राप्ती ने कछार के कई गांव बनाए टापू

विज्ञापन
Bahraich Published by: Updated Sat, 13 Jul 2013 05:30 AM IST

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें
जमुनहा/ इकौना (श्रावस्ती)। राप्ती नदी विकराल होती जा रही है। भकला घाट पर जलस्तर तो स्थिर हो गया है लेकिन जलस्तर खतरे के निशान के करीब है। जमुनहा के कई गांव जलमग्न हो गए हैं। इस कारण कछार में टापू बने गांवों का संपर्क कट चुका है। शुक्रवार को डीएम ने कई गांवों का दौरा किया।
विज्ञापन

राप्ती नदी का जलस्तर भकला घाट पर स्थिर हो चुका है। यहां शुक्रवार को नदी का जलस्तर 118.840 सेंटीमीटर मापा गया, जबकि खतरे का निशान 119.500 सेंटीमीटर है। राप्ती बैराज पर नदी का जलस्तर 128.400 व ककरदरी घाट पर 130.500 सेंटीमीटर मापा गया। यहां राप्ती के खतरे का निशान 131.000 सेंटीमीटर है। राप्ती के बढ़ते जलस्तर के कारण जमुनहा में नोमेंस लैंड के किनारे बसे आंशिक बेलरी, मुरावनपुरवा, गंगाभागड़, रामपुर पाझा, गनेशपुर पाझा, दुर्गापुरवा पाझा, घुमना पाझा, हरिहर पाझा, बांसगढ़ी पाझा, महतौपाझा गांवों में पानी ही पानी नजर आ रहा है। राप्ती की लहरों ने वीरपुर, लौकिहा, संगमपुरवा, सर्रा, पिपरहवा, जोगिया, नरैनापुर, अशरफ नगर, हरिहरपुर, महराज नगर, बरुहा, गुरुदत्तपुर, परसिया, मनिकापुर, भवनियानगर,इमिलिया, बगहा, जिवनारायणपुर, भुतहा, अंधरपुरवा, सेमरा, अमवा, सुजानडीह, बैदौरा, मनोहरापुर सहित कई अन्य गांवों को भी घेर लिया है। इनमें से अधिकांश गांवों में बाढ़ का पानी लोगों के घरों में प्रवेश कर चुका है। ग्रामीण सुरक्षा के मद्देनजर ऊंचे स्थानों की तलाश में निकल पड़े हैं। वहीं, नदी कछार में बसे दहावर कला, मझौवासुमाल, कोटवा, मध्यनगर, हजरिया, मुजहनिया, कोरपुरवा, अकबरपुर, भोजपुर, बभनपुरवा, जगरावल व हजरिया गांव में अब भी कटान कर रही है।

इनके घर कटे
इमिलिया गांव निवासी जोगेंद्र, दशरथ, छोटेलाल, राघवराम, ननकऊ, समुझ, बाबादीन, मोनू सिंह का घर राप्ती ने काट कर अपनी धारा में विलीन कर लिया है। अब नदी का धारा इंद्रसेन, गंगाराम, विधायक, भगोड़ी, दरोगा सिंह, ननके व वीरसिंह के घर को अपने आगोश में लेने के लिए आगे बढ़ रही है। इससे ग्रामीण अपने हाथों अपना आशियाना उजाड़ने लगे हैं।
डीएम ने लिया जायजा
राप्ती नदी की विभीषिका का जायजा लेने के लिए शुक्रवार को जिलाधिकारी भानु चंद्र गोस्वामी ने राजस्व टीम के साथ जमुनहा के लक्ष्मनपुर, परसा, राप्ती बैराज, मोहनपुर, वीरपुर, लौकिहा गांव का दौरा किया। इस दौरान वीरपुर लौकिहा के निकट बसे बिचऊपुरवा व घाटेपुरवा गांव पूरी तरह पानी से घिरे होने के कारण मौके पर मौजूद ग्राम प्रधान व लेखपाल को नाव की व्यवस्था कर ग्रामीणों को अविलंब सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने का
निर्देश दिया।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X