एमडीएम में धांधली को लेकर बिफरे ग्रामीण

Ballia Updated Thu, 03 May 2012 12:00 PM IST
रसड़ा। सूबे की सरकार में बेसिक मंत्री के गृह जनपद में ही उनके फरमानों को ठेंगा दिखाने का काम चल है । रसड़ा ब्लाक के परसिया गांव में शिक्षा के गिरते स्तर से क्षुब्ध ग्रामीणों का गुस्सा फूट गया और प्रधानाध्यापक के खिलाफ नारेबाजी करते हुए स्कूल पहुंच गए। इस दौरान ग्रामीणों ने जमकर विरोध प्रदर्शन किया।
सूबे के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के नेतृत्व में बेसिक शिक्षा मंत्री का कामकाज देख रहे रामगोविंद चौधरी अपने शासन काल में बेसिक शिक्षा का स्तर ऊंचा करने की घोषणा की। जिसका असर प्रदेश के अन्य जिले में भले ही दिख रहा हो लेकिन उनके गृह जनपद में मंत्री के आदेश को ठेंगा दिखाने का काम चल रहा है। हालात यह है कि एक ओर शिक्षा महकमे के आला अफसर विभाग को ऊपर उठाने की कवायद करते देखे जा रहे हैं। वहीं रसड़ा क्षेत्र के परसिया गांव में प्राथमिक विद्यालय के प्रधानाध्यापक प्रतिदिन बिलंब से आते हैं। ग्रामप्रधान दीना नाथ ने बताया कि प्रधानाध्यापक के अनियमितता से स्कूल में मिड डे मिल तक नहीं बन रहा है। प्रधानाध्यापक द्वारा बिना एमडीएम बनवाए ही पैसे को बैक से भुनाने की कोशिश की गई। लेकिन बैंक के शाखा प्रबंधक एवं ग्राम प्रधान की सूझबूझ से उसे रोक लिया गया। प्रधान के द्वारा बच्चों के सापेक्ष ही चेक काटने की बात कही गई है। उधर, प्रधानाध्यापक ने बुधवार को थाने में तहरीर देकर आरोप लगाया है कि गांव के लोग चेक पर जबरिया हस्ताक्षर बनाने के दबाव बना रहे हैं। इसी को लेकर विद्यालय से बाइक पर सवार होकर लौटते समय उनपर हमला बोल दिया गया। प्राथमिक शिक्षक संघ के अध्यक्ष तेजप्रताप सिंह ने इस घटना पर आक्रोष जताया है।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी दिवस: प्रदेश को 25 हजार करोड़ की योजनाओं की सौगात, योगी बोले- आज का दिन गौरवशाली

यूपी दिवस के मौके पर प्रदेश को सरकार ने 25 हजार करोड़ करोड़ की योजनाओं की सौगात दी। मुख्यमंत्री योगी ने आज के दिन को गौरवशाली बताया।

24 जनवरी 2018

Related Videos

बीजेपी विधायक के बिगड़े बोल, कहा देश में बेहद कम मुसलमान देशभक्त

सत्ता सुख मिलने के बाद यूपी बीजेपी का कोई न कोई नेता लगातार विवादित बयान दे रहा है। अब बलिया से बीजेपी के विधायक सुरेंद्र सिंह ने कहा है कि देश के ज्यादातर मुसलमान देशभक्त नहीं है। वो खाते भारत का हैं, और चिंता पाकिस्तान की करते हैं।

15 जनवरी 2018