रबी के लिए बांधों में मात्र चार हफ्ते का पानी

Banda Updated Sun, 14 Oct 2012 12:00 PM IST
रशीद सिद्दीकी
बांदा। रबी की फसल पर सिंचाई संकट के बादल मंडराने लगे हैं। पर्याप्त बारिश न होने से पूरे वर्ष बांदा जनपद की अधिकांश खेतों को सींचने वाले बांधों में पानी का टोटा है। गंगऊ, रनगवां और बरियारपुर बांधों में सिंचाई के लिए बमुश्किल चार सप्ताह का पानी बचा है। सिंचाई विभाग ने गंगऊ व रनगवां बंाधों के फाटक खड़े कर दिए हैं ताकि बारिश होने पर बांधों का जलस्तर बढ़ सके।
गौरतलब है कि पिछले वर्ष के मुकाबले इस साल बांधों में वर्षा कम हुई है। सितंबर के शुरू हफ्ते में कई दिन हुई ठीकठाक बारिश के बाद मानसून में अचानक ब्रेक लग गया। अब मानसून रुखसत हो चुका है। ऐसे में बांधों में पानी का भंडार करने के लिए सिंचाई विभाग ने बांधों के गेट खड़े कर दिए हैं। गंगऊ बांध के 263 और बरियारपुर के 163 फाटकों को खड़ा कर दिया गया है ताकि घाटियों और बांध जल संग्रह क्षेत्रों में बारिश होने पर बांधों में पानी भंडार किया जा सके। इस साल गंगऊ बांध में मात्र 736 मिलीमीटर बारिश हुई है। यह पिछले वर्ष के मुकाबले 290 मिलीमीटर कम है। बीते साल इस बांध में 1026 मिलीमीटर बारिश हुई थी। इसी तरह बरियारपुर में मात्र 480 मिलीमीटर बारिश रिकार्ड की गई है। यह पिछले साल के मुकाबले 166 मिलीमीटर कम है। गत वर्ष इस बांध में 646 मिलीमीटर पानी बरसा था। रनगवां बांध में अबकी 504 मिलीमीटर बारिश हुई है। गंगऊ बांध में 938 एमसीएफटी पानी है। रनगवां में 2344 एमसीएफटी पानी का भंडार है। दोनों बांधों में कुल पानी 3282 एमसीएफटी है।
सिंचाई विभाग अभियंताओं का कहना है कि यह पानी केन मुख्य नहर चलाने को मात्र दो हफ्ते के लिए है। फिलहाल नहर खरीफ की फसल के लिए चलाई जा रही है। यह 31 अक्तूबर तक चलेगी। पहली नवंबर से 14 नवंबर तक (दो सप्ताह) रबी फसल के लिए नहर चलाई जाएगी। इसी के साथ बांधों का पानी सिंचाई के लिए खत्म हो जाएगा। गर्मी में मवेशियों को पीने के लिए पानी बांधों में आरक्षित रखा जाएगा। नवंबर के पहले पखवारे में कुल 19,600 क्यूसिक पानी सिंचाई के लिए दिया जाना है। इसके बाद बचेखुचे पानी से 13 से 27 जनवरी तक नहर चलाई जाएगी। जनवरी माह में कुल 18,966 क्यूसिक पानी सिंचाई के लिए नहरों के माध्यम से दिया जाएगा।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी पुलिस की हैवानियत का चेहरा, पिटाई की वजह से पेट में ही बच्चे की मौत

बांदा जिले की एक महिला ने यूपी पुलिस पर गंभीर आरोप लगाये है। महिला का कहना है कि उसके पति को गिरफ्तार करने आई पुलिस ने उसकी पिटाई कर दी। पुलिस की पिटाई से महिला का तीन माह का गर्भ गिर गया।

19 जनवरी 2018