अबीर-गुलाल उड़ा मां की विदाई

Banda Updated Fri, 26 Oct 2012 12:00 PM IST
बांदा। नवरात्र खत्म होने के बाद दुर्गा प्रतिमाओं के विसर्जन को निकला देवी भक्तों का रेला जोश और आस्था से सराबोर रहा। युवा और बच्चे जुलूस में अबीर-गुलाल उड़ाकर झूमते-गाते और थिरकते रहे। बाद में केन और यमुना नदियों में प्रतिमाओं का विसर्जन किया गया। जोश में होश खो बैठे कुछ देवी भक्त आपस में भिड़ भी गए पर सभी को शांत करा दिया गया।
लगभग दो सैकड़ा दुर्गा प्रतिमाओं की झांकियां बृहस्पतिवार को सुबह रामलीला मैदान पर इकट्ठा हुईं। प्रतिमाओं को ट्रैक्टर ट्राली पर सजाया गया था। बैंडबाजों की गूंज के साथ जुलूस धीरे-धीरे केनघाट की ओर रवाना हुआ। स्टेशन रोड, पीलीकोठी, ओवर ब्रिज, बाबूलाल चौराहा, अमर टाकीज तिराहा, शंकर गुरू चौराहा, बलखंडी नाका चौराहा, पद्माकर चौराहा, डिग्गी चौराहा, किरन कालेज चौराहा और क्योटरा होते हुए एक-एक कर प्रतिमाएं केन नदी के नावघाट पहुंची। नदी में प्रतिमाओं का जल विसर्जन किया गया। प्रशासन ने दो नावों को जोड़कर एक प्रतिमा विसर्जित करने की व्यवस्था की थी। जुलूस के सभी रास्तों और केनघाट पर पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी पूरे समय डटे रहे। नदी में विसर्जन की प्रक्रिया देर रात तक चलती रही। कैलाशपुरी के युवाओं ने मिलिट्री जवानों की वेशभूषा के साथ दर्शकों को आकर्षित किया।
पद्माकर चौराहा स्थित मेडिकल स्टोर के सामने बसपा नेता मुमताज अली व दिनेश चंद्र शुक्ला लाला ने देवी प्रतिमा काफिले का स्वागत कर फूल बरसाए। भक्तों को लैंच पैकेट और प्रसाद वितरित किया। बसपा जोनल कोआर्डीनेटर चंद्रदत्त गौतम, बल्देव वर्मा, लल्लूू प्रसाद निषाद, राजकुमार राज, बीडी पंडा, रफीक खान, शेख रज्जन मंसूरी समेत तमाम लोग मौजूद रहे। बलखंडी नाका में सदर विधायक विवेक कुमार सिंह, राजेश सिंह गौतम, श्यामलाल सैनी, मोहम्मद उमर दुर्रानी, श्याम ओमर समेत मौजूद लोगों ने स्वागत किया। पचुल्ला, चहितारा, छेहरांव आदि गांवों की प्रतिमाएं केन नदी के चटगन घाट में विसर्जित की गईं।
अतर्रा। बृहस्पतिवार को दिनभर देवी प्रतिमा विसर्जन की धूम रही। दुर्गा पंडाल आयोजकों ने सुबह से विसर्जन की तैयारियां शुरू कर दी थी। भक्तों द्वारा देवी मां की झांकी सजाकर विदाई गीत के साथ मां के जयकारे गूंजते रहे। गाजे बाजे के साथ अबीर, गुलाल उड़ाते युवक जयकारे लगाते नाचते थिरकते रहे। राष्ट्रीय राजमार्ग स्थित केन नहर घाट पर प्रतिमाएं विसर्जित की गईं। जुलूस में जगह-जगह पीएसी व पुलिस मुस्तैद रही। पालिका अधिशासी अधिकारी पीएन शुक्ल, क्षेत्राधिकारी केसीसिंह, थानाध्यक्ष उमापति मिश्र पुलिस बल के साथ मौजूद रहे।
बबेरू। कस्बा समेत ग्रामीण क्षेत्रों में स्थापित दुर्गा प्रतिमाएं बृहस्पतिवार को यमुना नदी के औगासी घाट में विसर्जित की गईं। नम अंाखाें से आयोजकों ने प्रतिमाओं का विसर्जन किया। मढ़ी दाई, अद्भुत शिवमंदिर, पुरानी तहसील, रावण मैदान सर्राफा गली, मर्का तिराहा समेत फुंफदी, भदेहदू, पतवन, काजीटोला, उमरहनी, कोर्रम, अछाह, जुगरेहली, बिसंडा, ओरन, मुरवल, सिमौनी आदि गांवों से लगभग 150 देवी प्रतिमाएं ट्रैक्टरों में सजाकर जुलूस यमुना घाट पहुंचा।
मटौंध। कस्बा समेत ग्रामीण क्षेत्रों में सजाई गई देवी प्रतिमाएं जखौरा और हरदौली के बीच बलकौरा तालाब में विसर्जित की गई। नगर पंचायत अध्यक्ष विंदादीन पाल, पूर्व अध्यक्ष नरेंद्र सिंह, संतोष शुक्ला, पारथ कुमार, जगदेव कुशवाहा, समेत प्रमुख लोग मौजूद रहे। थानाध्यक्ष राजीव यादव पुलिस बल के साथ मुस्तैद रहे।
तिंदवारी। कस्बा समेत ग्रामीण क्षेत्रों से आई आधा सैकड़ा से ज्यादा प्रतिमाएं यमुना नदी के बेंदा घाट में विसर्जित की गईं। ढोल बाजे के साथ युवक नाचे थिरके। दोपहर को शुरू हुआ जुलूस देर शाम तक चलता रहा। सीमावर्ती फतेहपुर जिले के दतौली, मुत्तौर, सिधांव, बहुआ आदि गांवों की मूर्तियां भी यहां विसर्जित की र्गइं।
चिल्ला। कस्बा समेत डिघवट, दोहतरा, पलरा, गुगौली, बंबिया, पदारथपुर,अतरहट,पिपरहरी, बिछवाही, छिरहुंटा आदि गंावों की लगभग एक सैकड़ा देवी प्रतिमाएं यमुना घाट में विसर्जित हुईं। सीमावर्ती फतेहपुर जिले के गांवों की प्रतिमाएं भी यहां विसर्जित हुईं।
गिरवां। तिंदवारा, बड़ोखर बुजुर्ग, बांधापुरवा, गिरवां समेत आसपास के गांवों की 22 देवी प्रतिमाएं केन नदी के स्योढ़ा घाट में विसर्जित की गईं। पीएसी व पुलिस बल मुस्तैद रहा।
नरैनी। कस्बा समेत ग्रामीण क्षेत्रों में बृहस्पतिवार को देवी प्रतिमाएं केन नहर व बागै नदी में विसर्जित की गईं। बाजार क्षेत्र में सजाई गई देवी प्रतिमाओं का विसर्जन कालिंजर मार्ग स्थित बागै नदी के बरछा घाट में किया गया। रिहायसी क्षेत्र व पनगरा गांव की देवी प्रतिमाएं पनगरा नहर कोठी केन नहर में विसर्जित की गईं। रिसौरा, कच्ची सड़क, नौहाई, की देवी प्रतिमाएं भी केन नहर में विसर्जित हुईं। क्षेत्राधिकारी धर्मसिंह मर्छल, कोतवाली प्रभारी विवेकानंद तिवारी समेत पीएसी व पुलिस मौजूद रही।
मरका। यमुना नदी के मरका समगरा व औगासी घाट में 107 देवी प्रतिमाएं विसर्जित की गई। मर्का में 27, समगरा में 05 और औगासी में 75 देवी प्रतिमाएं विसर्जित हुईं। 

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी में नौकरियों का रास्ता खुला, अधीनस्‍थ सेवा चयन आयोग का हुआ गठन

सीएम योगी की मंजूरी के बाद सोमवार को मुख्यसचिव राजीव कुमार ने अधीनस्‍थ सेवा चयन बोर्ड का गठन कर दिया।

22 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी पुलिस की हैवानियत का चेहरा, पिटाई की वजह से पेट में ही बच्चे की मौत

बांदा जिले की एक महिला ने यूपी पुलिस पर गंभीर आरोप लगाये है। महिला का कहना है कि उसके पति को गिरफ्तार करने आई पुलिस ने उसकी पिटाई कर दी। पुलिस की पिटाई से महिला का तीन माह का गर्भ गिर गया।

19 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper