मत्रियों और विधायकाें को ढूंढती रहीं आंखें

Ballia Updated Mon, 20 Aug 2012 12:00 PM IST
बलिया। जिले के ऐतिहासिक बलिया बलिदान दिवस के अवसर पर जनपद के दो कद्दावर मंत्रियों की राह आंखें निहारती रह गईं। इनके अलावा कई प्रमुख प्रतिनिधियों के साथ ही पांच विधायक और जिला पंचायत अध्यक्ष भी नहीं पहुंचे, जिनकी खूब चरचा रही। ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि कभी इस ऐतिहासिक अवसर पर जिले के सभी प्रमुख प्रतिनिधियों के साथ प्रथम नागरिक भी मौजूद होते थे, लेकिन कुछ वर्षों से इन लोगों का इससे मोहभंग होता जा रहा है। यह नजारा रविवार को भी देखने को मिला।
देश के इतिहास में बलिया की अगस्त क्रांति स्वर्णिम अक्षरों में दर्ज है। 10 से 19 अगस्त 1942 की दस दिवसीय आंदोलन के बाद क्रांतिकारियों ने अंग्रेजों के हाथ से जनपद को आजाद कराया। यह गौरव पूरे हिंदुस्तान में बलिया के पास है। इस दिन प्रतिवर्ष जनपद के बाशिंदे उन सेनानियों की याद में आजादी का जश्न मनाते हैं। इसमें स्वतंत्रता संग्राम के सेनानी भी भाग लेते हैं। रविवार को भी यह आयोजन हुआ, लेकिन इसमें कई प्रमुख जनप्रतिनिधियों के साथ ही जिले के प्रथम नागरिक जिला पंचायत अध्यक्ष के भाग नहीं लेने की चरचा रही। जुलूस में शामिल होने आए नगर के कुछ समाजसेवियों ने कहा कि जनप्रतिनिधियों का यह रवैया इतिहास के साथ मजाक करने सरीखा है।
कहा कि आज हम जिनकी बदौलत आजाद है। उनकी याद में कुछ पल का समय न दे पाना बलिया के गौरव को धुंधला करने की दिशा में बढ़ाया गया कदम है। उन्होंने इस पर चिंता व्यक्त की। क्योंकि जन प्रतिनिधियों के अलावा जिले के गौरव की बात करने वाले प्रमुख राजनीतिक संगठन के पदाधिकारी और सदस्यों की भी आजादी के प्रतिक इस जुलूस में कोई भागीदारी नहीं रही।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी दिवस: प्रदेश को 25 हजार करोड़ की योजनाओं की सौगात, योगी बोले- आज का दिन गौरवशाली

यूपी दिवस के मौके पर प्रदेश को सरकार ने 25 हजार करोड़ करोड़ की योजनाओं की सौगात दी। मुख्यमंत्री योगी ने आज के दिन को गौरवशाली बताया।

24 जनवरी 2018

Related Videos

बीजेपी विधायक के बिगड़े बोल, कहा देश में बेहद कम मुसलमान देशभक्त

सत्ता सुख मिलने के बाद यूपी बीजेपी का कोई न कोई नेता लगातार विवादित बयान दे रहा है। अब बलिया से बीजेपी के विधायक सुरेंद्र सिंह ने कहा है कि देश के ज्यादातर मुसलमान देशभक्त नहीं है। वो खाते भारत का हैं, और चिंता पाकिस्तान की करते हैं।

15 जनवरी 2018