विज्ञापन

चिकित्सकों पर लाठीचार्ज का विरोध

Ballia Updated Wed, 04 Jul 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
ख़बर सुनें
बलिया। लखनऊ में धरने के दौरान बीएएमएस/बीयूएमएस चिकित्सकों पर लाठीचार्ज के विरोध में जिले के चिकित्सकों ने अपने चिकित्सालयों को बंद करके विरोध जताया। कहा कि बीएमएस/बीयूएमएस के हक मांगने पर लाठियां बरसाना लोकतंत्र को कुचलना है। इससे संविधान के ऊपर खतरा मंडराने लगा है। नगर सहित ग्रामीणांचलों के चिकित्सकों में भी आक्रोश देखने को मिला। चिकित्सालयों के बंद रहने से मरीजों को भी दिक्कतों का सामना करना पड़ा।
विज्ञापन
एनआईएमए(नीमा) के बैनर तले नगर क्षेत्र के चिकित्सकों ने डा. गोपाल तिवारी के चिकित्सालय के सामने एकजुट होकर सपा सरकार के तानाशाही रवैये का विरोध किया। नीमा के चिकित्सकों ने सूबे की सरकार से मांग किया कि 1939 एक्ट व 1950 से विभिन्न शासनादेशों द्वारा प्रदत्त इन चिकित्सकों द्वारा एलोपैथिक औषधियों के प्रयोग का अधिकार बनाए रखने के लिए एक्ट में संशोधन करे। जुलूस में शामिल होने वालों में डा. गोपाल तिवारी, डा. जी प्रसाद, डा. एमके तिवारी, डा.एएन शर्मा, डा.शंभू नाथ प्रसाद, डा. प्रभाशंकर, डा. आरसी पांडेय, डा. एसके मिश्रा, डा. सरोज सिंह, डा. दिलीप सिंह, डा. इमरान, डा. राघवेेंद्र पांडेय, डा. एनडी भट्ठ, डा. पीके चौरसिया, डा. एससी जायसवाल, डा. जीसी राय, डा. पीके चौरसिया, आदि चिकित्सक मौजूद रहे। अध्यक्षता डा. आरके श्रीवास्तव ने किया।
सुखपुरा संवाददाता के अनुसार कस्बा के साथ ही क्षेत्र के ग्रामीण इलाकों में चिकित्सकों ने लखनऊ में हुए लाठीचार्ज के विरोध अपने चिकित्सालय बंद रखे। इस दौरान चिकित्सकों ने सूबे के सराकर के नीतियों के खिलाफ आवाज बुलंद की। इस मौके पर डा. श्यामनंदन मिश्रा, डा. शंकरदयाल सिंह, डा. पवन चौरसिया, डा. कलीम वारसी, डा. अशरफुल हक, डा. कृष्णचंद गुप्ता, डा. रामाशंकर वर्मा सहित दर्जनों चिकित्सकों ने सरकार की नीतियों का विरोध जताया। बिल्थरारोड संवाददाता के अनुसार लाठीचार्ज के विरोध में स्थानीय चिकित्सकों ने विरोध प्रदर्शन किया। आयुष व नीमा संघर्ष समिति के बैनर तले चिकित्सकों ने सेवा ठप कर हड़ताल किया। इस मौके पर डा. एसएन तिवारी, डा. एन त्रिपाठी, डा. वीके श्रीवास्तव, डा. जेड आलम, डा. पीके श्रीवास्तव, डा. एसके जायसवाल, डा. एमआई नगवी, डा. रमाशंकर प्रसाद, डा. ओपी पांडेय, डा. एके यादव, डा. डीके चौरसिया, डा. जीबी वर्मा, डा. वीके शर्मा आदि मौजूद रहे। अध्यक्षता डा. ज्ञानचंद व संचालन डा. शेषमणि ने किया। बांसडीह संवाददाता के अनुसार लाठी चार्ज के विरोध में प्रदेश बंद के समर्थन में बांसडीह कस्बा एवं आसपास के ग्रामीणांचलों में चिकित्सकों ने अपनी डिस्पेंसरियां बंद रखा। डा. डीके शुक्ल, डा. पीके शुक्ल, डा. एसवी प्रसाद, डा. एसएन चौधरी, डा. आरपी राय, डा.एसपी सिंह, डा. केसी सिंह, डा. चौहारजा सिंह, (भूतपूर्व क्षेत्रीय आयुर्वेदिक यूनानी अधिकारी), डा. पीके चौरसिया, डा. धनश्याम मिश्रा आदि मौजूद रहे। बैरिया संवाददाता के अनुसार आयुर्वेदिक व यूनानी चिकित्सकों पर लखनऊ में धरना के दौरान लाठीचार्ज के विरोध में मंगलवार को रानीगंज व बैरिया के चिकित्सकों ने विरोध जताया। इस मौके पर डा. मनोज कुमार उपाध्याय, डा. शिवदयाल वर्मा, डा. हरीश सिंह, सुदर्शन प्रसाद, डा. अवधेश वर्मा, डा. मुकेश गुप्ता आदि शामिल रहे। रेवती संवाददाता के अनुसार लाठी चार्ज के विरोध में डा. डीके शुक्ला के नेतृत्व में डा. एसबी यादव, डा एके मिश्र, डा. गौतम देव शर्मा,डा. पीके शुक्ला, डा. चौहरजा सिंह, डा. एसएन चौधरी, डा. एसपी वर्मा, डा. आरपी राय, डा अभय सिंह आदि मौजूद रहे।

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें  

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Varanasi

पूर्वांचल में समाजवादी पार्टी दो फाड़, सेक्यूलर मोर्चा सक्रिय, राजनीतिक गलियारे में चर्चा तेज

पूर्व कैबिनेट मंत्री शिवपाल सिंह यादव का समाजवादी सेक्यूलर मोर्चा वाराणसी सहित पूर्वांचल में सक्रिय होने लगा है।

24 सितंबर 2018

विज्ञापन

Related Videos

VIDEO: बीजेपी विधायक और समर्थकों की डीआईओएस से हाथापाई

अपने बयानों को लेकर सुर्खियों में रहने वाले बैरिया से बीजेपी विधायक इस बार एक नई वजह से सुर्खियों में हैं। दरअसल बलिया में एक बैठक के दौरान विधायक सुरेंद्र सिंह और उनके समर्थकों की डीआईओएस से हाथापाई हो गई। इस बैठक मे डीएम भवानी सिंह भी मौजूद थे।

24 सितंबर 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree