विज्ञापन

जेल में बंद विचाराधीन बंदी की रहस्यमय परिस्थितियों में मौत

Lucknow Bureau Updated Sun, 22 Jul 2018 11:20 PM IST
विज्ञापन
ख़बर सुनें
विचाराधीन बंदी की संदिग्ध हालात में मौत
विज्ञापन
बलरामपुर। जिला जेल में बंद विचाराधीन बंदी की रविवार सुबह रहस्यमय परिस्थितियों में मौत हो गई। मृतक के पत्नी का आरोप है कि उसके पति की मौत आबकारी टीम की पिटाई से हुई है।

मृतक के ग्रामीणों ने प्रदर्शन कर मृतक का शव लेने से इंकार कर दिया। परिवारीजनों व ग्रामीणों ने आबकारी टीम के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। डीएम ने मामले की न्यायिक जांच कराने का आश्वासन दिया है।

डीएम के आश्वासन के बाद परिवारीजन व ग्रामीण लाश लेने के लिए तैयार हो गए। मिली जानकारी के अनुसार जिला जेल में गत 20 जुलाई को भेजे गए बंदी धर्मराज(32) पुत्र मोतीलाल की तबियत जेल में ही रविवार सुबह अचानक गंभीर हो गई।

जेल प्रशासन आनन-फानन में धर्मराज को इलाज के लिए जिला अस्पताल पहुंचाया। अस्पताल की इमरजेंसी में तैनात डॉ. डीपी सिंह ने बताया कि धर्मराज अस्पताल पहुंचने से पहले ही मर चुका था।

नगर कोतवाली की पुलिस की पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा है। जेल अधीक्षक एसके शर्मा ने बताया कि धर्मराज ग्राम मंगुरहवा थाना रेहरा बाजार का रहने वाला था।

गत 20 जुलाई को इसे आबकारी एक्ट के तहत जेल में दाखिल कराया गया था। धर्मराज की मानसिक व शारीरिक स्थिति ठीक नहीं लग रही थी। रविवार सुबह अचानक तबियत गंभीर होने पर उसे जिला अस्पताल पहुंचाया गया जहां डाक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया।

पत्नी ने आबकारी टीम पर लगाया पिटाई का आरोप

मृतक की पत्नी चंमना देवी ने बताया कि धर्मराज पूना में मजदूरी करते थे। 15 दिन पूर्व वह पूना से घर आए थे। गत 19 जुलाई को क्षेत्रीय आबकारी निरीक्षक त्रिवेणी प्रसाद मौर्य अपनी टीम के साथ गांव पहुंचे और बाग में बैठे धर्मराज को पकड़कर खूब पीटा तथा जीप में लादकर थाने ले गए। चंमना का आरोप है कि उसके पति की मौत आबकारी टीम की पिटाई से हुई है।

ग्रामीणों ने जताया आक्रोश
-ग्रामीण राम कुमार, रामजनम, लाला, राम करन, जयकरन, ज्ञानी, कर्ताराम, सुधरा देवी, गायत्री, माया देवी किरन, धनराजी, रेशमा, कंचन व शीला देवी का आरोप है कि धर्मराज की पिटाई आबकारी ने की और इसी वजह से इसकी मौत हो गई।

इन लोगों ने कहा कि जब तक मामले की जांच कर आबकारी टीम के खिलाफ कार्रवाई नहीं होगी तब तक हम लोग मृतक का अंतिम संस्कार के लिए नहीं लेंगे। ग्रामीणों ने जमकर प्रदर्शन भी किया।

ग्रामीणों व परिजनों के आक्रोश को देखते हुए पुलिस प्रशासन सक्रिय हो गया। डीएम कृष्णा करुणेश ने ग्रामीणों को मामले की न्यायिक जांच कराने का आश्वासन दिया। डीएम के आश्वासन पर ग्रामीण मान गए।


-आबकारी निरीक्षक त्रिवेणी प्रसाद मौर्य ने परिजनों व ग्रामीणों के आरोप को झूठा व निराधार बताया तथा कहा कि धर्मराज को 10 लीटर अवैध शराब व शराब बनाने के उपकरण के साथ गिरफ्तार कर जेल भेजा गया था।

थानाध्यक्ष रेहरा बाजार जेके टंडन ने बताया कि मृतक को 19 जुलाई को आबकारी टीम थाने ले आई थी। उसके खिलाफ आबकारी एक्ट के तहत केस दर्ज कर जेल भेज दिया गया था।

होगी न्यायिक जांच

-जिला कारागार में निरुद्ध बंदी धर्मराज की मौत के मामले की न्यायिक जांच कराई जाएगी। जांच में जो भी दोषी पाया जाएगा उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।
-कृष्णा करुणेश, डीएम

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें  

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News App अपने मोबाइल पे|
Get all crime news in Hindi. Stay updated with us for all breaking hindi news.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

National

बाप ने बेटी को ब्वॉयफ्रेंड के साथ आपत्तिजनक हालत में देखा, कर दिया बुरा हाल

पुलिस रिपोर्ट के अनुसार खजिनि के रहने वाले लड़की के पिता गुड्डू निशाद ने अपनी बेटी को महुआ डाबर गांव के युवक के साथ अपने घर में सोमवार रात को आपत्तिजनक हालत में देख लिया था।

20 सितंबर 2018

विज्ञापन

Related Videos

SHOCKING: 70 साल के किसान को पहले पीटा फिर मुंह पर कालिख पोतकर घुमाया

यूपी के बलरामपुर में एक बार फिर भीड़तंत्र का अमानवीय चेहरा सामने आया है। एक 70 साल के बुजुर्ग किसान की एक छोटी सी गलती को गुनाह समझकर लोगों ने उसकी न सिर्फ बेरहमी से पिटाई की।

3 सितंबर 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree