विज्ञापन
विज्ञापन

करोड़ों खर्च के बाद भी कटान का खतरा बरकरार

Ballia Updated Sat, 01 Sep 2012 12:00 PM IST
ख़बर सुनें
बलिया। आजादी से पूर्व घाघरा में जल दबाव बढ़ने से पूरे क्षेत्र में बाढ़ का आना आम समस्या थी। हर साल बाढ़ से जहां करोड़ों का नुकसान होता था, वहीं लाखों लोगों को हफ्तों-हफ्तों पानी में रहना पड़ता था। द्वाबा सहित जिले के विभिन्न क्षेत्रों में नदियों की इस तबाही को देख 1959 में तूर्तीपार-श्रीनगर (टीएस बंधा) का निर्माण हुआ। तब घाघरा वर्तमान बहाव स्थल से करीब साढ़े पांच किमी उत्तर गयासपुर-सिसवन घाट के पास बहती थी। घाघरा धीरे-धीरे दियरा भागड़ के पूरब से दक्षिणमुखी होने लगीं। नतीजा रहा कि नदी के कटानी तेवर ने बीते चार दशकों में जहां डेढ़ दर्जन गांव नदी की पेटे में समा गए। वहीं नदी की इस विध्वंसक यात्रा में हजारों एकड़ भूमि, सैकड़ों बाग, कई देवालय तथा दर्जनों सरकारी इमारतें नदी की भेंट चढ़ गईं।
विज्ञापन
विज्ञापन
1971 में चांदपुर के पास नदी ने टीएस बंधे को तोड़ दिया। 1990 में भोज छपरा के पास पुन: एकबार टीएस बंधा टूटा। 2008 में 69.300 से 70 किमी के बीच नदी ने पुन: टीएस बंधे को तोड़ दिया। बाढ़ विभाग के अधिकारियों की तत्परता के कारण बंधे के बगल में जेसीबी मशीनों से मिट्टी डालकर सात सौ मीटर का सपोर्टिंग बंधा तैयार करने में कामयाबी प्राप्त कर ली गई। पुन: 2011 में 70 किमी के पास घाघरा ने बंधे का आधा हिस्सा अपने पेटे में समेट लिया। तीलापुर गांव इस स्थान पर नदी के कटानी मुहाने पर है। यदि बंधा टूटा तो नदी सीधे दक्षिण की तरफ घूम जाएगी तथा तीलापुर, झरकटहां, बघमरिया आदि गांवों में जहां कहर बरस सकता है। रेवती सहित दर्जनों गांव बाढ़ की चपेट में आ सकते हंै। यही स्थिति गंगा किनारे बसे गांवों की है। लाख प्रयास के बाद भी कटान रुक नहीं रहा है। पचरूखिया-मझौंवा डेंजर जोन के पास एनएच-31 को बचाने को सरकार करोड़ों खर्च कर चुकी है। डूबो दिया था। दर्जनों घरों के बाशिंदे अपने घरों को गंगा नदी के हवाले पर पलायन कर गए थे। अब बीते दो दिनों से तेज गति से घट रहे गंगा नदी के पानी की जानकारी के बाद उनके लौटने का क्रम जारी हो गया है।

Recommended

UP Board Class 10th & 12th 2019 की परीक्षाओं का सबसे तेज परिणाम देखने के लिए रजिस्टर करें।
UP Board 2019

UP Board Class 10th & 12th 2019 की परीक्षाओं का सबसे तेज परिणाम देखने के लिए रजिस्टर करें।

हनुमान जयंती पर नौकरी प्राप्ति, आर्थिक उन्नत्ति, राजनीतिक सफलता एवं शत्रुनाशक हनुमंत अनुष्ठान
ज्योतिष समाधान

हनुमान जयंती पर नौकरी प्राप्ति, आर्थिक उन्नत्ति, राजनीतिक सफलता एवं शत्रुनाशक हनुमंत अनुष्ठान

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
लोकसभा चुनाव - किस सीट पर बदले समीकरण, कहां है दल बदल की सुगबुगाहट, राहुल गाँधी से लेकर नरेंद्र मोदी तक रैलियों का रेला, बयानों की बाढ़, मुद्दों की पड़ताल, लोकसभा चुनाव 2019 से जुड़े हर लाइव अपडेट के लिए पड़ते रहे अमर उजाला चुनाव समाचार।
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Ballia

रेलवे स्टेशन से प्रेमी युगल गिरफ्तार

रेलवे स्टेशन से प्रेमी युगल गिरफ्तार

18 अप्रैल 2019

विज्ञापन

यूपी में दो दिग्गजों का नामांकन, पूनम ने लखनऊ तो मेनका ने सुलतानपुर में रोड़ शो कर दिखाई ताकत

सपा उम्मीदवार पूनम सिन्हा ने लखनऊ ने अपना नामांकन दाखिल कराया तो वहीं भाजपा उम्मीदवार मेनका गांधी ने भी एक बड़ा रोड़ शो कर नामांकन भरा।

18 अप्रैल 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election