्र मेें खारिज हुए हैं। इनमें 1509 पुरुष और 1335 महिलाएं हैं। बबेरू क्षेत्र में 2621 नाम हटाए गए हैं। इनमें 1489 पुरुष और 1132 महिलाएं हैं। नरैनी में 1764 नाम खारिज कर दिए गए। इनमें 971 पुरुष और 793 महिलाएं हैं। तिंदवारी में 1172 नाम निरस्त हुए हैं। इनमें 561 पुरुष और 611 महिलाएं हैं।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी में नौकरियों का रास्ता खुला, अधीनस्‍थ सेवा चयन आयोग का हुआ गठन

सीएम योगी की मंजूरी के बाद सोमवार को मुख्यसचिव राजीव कुमार ने अधीनस्‍थ सेवा चयन बोर्ड का गठन कर दिया।

22 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी पुलिस की हैवानियत का चेहरा, पिटाई की वजह से पेट में ही बच्चे की मौत

बांदा जिले की एक महिला ने यूपी पुलिस पर गंभीर आरोप लगाये है। महिला का कहना है कि उसके पति को गिरफ्तार करने आई पुलिस ने उसकी पिटाई कर दी। पुलिस की पिटाई से महिला का तीन माह का गर्भ गिर गया।

19 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper